Submit your post

Follow Us

सोशल मीडिया पर मां के रेप की धमकी देने वालों, क्या करोगे जब मेरी मां तुम्हारे सामने आएगी?

एक दिन ऑफिस में मुझसे कई साल सीनियर एक साथी ने बहुत बढ़िया बात कही. कि मुझे मेरी मां का रेप करने की धमकी देने वाले तब क्या करेंगे जब मेरी 65 साल की मां सचमुच उनके सामने आकर खड़ी हो जाएंगी. ये किसी तरह की चुनौती नहीं. जो बात मुझे यहां समझ में आई, वो ये, कि हमारी गालियों में माताओं और बहनों का ज़िक्र जितना ज़्यादा है, उनकी मौजूदगी उतनी ही कम. हम इन गालियों के इस्तेमाल से इतने सहज हैं, कि जब किसी को बहन की गाली देते हैं, हम असल में उसकी बहन के बारे में सोच ही नहीं रहे होते. हमारा मकसद सिर्फ सामने वाले के आत्मसम्मान को किसी भी तरह ठेस पहुंचाने का होता है.

साल 2017 में साइबर प्रोटेक्शन कंपनी नॉर्टन ने एक सर्वे करवाया. ये सर्वे इंटरनेट पर सक्रिय 1000 लोगों के बीच हुआ. सर्वे के नतीजे में हर 10 में से 8 लोगों ने ये माना कि उन्हें इंटरनेट पर किसी न किसी तरह धमकाया, डराया या शोषित किया है. इंटरनेट पर हुआ शोषण किसी भी तरह का हो सकता है. मसलन, कोई आपका फेक अकाउंट बना ले. आपकी तस्वीरें चुरा ले. कोई आपके साथ कोई और बनकर बात करे. आपके साथ किसी तरह का फ्रॉड करे. या आपके साथ गाली-गलौच करे.

PP-KA-COLUMN_010616-070408-600x150

और जैसा कि दुनिया का सबसे बड़ा सच है, किसी भी समाज में हर चीज़ का खतरा औरतों को पुरुषों के मुकाबले ज़्यादा होता है. ऑनलाइन शोषण का भी यही हाल है. मैं दावे के साथ कह सकती हूं कि सोशल मीडिया पर मुखर उपस्थिति रखने वाली हर लड़की के साथ किसी न किसी तरह का शोषण हुआ है. भद्दी बातें कहना, गालियां देना, उन्हें गुप्तांगों की तस्वीर भेजना; सबसे कॉमन तरीके हैं.

चूंकि सोशल मीडिया आम जीवन के मुकाबले कहीं ज्यादा लोकतांत्रिक दिखती है, उसे अराजकता तक ले जाना काफी आसान है. ऑनलाइन शोषण में इस बात बात का फर्क नहीं पड़ता कि अगली औरत उम्र में कितनी बड़ी, ओहदे में कितनी सीनियर, पैसों से कितनी धनी, और औकात में कितनी ताकतवर है. अगले के लिए इतना ही काफी है कि वो औरत है. फिर चाहे वो बड़ी लेखिका हो, पत्रकार हो, खिलाड़ी हो या एक्ट्रेस.

लड़कियों का शोषण करने का सबसे आसान तरीका होता है उन्हें वेश्या, छिनाल या रंडी कहना. पुरुष उनसे उनका रेट पूछते हैं. पूछते हैं कि किस-किस से उनके शारीरीक संबंध रह चुके हैं. उनके पेट में किसका बच्चा पल रहा है. कुछ ये भी पूछते हैं कि उनके अंग विशेष को मुंह में लेने के लिए उन्हें कितने पैसे चाहिए.

वैसी ही एक घटना का स्क्रीनशॉट यहां लगा हुआ है लेकिन हम उसे आपको पढ़वा नहीं सकते.
वैसी ही एक घटना का स्क्रीनशॉट यहां लगा हुआ है लेकिन हम उसे आपको पढ़वा नहीं सकते.

लड़कियों से ये अपेक्षित है कि वो कमेंट डिलीट कर दें. कोई अनुभवी व्यक्ति उनसे आकर कहेगा कि कुत्तों के भौंकने पर हाथी अपनी चाल थोड़े ही बदलता है. बुजुर्ग कहेंगे कि जाने दो. कुछ दोस्त कहेंगे कि कौन सा तुम्हारा असल में किसी ने दामन पकड लिया. तुम्हारा असल में तो रेप नहीं हुआ. सामने वाले ने तुम्हें असल में आकर गाली तो नहीं दी. और इस तरह हम शिकायत करने के पहले इंतज़ार करते हैं कि पहले ये असल में हों.

