Submit your post

Follow Us

ट्रंप हमारे मेहमान हैं, मेहमान की कुछ ग़लत बयानबाज़ियां पढ़ लीजिए

‘वॉशिंगटन पोस्ट’ अमेरिका का बड़ा अख़बार है. इसने एक स्पेशल स्टोरी शुरू की अपने (यानी अमेरिका के) राष्ट्रपति पर. ये ‘सच-झूठ’ बताने वाली फैक्ट चैकर स्टोरी थी. इसमें पड़ताल की गई थी कि 20 जनवरी, 2017 को राष्ट्रपति पद संभालने वाले ट्रंप ने बतौर प्रेजिडेंट कब, कहां, क्या और कितना झूठ बोला. इस ख़बर में हैडिंग के ऊपर लिखा था- Fact Checker. और इसके पास बना था पिनेकियो. एक कहानी का पात्र है पिनेकियो. जब वो झूठ बोलता था, तो उसकी नाक लंबी हो जाती थी. ख़बर में ट्रंप को वही पिनेकियो बताया गया था, जिनकी झूठ बोल-बोलकर नाक लंबी हो गई है. ट्रंप के पहले 100 दिनों के झूठ से शुरू हुई ये ख़बर समय-समय पर अपडेट होती रही. इस स्टोरी का शुरुआती पैराग्राफ कुछ यूं है-

अब जबकि ट्रंप राष्ट्रपति बन गए हैं, तब भी उन्होंने संदिग्ध, गुमराह करने वाले और झूठे बयान देने की अपनी प्रवृत्ति बनाए रखी है. बावजूद इसके कि उनके बयानों का फैक्ट चेक (झूठ सामने लाने की पड़ताल) हो चुका है, ट्रंप फिर भी अक्सर अपने उन्हीं ग़लत साबित किए जा चुके बयान दोहराते रहते हैं. ट्रंप के तमाम शब्दाडंबरों के साथ गति बनाए रखना मुश्किल काम है. ऐसे में ये फैक्ट चेकर एक साथ शुरुआती 100 दिनों के भीतर उनके द्वारा दिए गए संदिग्ध बयानों को शामिल कर रहा है. ये बयान अलग-अलग श्रेणियों (मसलन- रोज़गार, इमिग्रेशन, विदेश नीति, अर्थव्यवस्था, अपराध, व्यापार, टैक्स) में बांटे गए हैं. आप यहां ये भी देख सकते हैं कि ट्रंप ने एक ही झूठ कितनी बार दोहराया है.

जनवरी 2020 की ‘वॉशिंगटन पोस्ट’ की एक ख़बर के मुताबिक,ट्रंप ने अपने कार्यकाल के शुरुआती तीन साल में कुल 16,241 ग़लत या फिर गुमराह करने वाले दावे किए हैं. किसी भी देश के राष्ट्राध्यक्ष के लिहाज से देखिए. ट्रंप पर इस तरह के आर्टिकल्स लिखा जाना. उनके इतने सारे बयानों का फैक्ट-चेक में ग़लत पाया जाना, ये अलग ही तरह का रेपुटेशन है.

म से मेहमान, ब से बयान 

ट्रंप राजकीय मेहमान बनकर दो दिन की भारत यात्रा पर आए हैं. पिछले कई दिनों से उनके स्वागत की तैयारियां चल रही थीं. तैयारियों में हिस्टीरिया (माने ऐसी खुशी और उत्सुकता जो बेकाबू हो गई है) का भी पुट है. BJP के एक प्रवक्ता हैं भारत पांड्या. उन्होंने मीडिया से ये तक कह दिया कि ट्रंप का आना ‘किसी सपने के सच’ हो जाने जैसा है. इस फैन सरीखे माहौल में सोशल मीडिया पर फिलहाल सबसे तगड़ा सर्चवर्ड ट्रंप ही हैं. इसी संदर्भ में हम आपको बता रहे हैं बतौर राष्ट्रपति उनके द्वारा की गई कुछ ग़लत बयानबाजियां. ट्रंप के ज़्यादातर बयान अमेरिका, वहां की पॉलिटिक्स और विदेश-आर्थिक नीतियों से जुड़े हैं, ऐसे में हमने कुछ ऐसे बयान छांटे हैं जो बस अमेरिका-केंद्रित नहीं हैं.

1. मैं पुतिन को नहीं जानता.

अप्रैल, 2017 में ये कहने से पहले ट्रंप कई बार दावा कर चुके थे कि वो न केवल व्लादीमिर पुतिन को जानते हैं, बल्कि बहुत अच्छी तरह जानते हैं. ट्रंप कहते थे कि उनके पुतिन के साथ अच्छे संबंध रहे हैं. जब 2016 के राष्ट्रपति चुनाव को प्रभावित करने आरोप रूस पर लगे, उसके बाद ट्रंप ने ये कहना शुरू किया कि वो पुतिन को नहीं जानते.

2. कोरिया असल में चीन का ही एक हिस्सा हुआ करता था.

अप्रैल, 2017 में चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग अमेरिका पहुंचे. उनसे बातचीत के बाद ट्रंप ने ‘वॉल स्ट्रीट जर्नल’ को दिए एक इंटरव्यू में ये बात कही. इस बयान से दक्षिण कोरिया में लोग बहुत नाराज़. वहां के विदेश मंत्रालय ने कहा कि ट्रंप का बयान ऐतिहासिक तौर पर ग़लत है.

