Submit your post

Follow Us

राहुल द्रविड़ ने जिसे बॉलिंग पर ध्यान देने को कहा, उसने पुणे को फाइनल में पहुंचा दिया

वॉशिंगटन सुंदर. आईपीएल का नया और चर्चित चेहरा. इन्हें IPL 10 में जगह मिली है ऑलराउंडर आर अश्विन के फिट न होने के वजह से. टीम है रायजिंग पुणे सुपरजायंट्स. ये पहली बार टी-20 और आईपीएल मैच खेल रहे हैं. वॉशिंगटन सुंदर भी ऑलराउंडर हैं. ये स्पिन बॉलिंग के साथ लेफ्ट हैंड बैटिंग भी करते हैं.

खास बात यह है कि वॉशिगटन सुंदर अभी मात्र 17 साल के हैं. और साथ ही आईपीएल में खेलने वाले तीसरे सबसे कम उम्र के खिलाड़ी भी. आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ इन्होंने अपना पहला मैच खेला है.

source-twitter
source-twitter

वॉशिंगटन सुंदर नाम तो नया है

इनका नाम सुनते ही सबसे पहला सवाल इनके नाम को लेकर दिमाग में आता है. तमिलनाडु में जन्में सुंदर के पिता एम सुंदर और बहन एम एस शैलेजा दोनों ही क्रिकेट खेलते हैं. बहन एम एस शैलेजा तमिलनाडु महिला क्रिकेट टीम के लिए खेलती हैं. वॉशिंगटन को ये नाम क्रिकेट से ही मिला है. एक इंटरव्यू में वॉशिंगटन के पिता एम सुंदर ने बताया है कि ये नाम उन्होंने अपने कोच पीडी वॉशिंगटन की याद में रखा है. एम सुंदर जब क्रिकेट खेला करते थे. तब इनकी मदद पीडी वाशिंगटन ने की थी.  जब पीडी वॉशिंगटन का निधन हुआ. उसके कुछ महीने बाद ही वॉशिंगटन सुंदर का जन्म हुआ. तो पिता ने अपने बेटे के नाम के आगे व़ॉशिंगटन लगा दिया. जो सुनने में अमेरिकी नाम लगता है.

source- facebook
source- facebook

करियर:

2014 में महज 15 साल की उम्र में वॉशिंगटन ने ICC U-19 वर्ल्ड कप के लिए खेला था. 2016 में वॉशिगटन सुंदर ने तमिलनाडु के लिए रणजी ट्रॉफी खेलना शुरू किया. वाशिंगटन ने घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन किया है. देवधर ट्रॉफी और विजय हजारे ट्रॉफी में इस लेफ्ट आर्म स्पिनर ने अपने खेल से तमिलनाडु को जीत दिलाई थी.

2016 में तमिलनाडु प्रीमियर लीग में वॉशिंगटन सुंदर ने 9 मैचों में 11 विकेट लिए थे, 140 रन बनाए थे. अंडर-19 वर्ल्ड कप में राहुल द्रविड़ टीम के कोच थे. राहुल ने वॉशिंगटन को गेंदबाजी पर अधिक ध्यान देने की सलाह दी थी. जिसके बाद यह खिलाड़ी अपनी बॉलिंग पर फोकस कर रहा हैं.

source- facebook
source- facebook

क्वालिफ़ायर में कमाल

पहली इनिंग्स में धोनी की बैटिंग की बदौलत 162 के सम्मानजनक स्कोर के बाद मुश्किल ये थी कि मुंबई की तगड़ी बैटिंग लाइन-अप के सामने इस स्कोर को कैसे डिफेंड किया जाए. वाशिंगटन सुन्दर ने 4 ओवर में मात्र 16 रन दिए और 3 विकेट लिए. इन 3 विकेटों में रोहित शर्मा, कीरोन पोलार्ड और अम्बती रायडू के सोल्ड विकेट्स लिए. ये तीन प्लेयर्स वो प्लेयर्स हैं जो किसी भी वक़्त मैच को अपने पाले में खींच ला सकते हैं. सुन्दर की इस बढ़िया बॉलिंग की बदौलत पुणे सीधे फाइनल में पहुंच गई.

सबसे कम उम्र के IPL खिलाड़ी

सरफराज खान: आईपीएल के इतिहास में सबसे कम उम्र में खेलने वाले पहले खिलाड़ी हैं.  मुंबई का यह खिलाड़ी महज 17 साल 177 दिन का था जब इसने IPL में अपना पहला मैच खेला. 2015 में सरफराज ने यह मैच आरसीबी की तरफ से राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ खेला था.

प्रदीप सांगवान:  आईपीएल में कम उम्र में आगाज करने वाले ये दूसरे नंबर पर हैं. IPL डैब्यू करते वक्त इनकी उम्र 17 साल 179 दिन थी. 2013 में डोपिंग टेस्ट में फेल हो जाने पर प्रदीप पर बैन लगा दिया गया था. 26 साल की उम्र में प्रदीप ने फिर से वापसी की. फिलहाल वो गुजरात लॉयन्स की तरफ से खेल रहे हैं.


ये भी पढ़ें:

कल गंभीर ने विराट कोहली को मैदान पर शर्मसार कर दिया

IPL में सबसे बड़े कन्फ्यूज़न को दूर कर गलती सुधार ली गई है

क्या आपने किसी क्रिकेटर को मुंह मियां मिट्ठू बनते देखा है?

ये लड़का इंडिया का अगला सनसनी तेज गेंदबाज बनेगा!

ये लड़का इंडिया का अगला सनसनी तेज गेंदबाज बनेगा!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

YES Bank शुरू करने वाले राणा कपूर कौन हैं, जिन्होंने नोटबंदी को 'मास्टरस्ट्रोक' बताया था

यस बैंक डूब रहा है.

सात साल पहले केजरीवाल ने वो बात कही थी जो आज वो ख़ुद नहीं सुनना चाहते

बरसों पुरानी इस बात की वजह से सोशल मीडिया पर घेर लिए गए हैं.

क्या भारत सरकार से पूछे बिना पाकिस्तान चली गई इंडियन कबड्डी टीम?

अब ढेरों खेल-तमाशा हो रहा है.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.

रिव्यू पिटीशन क्या होता है? कौन, क्यों, कब दाखिल कर सकता है?

अयोध्या पर फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड रिव्यू पिटीशन दायर करने जा रहा है.