Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

क्यों मैंने एक बलात्कारी बाबा पर किताब लिखी?

5
शेयर्स

ये लेख श्रीमोयी पीयू कुंडू ने अंग्रेज़ी वेबसाइट ‘डेली ओ’ के लिए लिखा था. श्रीमोयी ने लाइफस्टाइल और पब्लिक रिलेशन्स के क्षेत्र में काम किया है. अब किताबें लिखती हैं. जेंडर और सेक्शुएलिटी पर इनके लेख छपते रहते हैं. वेबसाइट की इजाज़त से श्रीमोयी के एक लेख का अनुवाद हम यहां दे रहे हैं. पढ़िए.


25 अप्रैल, 2018 के दिन आसाराम बापू को एक नाबालिग से बलात्कार का दोषी पाया गया. इसके बाद उसे उम्रकैद की सज़ा हुई. फैसला सुनकर मुझे उस घटना की याद आ गई जिसे कुछ साल पहले मैंने अपनी किताब में लिखा था. इसी से मैंने जाना था कि भारत में महिलाएं कितनी आसानी से पाखंडी बाबाओं और उनके अंधभक्तों की शिकार हो जाती हैं.

2013 में नीति नाम की एक 25 साल की हाउसवाइफ ने मुझे फेसबुक पर एक मैसेज भेजा. उसने मेरी दूसरी किताब ‘सीताज़ कर्स’ (सीता का अभिशाप) के बारे में सुना था. तब मैं किताब पर काम कर ही रही थी. लंबे समय तक उसका मैसेज ‘अदर्स’ वाले फोल्डर में ‘अनरेड’ रहा. माने मैंने उसपर ध्यान नहीं दिया. नीति मुझसे आमने-सामने मिलना चाहती थी. उसका दावा था कि उसके जीवन के कुछ हिस्सों और मेरे उपन्यास में एक असाधारण समानता थी.

सच बताऊं तो एक अजनबी से मिलने के लिए मैं अपनी ‘एकांतप्रिय लेखक’ वाली ज़िंदगी से ब्रेक लेने के मूड में थी नहीं. ये भी पक्का नहीं था कि नीति मेरी कहानी पर कोई अच्छा प्रभाव डालेगी. उसने फिर मैसेज किया, ”मैं दिल्ली आ रही हूं.” मैं थोड़ी नर्म पड़ गई. मैंने उसे बताया कि वो दिल्ली आने के बाद मुझ तक कैसे पहुंचे.

नीति की आंखें गहरे भूरे रंग की थीं. उनका अपना तेज था. उसने एक कॉटन का सूट पहना हुआ था, जिसपर प्रिंट्स थे और एक लंबा घूंघट भी. जब मैंने उससे पूछा कि वो मुझसे क्यों मिलना चाहती थी तो उसने मुझे एकटक नज़रों से देखा और अपनी कहानी सुनाना शुरू किया-

सांकेतिक फोटो. कितनी ही लड़कियां शादी के नाम पर निकम्मों के साथ बांध दी जाती हैं. (फोटोःरॉयटर्स)
सांकेतिक फोटो. कितनी ही लड़कियां शादी के नाम पर निकम्मों के साथ बांध दी जाती हैं. (फोटोःरॉयटर्स)

“16 साल की उम्र में मेरी शादी हुई – अरेंज्ड मैरिज. एक स्टूडियो में मेरी फोटो खिंचवा कर मेरे ससुराल भेजा गया. उन्हें मेरा चेहरा, मेरा रंग और शायद मेरा शरीर भी पसंद आया. जब मेरा होने वाला पति परिवार के साथ मुझे देखने आया तो मेरी सास का ध्यान मेरे नितंबों पर था. उसने कहा कि बच्चे पैदा करने के लिहाज़ से वो ‘अच्छे’ हैं. मुझे तब इस बात का मतलब नहीं पता था. फिर उन्होंने मेरे टखने भी चेक किए. मुझे तेज आवाज़ में और सीधा जवाब देने के लिए मना किया गया. ज़्यादा सवाल पूछने और सिर उठाकर देखने से भी मना किया गया. मैंने अपनी दादी की भारी भरकम साड़ी पहनी थी. मेरा सिर भन्ना गया था.