कोरिया और चीन भौगोलिक और सांस्कृतिक तौर पर थोड़े मिलते-जुलते हैं. मगर कोरिया चीन का हिस्सा नहीं था. कोरिया कहता है कि उनका राष्ट्रीय भूभाग कभी सीधे तौर पर चीन द्वारा प्रशासित नहीं रहा. दर्ज इतिहास में कभी नहीं. हां, ये ज़रूर है कि कोरियन प्रायद्वीप के कई राजवंश पुराने जमाने में चीन को ट्रिब्यूट (पैसा, कीमती सामान) देते रहे. बदले में चीन ने उन्हें शांति से रहने दिया. मगर इसका मतलब ये नहीं कि कोरिया हिस्सा था चीन का.

3. अगर आपके घर के आसपास कहीं भी कोई पवनचक्की है, तो बधाइयां. आपके घर की कीमत 75 फीसद तक कम हो गई. और लोग तो कहते हैं कि आवाज़ से कैंसर होता है.

ये अप्रैल, 2019 का बयान है ट्रंप का. पवनचक्की की आवाज़ से कैंसर होता है, ये मानने का फिलहाल कोई वैज्ञानिक आधार नहीं. हां, पवनचक्की ऊर्जा के कमोबेश साफ-सुथरे विकल्पों में ज़रूर गिनी जाती है.

4. देखिए, सीरिया में हमारा कोई सैनिक नहीं है. हम जीत गए. हमने ISIS को हरा दिया. हमने उन्हें बुरी तरह और निर्णायक तरीके से हरा दिया है. हमारा कोई सैनिक नहीं है अब वहां.

ट्रंप का ये बयान आया अक्टूबर, 2019 में. इस वक़्त सीरिया में लगभग 1,000 अमेरिकी सैनिक थे. नवंबर में भी ट्रंप ने फॉक्स चैनल के एक प्रोग्राम में यही बात दोहराई. कहा कि उन्होंने सीरिया से अपने सारे सैनिक निकाल लिए. जबकि अमेरिकी सेना के मुताबिक, उस वक़्त उत्तरपूर्वी सीरिया में 600 और दक्षिणी सीरिया में 100 अमेरिकी सैनिक मौजूद थे.

5. मैंने टेलिविजन पर देखा. 9/11 हमले के दौरान वर्ल्ड ट्रेड सेंटर से गिरने पर हज़ारों मुस्लिम जश्न मना रहे थे.

ये ग़लत था. अमेरिकन मीडिया के अलग-अलग हिस्सों द्वारा किए गए फैक्ट चेक में सामने आया कि ऐसा कोई टीवी फुटेज था ही नहीं. बस अपुष्ट सी एक ख़बर थी कि पांच से छह लोग (मुस्लिम पहचान भी कन्फर्म नहीं) जश्न मना रहे थे.

फ्लिप-फ्लॉप

ओबामा राष्ट्रपति थे. सीरिया में राष्ट्रपति बशर अल-असद से जंग चल रही थी. आरोप लगा कि असद ने रासायनिक हथियार इस्तेमाल किए हैं. ख़बर आई कि केमिकल हथियारों के इस्तेमाल पर प्रतिक्रिया देते हुए ओबामा सीरिया पर हवाई हमले की सोच रहे हैं. ट्रंप ने ट्वीट करके लिखा कि ये बहुत बड़ी ग़लती होगी. उन्होंने लिखा कि ओबामा को सीरिया से बाहर ही रहना चाहिए. बाद में ट्रंप ने अपने कार्यकाल में सीरिया पर मिसाइल अटैक किया. क्यों? केमिकल अटैक के जवाब में.


दिल्ली सरकार के स्कूलों में डॉनल्ड ट्रंप की पत्नी के प्रोग्राम में केजरीवाल-सिसोदिया की नो-एंट्री

डॉनल्ड ट्रंप जिस कार को इंडिया ला रहे, वो बम, कैमिकल अटैक झेलने के अलावा और क्या-क्या कर सकती है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

क्विज़: नुसरत फतेह अली खान को दिल से सुना है, तो इन सवालों का जवाब दो

क्विज़: नुसरत फतेह अली खान को दिल से सुना है, तो इन सवालों का जवाब दो

आज बड्डे है.

ये क्विज जीत नहीं पाए तो तुम्हारा बचपन बेकार गया

ये क्विज जीत नहीं पाए तो तुम्हारा बचपन बेकार गया

आज कार्टून नेटवर्क का हैपी बड्डे है.

रणबीर कपूर की मम्मी उन्हें किस नाम से बुलाती हैं?

रणबीर कपूर की मम्मी उन्हें किस नाम से बुलाती हैं?

आज यानी 28 सितंबर को उनका जन्मदिन होता है. खेलिए क्विज.

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

बेबो वो बेबो. क्विज उसकी खेलो. सवाल हम लिख लाए. गलत जवाब देकर डांट झेलो.

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

17 सितंबर को किसानों के मुद्दे पर बिट्टू ऐसा बोल गए कि सियासत में हलचल मच गई.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?

KBC में करोड़पति बनाने वाले इन सवालों का जवाब जानते हो कि नहीं, यहां चेक कर लो

KBC में करोड़पति बनाने वाले इन सवालों का जवाब जानते हो कि नहीं, यहां चेक कर लो

करोड़पति बनने का हुनर चेक कल्लो.

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

चलिए, विधायक जी की कन्नी-काटी जानते हैं.

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़. अपना ज्ञान यहां चेक कल्लो!