The Lallantop
Logo
लल्लनटॉप का चैनलJOINकरें

अर्शदीप ने डेब्यू के साथ ही कर ली सालों पुराने रिकॉर्ड की बराबरी

आगरकर और झूलन के क्लब में पहुंचे अर्शदीप.

post-main-image
अर्शदीप सिंह (फोटो: ट्विटर)

भारत ने तीन T20I मैच की सीरीज़ के पहले मुकाबले में इंग्लैंड को 50 रन से हरा दिया. भारत की इस जीत में हार्दिक पंड्या का बड़ा योगदान रहा. हार्दिक के अलावा भारत के लिए अपना डेब्यू मैच खेल रहे अर्शदीप सिंह ने भी शानदार प्रदर्शन किया. अर्शदीप को IPL2022 में बेहतरीन प्रदर्शन के बाद इंडिया डेब्यू का मौका मिला. और अर्शदीप ने अपने T20I डेब्यू मैच में पहला ओवर ही मेडेन फेंका. उन्होंने मैच में 3.3 ओवर में 18 रन देकर दो विकेट झटके. इस बाएं हाथ के पेसर ने रीस टॉपली और मैट पार्किंसन के विकेट लिए.

अर्शदीप की शानदार गेंदबाज़ी पर पूर्व भारतीय गेंदबाज़ इरफान पठान ने ट्वीट किया,

‘अर्शदीप ने इंटरनेशनल लेवल पर शानदार पहला ओवर फेंका. आपको बहुत आगे जाना है.’

दिग्गज कॉमेंटेटर हर्षा भोगले ने भी अर्शदीप की तारीफ़ की. हर्षा ने ट्वीट किया,

‘अर्शदीप ने पावरप्ले में शानदार स्किल दिखाई.’

संजय मांजरेकर ने भी अर्शदीप की शानदार गेंदबाज़ी की तारीफ की. मांजरेकर ने ट्वीट किया,

‘अर्शदीप नई गेंद को दोनों तरफ स्विंग कर सकते हैं, बढ़िया यॉर्कर डाल सकते हैं, बाउंसर भी फ़ेंक सकते हैं. साथ ही उनके पास स्लोअर बॉल के तीन वर्जन भी हैं. इस हिसाब से सारे नए सीमर्स में अर्शदीप के पास सबसे ज्यादा रेंज है.’

बता दें कि अब अर्शदीप अपने डेब्यू T20I मैच में मेडेन ओवर फेंकने वाले तीसरे भारतीय गेंदबाज बन गए हैं. उन्होंने 16 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा. अर्शदीप साल 2006 के बाद अपने T20I डेब्यू पर मेडेन ओवर फेंकने वाले पहले भारतीय गेंदबाज़ भी बन गए हैं. उनसे पहले अजित आगरकर और झूलन गोस्वामी ऐसा कर चुके हैं. साल 2006 में झूलन गोस्वामी ने भारत के पहले महिला T2I0 मैच में, और आगरकर ने पहले पुरुष T20I मैच में मेडेन ओवर फेंका था.

बाएं हाथ के पेसर अर्शदीप IPL2022 में पंजाब किंग्स का हिस्सा थे. IPL के इस सीज़न में उन्होंने 14 मैच में 10 विकेट झटके. बाएं हाथ के पेसर अर्शदीप डेथ ओवर में लगातार यॉर्कर डाल सकते हैं. IPL2022 में अपने इसी हथियार से उन्होंने दिग्गज बल्लेबाजों को परेशान किया था. 37 IPL मैच में उनके नाम कुल 40 विकेट हैं. इस दौरान उनकी इकॉनमी 8.35 की रही.

अपने डेब्यू मैच के बाद अर्शदीप सिंह ने इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए कहा,

‘मैं बेशक हर एक बैट्समैन के बारे में प्लान करता हूं, लेकिन प्री-मैच प्लानिंग हर बार काम नहीं आती. बहुत कुछ विकेट पर निर्भर करता है. इसके अलावा मूवमेंट और ग्राउंड डायमेंशन भी मैटर करता है.’

उन्होंने आगे कहा, 

‘T20 क्रिकेट में परिस्थितियों के मुताबिक खुद को ढालने की कला बहुत मायने रखती है. कभी भी बैटर के स्ट्रांग एरिया में गेंद नहीं डालनी चाहिए. मैंने ऐसा खुद किया है. और यह मेरे लिए काम करता है. जहां तक मेरी बात है, मैं बैट्समैन की रेपुटेशन की नहीं सोचता, बल्कि मैं हमेशा अपनी स्ट्रेंथ पर फोकस करता हूं.’

IPL2022 में शानदार प्रदर्शन के बाद अर्शदीप को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच T20I मैच की सीरीज़ के लिए भी भारतीय टीम में चुना गया था. हालांकि, उस सीरीज़ में उन्हें खेलने का मौका नहीं मिला. आयरलैंड के खिलाफ भी दो T20I मैच की सीरीज़ में वो प्लेइंग XI का हिस्सा नहीं बन पाए थे. हालांकि, इंग्लैंड के खिलाफ पहले T20I में भारत के लिए खेलने का उनका सपना पूरा हो गया. लेकिन डेब्यू T20I में शानदार प्रदर्शन के बावजूद वो अगले दो T20I नहीं खेल पाएंगे, क्योंकि वो दूसरे और तीसरे T20I के लिए चुनी गई भारतीय टीम में शामिल नहीं है.

कैप्टन रोहित शर्मा इंग्लैंड के खिलाफ इंडियन फील्डिंग से नाख़ुश क्यों हैं?