अगले महीने हमारी शादी हो गई. समारोह में खूब खर्च किया हुआ – अच्छा-खासा दहेज, नई कार, महंगी सिल्क की साड़ियां और गहने – मेरे पिता ने अपना एक-एक पैसा इस शादी पर लगा दिया था. मेरे हाथों पर मेंहंदी लगी था और उस वक्त मैं रानी जैसा महसूस कर रही थी. मेरे पति कपड़ा व्यापारी थे और अपने घरेलू बिजनेस के मुखिया थे. वो 34 साल के एक बी.कॉम ड्रॉपआउट थे और हकलाते भी थे.

मेरी मां ने मुझे समझाया कि मुझे शादी के बाद जल्द से जल्द एक बेटा पैदा करना चाहिए ताकि साझे परिवार में मेरी जगह सुरक्षित हो जाए. उस वक्त तक मुझे सेक्स के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. बाहरी दुनिया से मेरा नाता सिर्फ स्कूल और टीवी तक था. बाकी दुल्हनों की तरह मैं भी एक फिल्मी सुहागरात के इंतजार में थी.

मगर मेरा पति एक शराबी निकला. उसके काम से वापस आने तक मैं तीन घंटे तक हाथ में दूध का गिलास लिए उसका इंतजार करती रही. उसने दूध पीया तक नहीं. उल्टे उसने मेरा दुपट्टा खींच लिया और मुझसे कपड़े उतारने को कहा. मैं वर्जिन थी और उस वक्त बहुत ज़्यादा डरी हुई थी. उसके बाद, उसने मेरे साथ हैवानियत की.

मुझे बाद में पता चला कि मेरे पति को इरेक्टाइल डिसफंक्शन था. जिसके कारण मेरा पति मेरे साथ अजीब हरकतें करता था. जैसे कि मुझपर पेशाब करना, मुझे छड़ी से पीटना, मुझपर गरम मोम डालना, मेरे मुंह में चीज़ें ठूंसना, मुझे अजीबोगरीब कपड़े पहनाना… मेरा पति मुझे इस तरह प्रताड़ित करता रहा और मेरे ससुराल वालों ने मुझपर बच्चा न पैदा करने का आरोप लगाकर मुझपर ‘बांझ’ का तमगा लगा दिया. फिर उन्होंने मुझसे जबरदस्ती व्रत करवाए, टोटके पहनने पर मजबूर किया, कड़वी जड़ी बूटियों वाला काढ़ा पिलाया और खाने में मिलाकर भी दिया. उन्हें पता नहीं था कि उनका बेटा नामर्द है. उस वक्त मैं बुरी तरह से डिप्रेस हो गई थी.

नीति का पति उससे मारपीट करता था. (सांकेतिक फोटो)
(सांकेतिक फोटो) भारत उन मुल्कों में से एक है जो मैरिटल रेप को रेप नहीं मानता.

मेरी शादी के दूसरे साल, एक दिन मुझे इंदौर में रहने वाले एक गुरुजी के बारे में बताया गया. मुझे उनके आश्रम में ले जाया जाना था, जहां वो मेरा इलाज करते. वहां जाने से पहले, 15 दिन तक मेरे पति ने मुझे हाथ नहीं लगाया. उसका बर्ताव मेरे लिए पहले से थोड़ा अच्छा हो गया. मुझे लगा कि शायद मेरी किस्मत अब बदलने वाली है.

गुरुजी मेरे पिता से भी ज़्यादा उम्र के थे. पहली ही बार जब उन्होंने मुझे अकेला पाया, उन्होंने मुझे ज़बरदस्ती छुआ. मैंने जब विरोध किया तो उन्होंने मुझे धमकी दी कि अगर मैंने हंगामा किया तो वो बाहर खड़े मेरे पति को बुलाकर उसे बताएंगे कि मैं चरित्रहीन हूं. मैं डर गई… उसने मुझे उसके साथ सेक्स करने के लिए मजबूर किया. मैं शोषित महसूस कर रही थी. मेरे ससुराल वालों ने कुछ दिनों के लिए मुझे गुरुजी के आश्रम में छोड़ दिया.

कुछ महीनों बाद मैं प्रेगनेंट(गर्भवती) हो गई. आज मेरा बेटा 6 साल का है.