ये बात सच है कि सोशल मीडिया पर मिलने वाली धमकियों के असल मायने ज़्यादा नहीं होते. मगर जब-जब हम असल और वर्चुअल में इस तरह का भेद करते हैं, हम लिखित या बोले हुए अब्यूज़ को शारीरिक अब्यूज़ से छोटा आंकते हैं. और उसे छोटा आंकने के प्रयास में हम भूल जाते हैं कि मानसिक शोषण भी शोषण ही होता है.

हममें से कई लडकियां हैं जिनको इस तरह की बातें कही जाती हैं. आज से लगभग 6 साल पहले जब एक व्यक्ति ने मुझे टैग कर मुझे लगातार कई ट्वीट किए, जिसमें से अधिकतर मेरे प्राइवेट पार्ट्स और सेक्स लाइफ को निशाना बना रहे थे, जो सबसे पहला काम मैंने किया, वो ट्विटर को छोड़कर भाग जाना था. जब फेसबुक पर ऐसा हुआ तो मैंने फॉलो करने के ऑप्शन क्लोज़ कर दिया. इस तरह की समस्याओं से निजात पाने के लिए जो पहला तरीका हम अपनाते हैं, वो यही है. इसमें हमारा दोष है, मैं ये नहीं कहूंगी. हम सभी, चाहे वो औरत हों या पुरुष, कंप्लेंट और कानून के पचड़ों में फंसना नहीं चाहते.

मगर उस आदमी के ऐसा करने के बाद मैं भयानक तरीके से डर गई, ये भी एक सच है. मुझे हॉस्टल से बाहर निकलने में हमेशा इस बात का डर रहता कि जिस व्यक्ति ने मुझे गालियां देने के पहले मेरी तस्वीरों में मेरे कॉलेज की बिल्डिंग को देख लिया है, वो कहीं यहां आकर मुझपर तेज़ाब न फेंक दे. कहीं वो मेरी किसी सहेली का शोषण न करे. कहीं वो किसी से मेरा फोन नंबर न निकाल ले. कहीं वो सोशल मीडिया से मेरी तस्वीरें चुराकर उन्हें मॉर्फ़ न कर दे.

असल तस्वीरों को किस तरह से मॉर्फ किया जाता उसे समझाने के लिए ये ये तसवीर यहां लगाई गई है. कई बार इसमें लड़कियों के चेहरे बदल दिए जाते हैं, तो कई बार उन्हें अश्लील बना दिया जाता है.
असल तस्वीरों को किस तरह से मॉर्फ किया जाता, उसे समझाने के लिए ये ये तस्वीर यहां लगाई गई है. कई बार इसमें लड़कियों के चेहरे बदल दिए जाते हैं, तो कई बार उन्हें अश्लील बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया जाता है. हाथ से लिखा गया वाला पन्ना असली है. 

आज कई साल बाद मुझे से एहसास होता है कि डर, मानसिक प्रताड़ना थी जो किसी के चंद ट्वीट मेरे लिए लेकर आए थे. डर-डरकर घर से बाहर निकलना और अपने ही सोशल मीडिया अकाउंट का पासवर्ड हैकिंग के डर से हर दिन बदलते रहना कोई सुखद एहसास नहीं था. कंप्लेंट और कानून के पचड़े में पड़ना, इस डर के साथ जीने से बेहतर विकल्प है.

मुझे ऐसा लगता है सोशल मीडिया पर बड़ी सहजता से गाली देने वालों को शायद ये एहसास नहीं है कि उनकी कही हुई बातें यौन शोषण में आती हैं. वो जब आधे सेकंड में टाइप कर किसी औरत को छिनाल कह देते हैं, वो असल में उसकी कई रातों की नींद खराब कर देते हैं. अगर गालियां टाइप कर कमेंट पोस्ट करने वालों में से कोई भी ये पढ़ या वीडियो देख रहा हो, तो मैं आज आपको बताना चाहती हूं कि ‘चलता है’ और ‘गलती हो गई’ का भाव यहां काम नहीं करेगा. कल अगर आपकी मां को पता पड़ेगा कि आपने किसी और की मां का रेप करने की धमकी दी है, तो आप किसी को मुंह दिखाने लायक रहेंगे या नहीं, ये सोचें.

जब भी आप इंटरनेट पर किसी औरत को ये सोचकर गाली देते हैं कि आखिर वो कर ही क्या लेगी, आपको अपनी ताकत या सत्ता का प्रदर्शन करने का गुमान होता है. मगर आप एक कानूनन अपराध कर रहे होते हैं, इस बात का ध्यान रखें. क्योंकि अगर एक दिन सोशल मीडिया पर साइबर शोषण का शिकार हो रही लड़कियां एकजुट होकर न्यायपालिका तक पहुंच गईं, तो आप बचेंगे नहीं.


ये भी पढ़ें:

वीर्य का त्यौहार ख़त्म, अब भीगी हुई लड़कियों की तस्वीरें देखें

तमाम पुरुषों के नाम, जिनको रोने की छूट नहीं है

होली आ गई, भीगी लड़कियों की ‘हॉट तस्वीरें’ नहीं देखोगे?


