Submit your post

Follow Us

क्या आप फुद्दू हैं?

353
शेयर्स

फुद्दू. आपने ये शब्द पहले सुना है? नहीं सुना? तो लो आज सुन लो. वो भी पर्याप्त मात्रा में. साथ ही साथ मतलब भी जान लो. काम आएगा. पता होगा कहां इसको फिट करोगे तो आपकी बात में चार चांद लग जाएंगे. सबसे पहले तो ये बताता हूं कि आज फुद्दू की बात क्यों कर रहा हूं. एक फिल्म आ रही है फुद्दू नाम से. इसके अलावा उड़ता पंजाब में शाहिद का फुद्दू हेयर-कट है. बाल ऐसे कटवाए कि फुद्दू उभर के आया. बंदा खुद को फुद्दू कहलवाके खुश है. वाह रे तेरा वखरा स्वैग नी.

ChLjBhjUcAAmd-9

कौन है सबसे बड़ा फुद्दू
आप. अगर आपको इसका मतलब नहीं पता. पर चिंता ना करो आज पता लगेगा तो जल्दी फ्रैंडली भी हो जाओगे. पर अभी तो आप औक्खे हो गए हो. कि हमें फुद्दू कैसे बुला दिया. तो भइया ये प्यार से कहा है. नोनू सोनू स्वीटू बेटू की तरह फुद्दू. जैसे लड़की प्यार से कहती है. आंखों में पल्स वाली हरी नमकीन चमक लाकर. स्टूपिड. वैसा ही कुछ.

क्या होता है फुद्दू?
फुद्दू नहीं सुना होगा तो चू*या तो ज़रूर सुना होगा. हां तो वही है ये भी. उत्तर भारत के कई प्रदेशों में चू*या कहके मन हल्का कर लेते हैं. कई जगह इसको लेकर मारकाट मच जाती है. हमने भी न्यूज रूम में खूब बहस की. कि चू*या गाली है या नहीं. तो शब्द के मूल तत्व में तो है. क्योंकि यह एक जेंडर के एक अंग विशेष से जोड़ती है. पर पीपी बता रही थी कि यूपी में कानपुर, उरई, लखनऊ जैसी जगहों पर चाचियां, मौसियां भी इसका भरपूर इस्तेमाल करती हैं. जैसे, सब्जी वाला आया. 250 ग्राम परवल तुलाया. बोला, लाओ बहन जी 15 रुपये. और पम्मी भाभी ने दिया चटाक से. चू*या न बनाओ, अक्खन 12 रुपये में बेच गया है सुबह.

पर आज हम चू*या पर नहीं फुद्दू पर बात करने वाले हैं.

इस शब्द का एग्ज़ैक्ट मीनिंग है नासमझ, पागल, निक्कमा, नालायक. तो देखिए ना इस शब्द की खासियत, एक साथ ही कितने लोगों को अपनी चपेट में ले लेता है. कोई अजीब हरकत करे तो फुद्दू. कोई तंग करे तो फुद्दू. कोई घटिया बात करे तो फुद्दू. और अगर कोई कुछ ना भी करे तो भी फुद्दू. तो ये जो फुद्दू शब्द है, बड़े काम की चीज़ है. आपकी भड़ास भी निकाल देता है और सामने वाले को थोड़ा सा ऑफेंड करता हुआ चेतावनी देता है कि भाई सुधर जा. एक खास बात और है इस शब्द में. आप इसका मतलब जानते होंगे तो हर बार इसको बोलते वक्त चहरे पर एक अलग एक्सप्रैशंस होंगे. जैसे कि जब गुस्से में किसी को बोल रहे हो तो माथे पर सलवटें लाते हुए और बिल्ली की तरह आखें भींचते हुए बोलोगे, “फुद्दू है साले”. जब कोई शरारत कर दे तो हल्की सी मुस्कान के साथ एट ईज़ होकर बोलोगे, “फुद्दू साले”. ये जो ‘साला’ शब्द है, फुद्दू के साथ फ्री मिलता है. बिना ‘साले’ के ये महान शब्द अधूरा है. चलते-फिरते, आते-जाते किसी के भी साथ लगा दिया जाता है इसे. और कईयों के लिए तो ये शब्द उसकी परछाई ही बन जाता है. ऐसे में उसकी कोई भी बात चले तो सब कहते हैं “छोड़ उसे, वो तो है ही फुद्दू”.

