Submit your post

Follow Us

तबरेज़ अंसारी की हत्या और चमकी बुखार पर पहली बार पीएम मोदी संसद में बोले हैं

212
शेयर्स

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर पीएम नरेंद्र मोदी ने 26 जून को राज्यसभा में जवाब दिया. लगभग एक घंटे के अपने भाषण में उन्होंने हर मुद्दे पर अपनी बात रखी. झारखंड में तबरेज़ अंसारी की हत्या से लेकर बिहार में चमकी बुखार से बच्चों की मौत पर, पीएम मोदी ने पहली बार अपनी बात रखी. हालांकि पीएम के भाषण में एक बार फिर निशाने पर कांग्रेस और कांग्रेस के नेता रहे. पीएम मोदी के भाषण की 5 बड़ी बातें.

#तबरेज़ अंसारी की हत्या पर

पीएम मोदी ने कहा,

सदन में कहा गया कि झारखंड़ मॉब लिंचिंग और मॉब वायलेंस का अड्डा बन गया है. युवक की हत्या का दुख यहां सबको है. मुझे भी है और होना भी चाहिए.दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा भी मिलनी चाहिए. लेकिन क्या एक झारखंड राज्य को दोषी बता देना ये शोभा देता है क्या. फिर तो हमें वहां भी अच्छा काम करने वाले लोग भी नहीं मिलेंगे. जो बुरा हुआ है बुरा करते हैं उनको आइसोलेट करें और न्यायिक प्रक्रिया के तहत जो कर सकते हैं करें लेकिन सबको कटघरे में खड़ें कर राजनीति को कर लेंगे लेकिन स्थितियां नहीं सुधार पाएंगे. और इसलिए पूरे झारखंड को बदनाम करने का हक हम में से किसी को नहीं है. वहां भी सज्जनों की भरमार है.

पीए मोदी ने आगे कहा,

हम जितना कर सकते हैं करना चाहिए. पीछे नहीं हटना चाहिए. हिंसा की घटनाओं को भी चाहे वह घटना झारखंड में होती है या पश्चिम बंगाल में, चाहे केरल में होती है, हमारा एक ही मानदंड होना चाहिए. तभी हम हिंसा को रोक पाएंगे. इस एक मुद्दे पर देश एक है. अब इस देश में ऐसा नहीं चलेगा. हम अपनी जिम्मेदारी निभाएं. राजनीति के लिए और भी क्षेत्र हैं. देश के हर नागरिक की सुरक्षा की गारंटी ये हमारा संवैधानिक अधिकार है. साथ ही साथ मानवता के प्रति हमारी संवेदनशील जिम्मेदारी भी है. उसको हम कभी नकार नहीं सकते. उसी भावना को लेकर हम आगे बढ़ रहे हैं.

तबरेज़ के साथ हुई मार-पीट का वीडियो वायरल हुआ था. ये उसी का एक फ्रेम है (फोटो: सोशल मीडिया)
तबरेज़ के साथ हुई मार-पीट का वीडियो वायरल हुआ था. ये उसी का एक फ्रेम है (फोटो: सोशल मीडिया)

#चमकी बुखार पर

पीएम ने कहा,

यहां पर बिहार के चमकी बुखार की भी चर्चा हुई है. हम सभी के लिए दुख की बात है. शर्मिंदगी की बात है. मैं मानता हूं पिछले 7 दशक में सरकारों के रूप में और सरकार के रूप में हमारी कुछ विफलता रही है. उनमें से ये सबसे बड़ी विफलता है. हम सबको इसे गंभीरता से लेना होगा. ईस्टर्न यूपी में अच्छी स्थिति नजर आ रही है. टीकाकरण पर बल दे रहे हैं. मैंने आरोग्य मंत्री को भी वहां दौड़ाया था. पोषण, टीकाकरण पर जोर है. हमें ही जागरूकता फैलाना है. संकट से बाहर निकालने के लिए बिहार के मुख्यमंत्री के संपर्क में हैं और हमारे स्वास्थ्य मंत्री भी इस ओर ध्यान दे रहे हैं.

bihar children death1

# किसानों पर

पीएम ने कहा कि लोगों ने यहां तक कह दिया कि इस देश का किसान बिकाऊ है. 2-2 हजार रुपये की स्कीम पर बिक गया. मेरे देश का किसान बिकाऊ नहीं है, जो सबका पेट भरता है उस किसान के लिए ऐसे शब्दों के इस्तेमाल से अपमानित किया गया. 40-45 डिग्री टेंपरेचर में लोग वोट डालने जा रहे थे. और हम मतदाताओं का अपमान कर रहे हैं.

Farmers work in a paddy field in Kothari village, Nagaon district

# कांग्रेस का मतलब देश नहीं 

पीएम ने कहा कि जब यह बात कही जाती है कि लोकतंत्र हार गया, देश हार गया तो मैं जरूर पूछना चाहूंगा कि क्या वायनाड में हिंदुस्तान हार गया क्या? क्या रायबरेली, बहरामपुर, तिरुवनंतपुरम में हिंदुस्तान हार गया क्या? यह कौन सा तर्क है? यानी कांग्रेस हारी तो देश हार गया? मतलब कांग्रेस मतलब देश और देश मतलब कांग्रेस? अहंकार की एक सीमा होती है. 55-60 सालों तक देश पर राज करने वाला दल 17 राज्यों में एक सीट भी नहीं जीत पाया. इस प्रकार की भाषा बोलकर हमने मतदाता के विवेक पर ठेस पहुंचाई है.

