Submit your post

Follow Us

यूपी पुलिस से जुड़ा ये क्यूट किस्सा आपके चेहरे पर मुस्कान ला देगा

यूपी पुलिस के लिए इधर करीब महीनाभर से गजब गिच्च मचा हुआ है. पहले विकास दुबे वाला कांड. वो तो बहुतै बड़ा हो गया था. फिर कानपुर के कुछ पुलिसवालों का रोड एक्सिडेंट. फिर बैक-टू-बैक कुछ अपहरण कांड. इससे सूबे की पुलिस की तो जो आपा-धापी मची, वो मची ही. साथ इमेज खराब हुई, सो अलग.

लेकिन इस बीच यूपी की ही पुलिस से जुड़ा एक क्यूट किस्सा सामने आया है. ये किस्सा शेयर किया है नवनीत सिकेरा ने. यूपी के ही दबंग आईपीएस ऑफिसर हैं. 60 से ज़्यादा एनकाउंटर कर चुके इस आईपीएस को अखिलेश यादव ने प्रदेश में ‘1090 विमेन पावर लाइन’ की ज़िम्मेदारी दी थी. पढ़िए उन्होंने फेसबुक पर क्या लिखा –

“हुआ यूं कि मेरे पूर्व पीआरओ इंस्पेक्टर साहब अपने कुछ मित्रों के साथ रविवार के लॉकडाउन में पंचायत कर रहे थे. रात के 10 बजे थे. इतने में एक अकेली महिला कॉन्स्टेबल स्कूटी से वहां पहुंचीं और सबकी बढ़िया क्लास लगा दी. ये सभी 5-6 लोग मैडम की क्लास सुनते रहे और सॉरी के अलावा कोई शब्द नहीं था. सभी मित्र दारोगा जी की ओर देखें और दारोगा जी एक्स्ट्रा डांट खाएं. खैर सबने मैडम को सॉरी कहा. मैडम ने स्कूटी स्टार्ट की और चली गईं. पूरे वाकये में तीन बात गौर करने लायक हैं.

पहली- मैं प्रीति सरोज की हिम्मत की सराहना करूंगा कि उन्होंने साहस से काम लिया. रात्रि के समय अकेले 5-6 लोगों से भिड़ने के लिए बहुत हिम्मत चाहिए. दूसरी- प्रीति ने सबको लॉकडाउन के नियम के प्रति चेताया, हड़काया पर कोई भी अपशब्द नहीं कहा. यही आदर्श तरीका होता है पुलिस की ड्यूटी का. ‘Firm BUT Polite’. तीसरी बात- दारोगा जी और उनके साथियों ने विनम्रता से अपनी गलती मानी और अपने से अधीनस्थ पुलिसकर्मी को बिना अपना परिचय दिए सॉरी कहा. और इतना ही नहीं, स्वयं फोन करके इंस्पेक्टर आशियाना को प्रीति सरोज की तारीफ की. मुझे भी प्रीति के साहस के बारे में बताया.”

यूजर्स इस पोस्ट पर हर किसी की तारीफ कर रहे हैं. प्रीति सरोज की उनकी हिम्मत के नाते. दारोगा जी की तारीफ, उनकी विनम्रता के लिए. और नवनीत सिकेरा की तारीफ, ये बात शेयर कर हौसलाअफजाई के लिए.

नवनीत सिकेरा ने कहा- Win-Win सिचुएशन

नवनीत सिकेरा ने आगे लिखा कि इस पूरे घटनाक्रम में देखा जाए, तो सभी के सभी धन्यवाद के पात्र हैं. मैनेजमेंट में इसे विन-विन सिचुएशन कहा जाता है.

उन्होंने लिखा कि उन्हें इस घटना से गुजरात की महिला कॉन्स्टेबल सुनीता यादव की भी याद आई. बहुत संभव है सुनीता ने हज़ारों अपनी सहकर्मी पुलिसकर्मियों को ड्यूटी के प्रति और निष्ठावान बनने के लिए प्रेरित किया हो.

आख़िर में आईपीएस साब ने चुटकी भी ले ली. लिखा-

“खैर ई बताइल दारोगा जी, कैसी लगी हड़काई.”


मंत्री के बेटे को रोकने वाली कॉन्स्टेबल सुनीता यादव को अब धमकियां मिल रही हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

जिस मेट्रो स्टेशन के नीचे दंगे हुए, 5 महीने बाद भी दिल्ली पुलिस ने वहां से CCTV फ़ुटेज नहीं निकाली!

कोर्ट ने कहा, 'पुलिस में अजीब-सी सुस्ती है वीडियो फ़ुटेज को लेकर'

मास्क बांटने के बहाने बच्चे को किडनैप किया, चार करोड़ मांगे, पुलिस ने 24 घंटे में पकड़ लिया

यूपी के गोंडा का मामला, पांच आरोपी भी गिरफ्तार.

चुनाव आयोग ने बीजेपी IT सेल से जुड़ी कंपनी से चुनावी कामधाम करवाया!

ये कम्पनी पूर्व महाराष्ट्र सरकार और दूसरे सरकारी विभागों का भी काम देख रही थी.

इंडिया में कोरोना की वैक्सीन का दाम पता चल गया है, लेकिन पैसे आपको नहीं देने होंगे!

क्या कहा बनाने वाले आदर पूनावाला ने?

बाइक चला रहे CJI बोबड़े पर ट्वीट करने पर twitter और वकील प्रशांत भूषण पर अवमानना का केस हो गया!

सुनवाई में ट्वीट डिलीट करने की बात पर कोर्ट ने क्या कहा?

जाटों-पंजाबियों को बिना बुद्धि का बोलकर माफ़ी मांगने लगे बीजेपी के सीएम

और कौन? वही त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब.

इन तीन परिवारों के उजड़ने की कहानी से समझिए कि कोरोना से बचाव कितना ज़रूरी है

पहले मां की मौत, फिर एक के बाद एक 5 बेटों की मौत

दिशा सालियान की मौत के बाद क्या सुशांत सिंह ने डिप्रेशन की दवाइयां लेनी बंद कर दी थीं?

डॉक्टर ने पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में बताया

मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन नहीं रहे

वो 85 बरस के थे, कई दिनों से अस्पताल में भर्ती थे.

उत्तर बिहार में हर साल क्यों आती है बाढ़, अभी कैसे हैं हालात

भौगोलिक स्थिति समझना बहुत जरूरी है.