वीडियो देखें: मोहम्मद शमी और उनकी पत्नी हसीन जहां के बारे में वो बातें जो आपको किसी ने नहीं बताईं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

आरामकुर्सी

56 कलावंत जो नहीं रहे बीते सालः बस इतना याद रहे, इक साथी और भी था

56 कलावंत जो नहीं रहे बीते सालः बस इतना याद रहे, इक साथी और भी था

2022 का स्वागत, गुज़रे हुओं की याद के साथ.

बचपन से जवानी तक सलमान खान की 'पर्सनल हिस्ट्री'

बचपन से जवानी तक सलमान खान की 'पर्सनल हिस्ट्री'

32 बरस पहले एक बच्चा 'मैंने प्यार किया' से बना सलमान का दोस्त. कहानी अभी जारी है.

महामहिमः राजेंद्र प्रसाद और नेहरू का हिंदू कोड बिल पर झगड़ा किस बात को लेकर था?

महामहिमः राजेंद्र प्रसाद और नेहरू का हिंदू कोड बिल पर झगड़ा किस बात को लेकर था?

कहानी नेहरू और प्रसाद के बीच पहले सार्वजनिक टकराव की.

अरूसा आलम: जनरल रानी की बेटी, जिसने हिंदुस्तानी पंजाब की राजनीति के समीकरण बदल दिए

अरूसा आलम: जनरल रानी की बेटी, जिसने हिंदुस्तानी पंजाब की राजनीति के समीकरण बदल दिए

इस कहानी के पात्र हैं- पत्रकार अरूसा आलम, पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और पूर्व ISI चीफ जनरल फैज़ हमीद.

लता ने पल्लू खोंसा और बोलीं, 'दोबारा दिखा तो गटर में फेंक दूंगी, मराठा हूं'

लता ने पल्लू खोंसा और बोलीं, 'दोबारा दिखा तो गटर में फेंक दूंगी, मराठा हूं'

जानिए लता मंगेशकर के उस रूप के बारे में, जिससे बहुत कम लोग परिचित हैं.

यूपी का वो गैंगस्टर, जिसने रन आउट होते ही अंपायर को गोली मार दी

यूपी का वो गैंगस्टर, जिसने रन आउट होते ही अंपायर को गोली मार दी

फिल्मी कहानी से कम नहीं खान मुबारक की जिंदगी?

देश के 13वें उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू देश को इमरजेंसी की देन हैं

देश के 13वें उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू देश को इमरजेंसी की देन हैं

इन्होंने अटल के लिए सड़क बनाई थी और मोदी के लिए किले. अब उपराष्ट्रपति हैं.

मुख़्तार अंसारी, सुनहरा चश्मा पहनने वाला वो 'नेता' जो मीडिया के सामने बैठकर पिस्टल नचाता था

मुख़्तार अंसारी, सुनहरा चश्मा पहनने वाला वो 'नेता' जो मीडिया के सामने बैठकर पिस्टल नचाता था

गैंग्स्टर से नेता बने मुख़्तार अंसारी के क़िस्से.

जैन हवाला केस क्या है, जिसके आरोपों के छींटे बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ के ऊपर पड़ रहे हैं

जैन हवाला केस क्या है, जिसके आरोपों के छींटे बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ के ऊपर पड़ रहे हैं

इस केस में आरोप लगने के बाद आडवाणी को इस्तीफा देना पड़ा था.

इलॉन मस्क, जिसे असल दुनिया का आयरन मैन कहा जाता है

इलॉन मस्क, जिसे असल दुनिया का आयरन मैन कहा जाता है

जो स्कूल में बच्चों से पिट जाता था, वो दुनिया के सबसे अमीर इंसानों की लिस्ट में कैसे पहुंचा.

सौरभ से सवाल

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

'सिर्फ तुम' के बाद क्या-क्या किया उन्होंने?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

सबसे बड़े खान का नाम सुनकर आपका फिल्मी ज्ञान जमीन पर लोटने लगेगा. और जो झटका लगेगा तो हमेशा के लिए बुद्धि खुल जाएगी आपकी.

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

कहां है टेलीविज़न का वो आइकॉनिक किरदार निभाने वाली ऐक्ट्रेस श्वेता तिवारी?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

मंदाकिनी जिन्हें 99 फीसदी भारतीय सिर्फ दो वजहों से याद करते हैं

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

‘दामिनी’ के जरिए नई ऊंचाई तक पहुंचा मीनाक्षी का करियर . फिर घातक के बाद 1996 में उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को बाय बोल दिया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एडवेंचर ऑफ टॉर्जन की हिरोइन किमी काटकर अब ऑस्ट्रेलिया में हैं. सीधी सादी लाइफ बिना किसी एडवेंचर के

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.