Congress-Working-Commitee

# EVM का रोना बंद करे विपक्ष 

गोवा में आम आदमी पार्टी ने शिकायत की है. (फाइल फोटो)

पीएम ने कहा कि ईवीएम को लेकर सवाल उठाए जाते हैं. कभी हम भी सदन में सिर्फ 2 रह गए थे. मगर हमें अपनी विचारधारा और अपने कार्यकर्ताओं पर भरोसा था. हमने उस समय पोलिंग बूथ पर यह हुआ, वह हुआ, इस तरह की बहानेबाजी नहीं की.  ईवीएमपर सबसे पहले 1977 में चर्चा शुरू हुई. 1982 में पहली बार इसका प्रयोग किया गया. 1988 में कानूनन इस व्यवस्था को स्वीकृति दी. इतना ही नहीं, 1992 में कांग्रेस के नेतृत्व में ही इस ईवीएम को लेकर सारे रूल बनाए गए थे. अब हार गए हो तो रो रहे हो. ईवीएम से देश में अबतक 113 विधानसभा चुनाव हुए हैं. यहां उपस्थित करीब-करीब सभी दलों को उसी ईवीएम से चुनाव जीतकर सत्ता में आने या उसमें भागीदार बनने का मौका मिला है. चुनाव आयोग ने ईवीएम से छेड़छाड़ का चैलेंज भी दिया था, लेकिन यहां जो ईवीएम का रोना रो रहे हैं, उनमें से कोई दल नहीं गया. सिर्फ 2 दल सीपीआई और एनसीपी गए वह भी प्रक्रिया समझने के लिए.

#पीएम ने शेर भी सुनाया.

पीएम मोदी ने कहा, मुझे लगता है आज़ाद साहब (कांग्रेस नेता गुलाम नबी आज़ाद) को धुंधला दिखाई देता है, शायद वह राजनैतिक चश्मे से सब कुछ देखते हैं… ग़ालिब ने ऐसी शख्सियतों के लिए कुछ कहा था, ‘ताउम्र ग़ालिब ये भूल करता रहा, धूल चेहरे पे थी, आईना साफ करता रहा…’ ” हालांकि कि यह शेर गालिब का नहीं है.


तबरेज़ लिंचिंग मामला: पुलिस ने बयान दर्ज़ करते वक्त इतनी बड़ी बात कैसे छिपाई?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
What PM Modi said on jharkhand mob lynching, children death in muzaffarpur, EVM, Congress and farmers in the Rajya Sabha

10 नंबरी

दोस्ताना 2 का टीज़र आपको इस सवाल के साथ छोड़ देता है

दोस्ताना की तरह इस फिल्म में भी तीन किरदार हैं.

इन 10 बातों से पता चलता है, बैट से पीटने वाले आकाश विजयवर्गीय नए जमाने के असली नेता हैं

वीडियो देख हम कई नतीजों पर पहुंचे और कई सवाल भी उठे.

यूपी की मशहूर कठपुतली के किरदारों से अमिताभ-आयुष्मान की फिल्म का क्या कनेक्शन है?

खालिस लखनवी मुस्लिम बुजुर्ग के रोल में अमिताभ बच्चन को पहचानना मुश्किल है.

अमरीश पुरी के 18 किस्से: जिनने स्टीवन स्पीलबर्ग को मना कर दिया था!

जिसे हमने बेस्ट एक्टर का एक अवॉर्ड तक न दिया, उसके बारे में स्पीलबर्ग ने कहा "अमरीश जैसा कोई नहीं, न होगा".

सोनाक्षी सिन्हा की अगली फिल्म जिसमें वो मर्दों के गुप्त रोग का इलाज करेंगी

खानदानी शफाखाना ट्रेलर: सोनाक्षी के मरीजों की लिस्ट में सिंगर-रैपर बादशाह भी शामिल हैं.

मोदी करेंगे सेल्फी आसन, केजरीवाल का रॉकेटासन और राहुल करेंगे कुर्तासन

निंदासन, चमचासन, वोटर नमस्कार. लॉजिक छोड़िए, ध्यान भड़कने पर लगाइए, नथुने फड़काइए और ये आसान से आसन ट्राई कीजिए.

संसद में राष्ट्रपति के अभिभाषण की छह खास बातें

इससे पता चलता है कि मोदी सरकार अगले पांच साल में क्या करने वाली है.

दिलजीत दोसांझ की अगली फिल्म, जो ट्रेलर में अपनी ही बेइज्ज़ती कर लेती है

फिल्म में पुलिसवाला, नौटंकीबाज हीरोइन, एक भटकती आत्मा और सनी लियोनी भी हैं.

लोकसभा की जनरल सेक्रेटरी स्नेहलता श्रीवास्तव कौन हैं?

लोकसभा की पहली महिला महासचिव हैं स्नेहलता.

सनी देओल के चुनाव जीतने की वजह से उनके बेटे की फिल्म का काम रुक गया है

सनी के बेटे करण देओल के पहले प्रोजेक्ट की इनसाइड स्टोरी.