The Lallantop
Logo
लल्लनटॉप का चैनलJOINकरें

आम बजट में सरकार ने स्पोर्ट्स को कितना दिया?

पहले से ज्यादा या कम?

post-main-image
निर्मला सीतारमण और खेल मंत्री अनुराग ठाकुर (PTI)

टोक्यो ओलंपिक्स 2021 में सात. और कॉमनवेल्थ 2022 में 61 मेडल्स जीतने के बाद हर भारतीय की नज़र 2023 में होने वाले एशियन गेम्स और 2024 पेरिस ओलंपिक्स पर हैं. एथलीट्स तैयारी में लगे हैं. और अब 2023-24 के बजट (Union Budget 2023-24) में भारत सरकार ने खेलों का बजट भी बढ़ाया है. इस बजट में स्पोर्ट्स के लिए आवंटित राशि अभी तक की सबसे ज्यादा है.

भारत की किसी भी सरकार ने कभी भी स्पोर्ट्स के लिए इतने पैसों का आवंटन नहीं किया था. साल 2023-24 के लिए भारत सरकार ने खेलों के लिए 3397.32 करोड़ रुपये दिए हैं. पिछले साल की तुलना में सरकार ने 300 करोड़ बढ़ाए हैं. बताते चलें, 2023 में देश के एथलीट्स एशियन गेम्स में हिस्सा लेंगे. और फिर 2024 में होने वाले पेरिस ओलंपिक्स की तैयारी भी चल ही रही है.

# 2022 में क्या था बजट?

2022-23 के बजट में मोदी सरकार ने स्पोर्ट्स को 3062.6 करोड़ दिए थें. साल 2022-23 में एथलीट्स को टॉप्स स्कीम (TOPS) से भी अच्छी आर्थिक मदद मिली थी.

# 2023 का स्पोर्ट्स बजट

अब इस बजट का ब्रेकडाउन भी दे देते हैं. निर्मला सीतारमण ने जो बजट पेश किया है, उसमें स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया का बजट 653 करोड़ से बढ़ाकर 785.52 करोड़ कर दिया गया है. खेलो इंडिया नेशनल प्रोग्राम की बात करें तो इसे 606 करोड़ से बढ़ाकर 1045 करोड़ कर दिया गया है.

नाडा यानी नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी को 21.73 करोड़ रुपये दिए गए हैं. नेशनल फेडरेशन्स, जो फुटबॉल, टेनिस, कुश्ती जैसे खेलों को चलाते हैं, उनके लिए 325 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं. पिछले साल नेशनल फेडरेशन्स को 280 करोड़ का आवंटन दिया गया था.

दुनिया भर के देश स्पोर्ट्स में बेहतर करने की कोशिश कर रहे हैं. एथलीट्स के लिए स्पोर्ट्स साइंस औऱ वैज्ञानिक प्रशिक्षण पर अधिक ध्यान भी दे रहे हैं. इस साल के बजट में राष्ट्रीय खेल विज्ञान और अनुसंधान केंद्र (National Centre of Sports Science and Research) का भी प्रावधान किया गया है. इसके लिए सरकार ने 13 करोड़ रुपये दिए हैं.

वीडियो: Ind vs Pak हुआ तो पाकिस्तान भारत को हरा देगा?