Submit your post

Follow Us

हिंदू रक्षा दल के पिंकी चौधरी की जमानत याचिका खारिज करते हुए कोर्ट ने तालिबान का जिक्र क्यों किया?

दिल्ली (Delhi) की एक अदालत ने जंतर-मंतर भड़काऊ नारेबाजी मामले में अग्रिम जमानत से जुड़ी एक याचिका खारिज कर दी. याचिका खारिज करते हुए कोर्ट ने सख्त टिप्पणी भी की. उसने यहां तक कह दिया कि देश में तालिबानी राज नहीं है. अग्रिम जमानत की याचिका भूपेंद्र तोमर उर्फ पिंकी चौधरी (Pinky Chaudhary) ने लगाई थी. उन पर आरोप है कि हाल में जंतर-मंतर पर कथित भड़काऊ और मुस्लिम विरोधी नारे उन्होंने ही लगवाए थे. जानते हैं कोर्ट ने पिंकी चौधरी की अग्रिम जमानत याचिका रद्द करते हुए क्या कहा.

मामला क्या है?

बीती 8 अगस्त को दिल्ली के जंतर-मंतर पर बिना अनुमति के एक बड़ा कार्यक्रम आयोजित किया गया. करीब 5 हज़ार लोग जुटे. आरोप है कि इस दौरान कुछ लोगों ने मुस्लिम समुदाय के ख़िलाफ़ भड़काऊ नारे लगाए. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ.

अगले दिन यानी 9 अगस्त को कनॉट प्लेस थाने में FIR दर्ज की गई. छह लोगों को गिरफ्तार किया गया. इनमें दिल्ली प्रदेश बीजेपी के पूर्व प्रवक्ता अश्विनी उपाध्याय भी शामिल थे. उन पर आरोप है कि उन्होंने ही इस कार्यक्रम का आयोजन किया था. मामले में उन्हें गिरफ्तार भी किया गया था. लेकिन भड़काऊ नारेबाजी के पीछे उनकी कथित भूमिका को लेकर कोई स्पष्ट सबूत नहीं मिलने पर अदालत ने अश्विनी उपाध्यय को जमानत दे दी थी.

इसी घटनाक्रम में एक किरदार अब भी पुलिस की पहुंच से दूर रहा. उसका नाम है पिंकी चौधरी. गाजियाबाद के रहने वाले पिंकी चौधरी का असली नाम भूपेंद्र शर्मा है. लोग उन्हें ‘पिंकी भैया’ के नाम से भी बुलाते हैं.

पिंकी चौधरी हिंदू रक्षा दल नाम के संगठन से जुड़े हैं. 5 जनवरी 2020 को जब JNU में हिंसा हुई थी, तब पिंकी चौधरी ने उसकी जिम्मेदारी ली थी. पिंकी ने कहा था,

JNU लगातार देशविरोधी हरकतों का अड्डा बनता जा रहा है. हम इसे बर्दाश्त नहीं कर सकते. JNU में जो हिंसा हुई है, हम उसकी पूरी जिम्मेदारी लेते हैं. मैं कहना चाहता हूं कि हमला करने वाले हमारे कार्यकर्ता थे.

कुछ ऐसी ही बात पिंकी चौधरी ने जंतर-मंतर पर मुस्लिम विरोधी नारे लगाने वालों के लिए कही. उन्होंने कई टीवी चैनल पर जाकर कहा कि नारे लगाने वाले उनके लोग थे और वो खुद भी मौके पर मौजूद थे. पिंकी चौधरी मीडिया को इंटरव्यू देते रहे, लेकिन पुलिस की पकड़ में नहीं आए. उसी से बचने के लिए पिंकी चौधरी ने कोर्ट का रुख किया ताकि अग्रिम जमानत लेकर जेल जाने से बच जाएं.

Jantar Mantar Ashwini Upadhyay Anti Muslim Slogan
जंतर-मंतर पर सुप्रीम कोर्ट के वकील अश्विन उपाध्याय ने बिना परमीशन बड़ा कार्यक्रम कर डाला. कार्यक्रम के कुछ वीडियो वायरल हैं जिसमें लोग मुसलमानों के खिलाफ भड़काऊ नारे लगाते दिख रहे हैं.