कहां से आया फुद्दू
फुद्दू शब्द का जन्म हुआ उत्तरी भारत को सबसे हरे-भरे राज्य पंजाब में. शब्द अनाथ है इसलिए इसकी जन्म तिथि पता लगाना मुश्किल है. हमें भी विरासत में मिला. स्कूल टाइम से बोलते आ रहे हैं. लेकिन ये शब्द अमर है. और अमर किया हम जैसे लोगों ने. अच्छी-बुरी हर चीज़ में फिट कर देते हैं. बड़ा ही लाइट वेट शब्द है तो किसी के आगे बोलने में ज़्यादा सोचना भी नहीं पड़ता. जिसे इसका मतलब पता है वो खुद भी इसे दिन में 8-10 बार यूज़ कर लेता है. और जो नहीं जानते वो जब तक इस शब्द पे गौर करते हैं तब तक ये खत्म हो जाता है. तो कुल मिला कर बात ये है कि फुद्दू शब्द हम पंजाबियों जैसा ही है. ज़्यादा लोड नहीं लेता.

कहां पाए जाते हैं फुद्दू
वहां-वहां जहां आक्सीज़न होती है. जी हां, दुनिया भरी पड़ी है फुद्दूओं से. देखने में इन लोगों की कोई खास पहचान नहीं होती. लेकिन इनकी हरकतें जल्द ही इन्हें ये उपाधि दे देती हैं. और खास बात देखिए न, हर जीव फुद्दू है, किसी ना किसी के लिए. किसी का नाम याद रहे ना रहे उसकी हरकतें ज़रूर रह जाती हैं. तो बस फिर नाम का क्या करना. सीधा बोलते हैं, “अरे वो फुद्दू है ना जो…”

बिहार के भाई इस तरह के पॉज को अथी से भरते हैं, इंग्लिश मीडियम वाले आलाप के पहले का आआआ करते हैं. क्यूटत्व के मारे इसे awww  न समझें.

क्या सीमाएं हैं फुद्दू की
ये वही यूज़ कर सकते हैं जहां सामने वाले को थोड़ा सा ही ऑफेंड करना हो. इतना की दोस्ती भी आहत ना हो और गुस्सा भी निकाल लिया जाए. लिमिटेशन ये है कि जिन फुद्दुओं का दर्जा ज़्यादा बड़ा है, उन्हे फुद्दू बोलो तो ये शब्द फीका लगने लगता है. इसलिए उनके लिए बनाने पड़े भारी भरकम शब्द. एग्ज़ाम्पल देता हूं. सतबीर वीरे ने सुनाया सी. बादल सरकार जब साल 2007 में सत्ता में आई, तो उसके 2-3 साल बाद ही वो फुद्दू कहलाने लगी. और अब 9 साल बाद आलम ये है कि उनको फुद्दू कहना इज़्ज़त देना हो गया है. क्योंकि कारनामे फुद्दू से कई आगे बढ़ गए हैं.

017feb19rb453r4a96r85d6r2960dac9321f
फोटो: DOJOKE.COM

कौन हो सकते हैं ऑफेंड
वो जो इसको एक गाली से रिलेट करके देखते हैं. ऐसे ही जैसे की हमारे पंजाब में चू*या को कर लिया जाता है. हां, हमारे पंजाब में इसे गाली माना जाता है. लेकिन यूपी के आस पास नहीं. मैने अपने दोस्तों के बताया तो वे बोले कि भईया ऐसा होता तो हमारी मम्मी थोड़ी हमें वो मैसेज भेजती जिसमें बड़ा बड़ा चू*या लिखा होता है.