मैं किसी को भी गुरुजी के बारे में नहीं बता सकती क्योंकि लाखों लोग उसकी पूजा करते हैं. वो बहुत ताकतवर आदमी है.

शायद मेरे ही साथ कोई दिक्कत हो.”

***

नीति के ससुराल वाले ही उन्हें बलात्कारी बाबा के पास लेकर गए. (सांकेतिक फोटो)
(सांकेतिक फोटो) दहेज पताड़ना कानून को हाल ही में कुछ शिथिल किया गया है. अब इन मामलों में तुरंत गिरफ्तारी नहीं होती.

नीति और मैं अब भी एक दूसरे से जुड़े हुए हैं. वो मेरी किताब के लिए प्रेरणा बनी और अपनी किताब को मैंने उसे समर्पित भी किया. हाल के दिनों में उसकी हिम्मत बंधी है और उसने घर छोड़ दिया है. अब बाहर रहती है और एक NGO के साथ अचार और पापड़ बनाने का काम करती है.

आसाराम के फैसले वाली रात मैंने नीति को फोन किया.

“आसाराम बापू को जेल मिला…” मेरे हेलो बोलते ही उसने ज़ोर से कहा.

“मुझे पता है… मैं सोच रही थी तुम्हारे बारे में… कम से कम इस मामले में न्याय हुआ,” मैंने धीरे से कहा.

उसने आवाज़ साफ करते हुए जोड़ा, “बाकी औरतों को भी न्याय की उम्मीद मिली है, मेरे जैसी औरतों को…”


ये अनुवाद निवेदिता ने किया है.


ये भी पढ़ें : 

 रेप के बाद बोला साइंटिस्ट, मैं बच्चियों का डर दूर कर रहा था

पहले नाबालिग से गैंगरेप किया, 50 हजार का जुर्माना लगा तो लड़की को जिंदा जला दिया

जहानाबाद: जिस लड़के ने बाइक पर बिठाया था, उसने भी की थी रेप की कोशिश 

गाजियाबाद रेप केस में सबसे बड़ी सच्चाई अब पता चली है

वीडियो देखें : Jehanabad की इस लड़की की चीखें आप अपने अंदर से नहीं निकाल पाएंगे

 

 

 

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Rapist Baba: Why I wrote a novel about a Goodman who raped a woman

कौन हो तुम

कोहिनूर वापस चाहते हो, लेकिन इसके बारे में जानते कितना हो?

आओ, ज्ञान चेक करने वाला खेल खेलते हैं.

कितनी 'प्यास' है, ये गुरु दत्त पर क्विज़ खेलकर बताओ

भारतीय सिनेमा के दिग्गज फिल्ममेकर्स में गिने जाते हैं गुरु दत्त.

इंडियन एयरफोर्स को कितना जानते हैं आप, चेक कीजिए

जो अपने आप को ज्यादा देशभक्त समझते हैं, वो तो जरूर ही खेलें.

इन्हीं सवालों के जवाब देकर बिनिता बनी थीं इस साल केबीसी की पहली करोड़पति

क्विज़ खेलकर चेक करिए आप कित्ते कमा पाते!

सच्चे क्रिकेट प्रेमी देखते ही ये क्विज़ खेलने लगें

पहले मैच में रिकॉर्ड बनाने वालों के बारे में बूझो तो जानें.

कंट्रोवर्शियल पेंटर एम एफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एम.एफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद तो गूगल कर आपने खूब समझ लिया. अब जरा यहां कलाकारी दिखाइए

KBC क्विज़: इन 15 सवालों का जवाब देकर बना था पहला करोड़पति, तुम भी खेलकर देखो

अगर सारे जवाब सही दिए तो खुद को करोड़पति मान सकते हो बिंदास!

राजेश खन्ना ने किस हीरो के खिलाफ चुनाव लड़ा और जीता था?

राजेश खन्ना के कितने बड़े फैन हो, ये क्विज खेलो तो पता चलेगा.

QUIZ: आएगा मजा अब सवालात का, प्रियंका चोपड़ा से मुलाकात का

प्रियंका की पहली हिंदी फिल्म कौन सी थी?

कौन है जो राहुल गांधी से जुड़े हर सवाल का जवाब जानता है?

क्विज है राहुल गांधी पर. आगे कुछ न बताएंगे. खेलो तो बताएं.