‘हम तालिबान स्टेट नहीं हैं’

लेकिन कोर्ट ने पिंकी को कोई अग्रिम राहत नहीं दी. 21 अगस्त को अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अनिल अंतिल ने उनकी याचिका पर सुनवाई की. उन्होंने पिंकी को जमानत देने से साफ इनकार कर दिया. लाइव लॉ के मुताबिक, न्यायाधीश अनिल अंतिल ने कहा,

“हम तालिबान स्टेट नहीं हैं. हमारे बहुल और बहुसांस्कृतिक समाज में कानून के पवित्र शासन का सिद्धांत है. जब पूरा भारत आज़ादी का अमृत महोत्सव (स्वतंत्रता दिवस) मना रहा है तब कुछ लोग अभी भी असहिष्णु और आत्मकेंद्रित विश्वासों के साथ जकड़े हुए हैं. अदालत के सामने रखे गए तथ्यों से पता चलता है कि कथित मामले में अपराध के पीछे आवेदक/अभियुक्त की संलिप्तता प्रथम दृष्टया स्पष्ट है.”

अदालत ने आगे कहा,

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार ‘पूर्ण नहीं’ है, न ही इसे अन्य लोगों के मौलिक अधिकार का उल्लंघन करने के लिए बढ़ाया जा सकता है. न ही इसका शांति, सद्भाव और पब्लिक आर्डर के प्रतिकूल कृत्यों तक विस्तार किया जा सकता है, न ही इसे हमारे समाज के धर्मनिरपेक्ष ताने-बाने पर आक्रमण करने और नष्ट करने की अनुमति दी जा सकती है.

खबर के मुताबिक, कोर्ट ने अग्रिम जमानत की याचिका खारिज करते हुए कहा,

“आवेदक हिंदू रक्षा दल का अध्यक्ष है. उसके भाषण के स्वर और इंटरव्यू में इस्तेमाल किए गए धमकी भरे शब्दों को ध्यान में रखते हुए उनके कद और प्रभाव की पृष्ठभूमि में विश्लेषण किया गया है. इस बात की मजबूत संभावना है कि अगर उसे जमानत पर रिहा किया जाता है, तो आवेदक/अभियुक्त जांच में बाधा डालेगा और गवाहों को प्रभावित करेगा और/या धमकी देगा”

इससे पहले बीती 13 अगस्त को एक अदालत ने इसी मामले में 3 आरोपियों को जमानत देने से इनकार कर दिया था. उन पर भी जंतर-मंतर पर भड़काऊ और मुस्लिम विरोधी नारे लगाने के आरोप हैं.


वीडियो – जंतर मंतर पर भड़काऊ नारेबाजी के मामले में दिल्ली बीजेपी के पूर्व प्रवक्ता समेत 6 गिरफ्तार

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

आर्यन खान केस: किरण गोसावी के बॉडीगार्ड का दावा, 18 करोड़ में डील होने की बात सुनी थी

आर्यन खान केस: किरण गोसावी के बॉडीगार्ड का दावा, 18 करोड़ में डील होने की बात सुनी थी

गवाह प्रभाकर सेल का दावा-8 करोड़ समीर वानखेड़े को देने की बात हुई थी.

LIC पॉलिसी से PAN नंबर लिंक नहीं है, ये बड़ा नुकसान होगा!

LIC पॉलिसी से PAN नंबर लिंक नहीं है, ये बड़ा नुकसान होगा!

लिंक करने का पूरा प्रोसेस बता रहे हैं, जान लीजिए.

यूपी चुनाव: सपा-सुभासपा गठबंधन का ऐलान, राजभर बोले- एक भी सीट नहीं देंगे तो भी समर्थन रहेगा

यूपी चुनाव: सपा-सुभासपा गठबंधन का ऐलान, राजभर बोले- एक भी सीट नहीं देंगे तो भी समर्थन रहेगा

सपा ने ट्वीट कर कहा- 2022 में मिलकर करेंगे बीजेपी को साफ़!

आगरा में पुलिस कस्टडी में सफाईकर्मी की मौत, बवाल के बाद पुलिसकर्मियों पर FIR, 6 सस्पेंड

आगरा में पुलिस कस्टडी में सफाईकर्मी की मौत, बवाल के बाद पुलिसकर्मियों पर FIR, 6 सस्पेंड

थाने के मालखाने से 25 लाख चोरी के आरोप में पुलिस ने पकड़ा था सफाईकर्मी को.

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, कभी खत्म न होने वाली कहानी न बन जाए ये जांच.

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल में भारी बारिश के कारण हुई मौतों की संख्या 35 तक पहुंची.

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

इंसाफ दिलाने के लिए धमकियों और खतरों की परवाह नहीं की.

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.