Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

जब कैफ ने एक छलांग मारकर पाकिस्तान से मैच छीन लिया था

24.04 K
शेयर्स

निदाहस ट्रॉफी में इंडिया श्रीलंका के बीच 12 मार्च 2018 को एक टी-ट्वेंटी मैच हुआ. इस मैच में सुरेश रैना ने एक शानदार कैच लिया. श्रीलंकन बल्लेबाज़ गुनातिलाका का. हवा में छलांग लगाकर गेंद को काबू में करते रैना कि तस्वीरें आगे कई-कई बार देखी जाएंगी, इसमें कोई शक नहीं. इस कैच के बहाने और भी ऐसे कई कैच याद आ गए, जब भारतीय फील्डर्स ने असाधारण फील्डिंग का मुज़ाहिरा किया था. उनमें से ही एक था मुहम्मद कैफ का कैच. जो उन्होंने 2004 के पाकिस्तान दौरे के पहले ही मैच में लिया था.

कैफ उन फील्डर्स में से हैं, जो भारतीय फील्डिंग के आज बने शानदार महल की नींव कहे जा सकते हैं. युवराज-कैफ के दौर के बाद ही भारतीय क्रिकेट में फील्डिंग का स्तर रफ़्तार से सुधरा. अपने करियर में कैफ ने हमेशा बेहतरीन फील्डिंग की. एक से बढ़कर एक कैच लपके. एक ऐसा ही कैच उन्होंने तब लिया था, जब इंडिया को उसकी सबसे ज़्यादा ज़रूरत थी. ये कहना भी ग़लत न होगा कि उसी कैच ने पाकिस्तान से मैच छीन लिया था.

इंडियन फील्डिंग का स्टैण्डर्ड ऊंचा करने में इस आदमी का बड़ा हाथ है.
इंडियन फील्डिंग का स्टैण्डर्ड ऊंचा करने में इस आदमी का बड़ा हाथ है.

साल था 2004. भारत का पाकिस्तान दौरा. कराची में पहला वन डे. वो मैच इंज़माम के शतक, द्रविड़ के चूके हुए शतक और नेहरा के आखिरी ओवर के लिए याद किया जाता है. इसी के साथ उस मैच को कैफ के अप्रतिम कैच के लिए भी याद किया जाना चाहिए. वो कैच बहुत ही नाज़ुक मौके पर लिया गया था. 349 का भारत का स्कोर पाकिस्तान पार करने की दहलीज पर पहुंच चुका था. 8 गेंदों में 10 रन चाहिए थे उसे. शोएब मलिक और मोईन ख़ान क्रीज़ पर थे. दोनों ही अच्छे बल्लेबाज़ रहे हैं. ज़ाहिर है पाकिस्तान के चांसेस ज़्यादा थे. ऐसे अहम मौके पर आया कैफ का वो अद्भुत कैच.

ज़हीर ख़ान की गेंद को शोएब ने हवा में उठा दिया. गेंद हल्की सी लॉन्ग ऑन की दिशा में जा रही थी. लेकिन हल्की सी ही. लग रहा था कि नो मैन्स लैंड में गिरेगी. लॉन्ग ऑन पर हेमांग बदानी थे. लॉन्ग ऑफ़ पर कैफ. दोनों ने दौड़ लगाई. हेमांग बदानी पहले गेंद के पास पहुंचे. लेकिन जैसे ही उन्हें महसूस हुआ कि वो गेंद तक नहीं पहुंच पाएंगे वो स्किड करके गेंद रोकने की जुगत भिड़ाने लगे. तभी आंधी की तरह कैफ फ्रेम में आए. नीचे गिर रहे बदानी के सिर के ऊपर गेंद को पकड़ा. दिमाग ठंडा रखा और बदानी से तय लग रही टक्कर टाली. ज़मीन पर गिर गए लेकिन गेंद को छूटने नहीं दिया. ये सब महज़ कुछ सेकंड्स में हो गया.

दर्शक दीर्घा में जावेद मियांदाद ने फ्रस्ट्रेशन में हाथ फेंक पटके. कमेंटेटर का कहना था और सही कहना था कि,

‘जब तक आप क्रिकेट देखते रहेंगे, इससे बढ़िया कैच आप शायद ही देखें.’

आप भी देखिए कैफ का वो ब्रिलियंट कैच:


ये भी पढ़ें:

पाकिस्तान को एक ओवर में नौ रन चाहिए थे, फिर ‘नेहरा जी’ आए

ये सुरेश रैना आदमी है या चीता, क्या ज़बरदस्त कैच लिया है यार!

जब सचिन तेंडुलकर ने पाकिस्तान की तरफ से खेला था

फाइनल में पाकिस्तान को हराया, रवि शास्त्री ने ऑडी जीती और पूरी टीम उसपर लद गई

बॉलर ने तीन ओवर में तीन विकेट लिए, फिर भी हैट्रिक मानी गई

जब केविन ओ’ब्रायन ने वर्ल्ड कप की सबसे तेज़ सेंचुरी मारी और इंग्लैंड को ध्वस्त कर दिया

11 साल में सिर्फ 14 मैच खेलनेवाला खिलाड़ी, अब KKR का कैप्टन है

क्रिकेट के इतिहास का सबसे लंबा मैच, जो ख़त्म होने का नाम ही नहीं ले रहा था

 

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Mohammad Kaif took spectacular catch to dismiss Shoaib Malik in Karachi one day match in 2004

10 नंबरी

सिंबा ट्रेलर की 7 बातें जो बताती हैं कि फिल्म 500 करोड़ पार करेगी!

पहली वजह हैं अजय देवगन. क्यों, कैसे ये जान लो.

इस फिल्म से आयुष्मान खुराना फिर बॉक्स ऑफिस की खिड़की तोड़ने के लिए तैयार हैं

उनका रोल जान कर आप चौंक जाएंगे!

जिमी शेरगिल: वो लड़का जो चॉकलेट बॉय से कब दबंग बन गया, पता ही नहीं चला

इन 5 फिल्मों से जानिए कैसे दबंगई आती गई.

ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज से पहले विराट कोहली ने एक मारक बात कही है

ऑस्ट्रेलिया के एक रेडियो स्टेशन को दिए इंटरव्यू की 5 बातें.

मोहम्मद अज़ीज़ के ये 38 गाने सुनकर हमने अपनी कैसेटें घिस दी थीं

इनके जबरदस्त गानों से जिन फिल्म स्टार्स के वारे-न्यारे हुए, वो अज़ीज़ पर एक मुट्ठी मिट्टी डालने तक नहीं गए.

जिसे इंडिया हल्के में लेती रही, उसने पाकिस्तान के लिए सबसे ज्यादा रन बनाए

फिर आया 2005 का बैंगलोर टेस्ट और सब बदल गया.

सनी देओल के बेटे की फिल्म आ रही है, जिसमें 'ढाई किलो का हाथ' नहीं होगा

400 लड़कियों के ऑडिशन के बाद चुनी गई है करण देओल की हीरोइन.

उस फिल्म के 5 शानदार सीन, जिसमें शाहरुख मर गया और पूरा इंडिया रोया

फिल्म बीच में ही छोड़कर उठ जाने का मन करता है. लेकिन हम नहीं उठते. हम नहीं उठ पाते.