दो साल पहले की बात है. चंडीगढ़ में हमारे न्यूज़ रूम में मीटिंग चल रही थी. दिल्ली से आई एक लड़की किसी को बोली कि चू*या है क्या? और सब उसकी तरफ ऐसे मुड़कर देखने लगे जैसे उसने किसी की किडनी मांग ली.

और कहां-कहां यूज़ हुआ फुद्दू
विकी डोनर में आयुष्मान ने. पंजाबी दिखाया है ना, तो फुद्दू ना बोलता तो कैसे चलता.

अब फुद्दू फिल्म फुद्दू है या नहीं, यह तो आप बताएंगे.

maxresdefault (2) fuddu

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गंदी बात

'इस्मत आपा वाला हफ्ता' शुरू हो गया, पहली कहानी पढ़िए लिहाफ

उस अंधेरे में बेगम जान का लिहाफ ऐसे हिलता था, जैसे उसमें हाथी बंद हो.

PubG वाले हैं क्या?

जबसे वीडियो गेम्स आए हैं, तबसे ही वे पॉपुलर कल्चर का हिस्सा रहे हैं. ये सोचते हुए डर लगता है कि जो पीढ़ी आज बड़ी हो रही है, उसके नास्टैल्जिया का हिस्सा पबजी होगा.

बायां हाथ 'उल्टा' ही क्यों हैं, 'सीधा' क्यों नहीं?

मां-बाप और टीचर बच्चों को पीट-पीट दाहिने हाथ से काम लेने के लिए मजबूर करते हैं. क्यों?

फेसबुक पर हनीमून की तस्वीरें लगाने वाली लड़की और घर के नाम से पुकारने वाली आंटियां

और बिना बैकग्राउंड देखे सेल्फी खींचकर लगाने वाली अन्य औरतें.

'अगर लड़की शराब पी सकती है, तो किसी भी लड़के के साथ सो सकती है'

पढ़िए फिल्म 'पिंक' से दर्जन भर धांसू डायलॉग.

मुनासिर ने प्रीति को छह बार चाकू भोंककर क्यों मारा?

ऐसा क्या हुआ, कि सरे राह दौड़ा-दौड़ाकर उसकी हत्या की?

हिमा दास, आदि

खचाखच भरे स्टेडियम में भागने वाली लड़कियां जो जीवित हैं और जो मर गईं.

अलग हाव-भाव के चलते हिजड़ा कहते थे लोग, समलैंगिक लड़के ने फेसबुक पोस्ट लिखकर सुसाइड कर लिया

'मैं लड़का हूं. सब जानते हैं ये. बस मेरा चलना और सोचना, भावनाएं, मेरा बोलना, सब लड़कियों जैसा है.'

ब्लॉग: शराब पीकर 'टाइट' लड़कियां

यानी आउट ऑफ़ कंट्रोल, यौन शोषण के लिए आमंत्रित करते शरीर.

औरतों को बिना इजाज़त नग्न करती टेक्नोलॉजी

महिला पत्रकारों से मशहूर एक्ट्रेसेज तक, कोई इससे नहीं बचा.

सौरभ से सवाल

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

'सिर्फ तुम' के बाद क्या-क्या किया उन्होंने?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

सबसे बड़े खान का नाम सुनकर आपका फिल्मी ज्ञान जमीन पर लोटने लगेगा. और जो झटका लगेगा तो हमेशा के लिए बुद्धि खुल जाएगी आपकी.

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

कहां है टेलीविज़न का वो आइकॉनिक किरदार निभाने वाली ऐक्ट्रेस श्वेता तिवारी?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

मंदाकिनी जिन्हें 99 फीसदी भारतीय सिर्फ दो वजहों से याद करते हैं

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

‘दामिनी’ के जरिए नई ऊंचाई तक पहुंचा मीनाक्षी का करियर . फिर घातक के बाद 1996 में उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को बाय बोल दिया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एडवेंचर ऑफ टॉर्जन की हिरोइन किमी काटकर अब ऑस्ट्रेलिया में हैं. सीधी सादी लाइफ बिना किसी एडवेंचर के

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.