Submit your post

Follow Us

ITI स्टूडेंट्स का पूरा एक साल बर्बाद, 2020 में जो कोर्स खत्म होना था उसकी परीक्षा ही न हुई

ITI. कन्फ्यूज़ न हों, ये IIT नहीं है. ये ITI ही है. औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान. देशभर में फैले इन्हीं इंस्टीट्यूट को आधार बनाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्किल इंडिया वाला प्रोजेक्ट शुरू किया था. लेकिन कोरोना महामारी और प्रशासन की लापरवाही की वजह से ITI के छात्र परीक्षा, नतीजे और भविष्य की चिंता में डूबे हुए हैं.

बीते कई दिनों से ट्विटर पर दो हैशटेग्स जमकर वायरल हैं. इनमें से एक है #itiresults और दूसरा है #iti_promotion. छात्र मांग कर रहे हैं कि या तो जो परीक्षाएं हो चुकी हैं उनके नतीजे जल्द से जल्द जारी करो. या फिर बिना परीक्षा और नतीजों के हमको प्रमोट कर दो.

दरअसल कोविड महामारी के चलते बाकी सभी संस्थानों की तरह ही ITI की परीक्षा भी 2020 से लंबित है. 2020 में कोविड की वजह से जून के महीने में होने वाली परीक्षा को टाल दिया गया. इसके बाद कुछ राज्यों में परीक्षा दिसंबर, 2020 से अप्रैल, 2021 के बीच करवाई गई. पर एक चौथाई स्टूडेंट भी परीक्षा में शामिल नहीं हो सके. अब छात्रों को परीक्षा का इंतज़ार करते लगभग एक साल बीत गया है.

इस एक साल में न तो परीक्षा की कोई डेट ही जारी की गई और न ही जिम्मेदारों की तरफ से छात्रों के किसी सवाल का जवाब ही दिया गया. कई छात्रों का ये कहना है कि प्रशासन के इस रवैये से दो साल के डिप्लोमा कोर्स में छात्रों के तीन से चार साल तक खराब हो जाएंगे.

परीक्षा टलने से सबसे ज्यादा दिक्कत इलेक्ट्रॉनिक्स और फिटर के स्टूडेंट्स को हो रही है. जिन छात्रों ने 2018 में एडमिशन लिया था. दो साल के कोर्स के हिसाब से उनका कोर्स 2020 में पूरा हो जाना चाहिए था. लेकिन प्रशासन की लापरवाही के चलते कई छात्रों का एक बार भी एग्ज़ाम नहीं हो सका.

2017-18 बैच के बैकलॉग लगे छात्रों की परीक्षा भी नहीं हुई

कोविड की दस्तक तो भारत में 2020 में आई. लेकिन ये मामला 2020 में होने वाली परीक्षा के टलने का ही नहीं है. 2017-18 बैच के भी कई ऐसे ITI के छात्र हैं. जिनके बैकलॉग के पेपर की तारीख भी नहीं दी गई. इस वजह से 3-4 साल होने पर भी ये छात्र अब भी नौकरी के लिए डिप्लोमा का इंतज़ार कर रहे हैं.

छात्रों की मांग बाकी बोर्ड की तरह ही हमें भी मिले प्रमोशन

ट्विटर पर जो दूसरा हैशटैग चला वो है #iti_promotion. छात्र और उनके अभिभावक चाहते हैं कि अगर विभाग परीक्षा नहीं करा सकता तो कम से कम छात्रों का साल खराब न करे. बल्कि बाकी बोर्ड्स की तरह ही ITI के छात्रों को भी प्रमोट कर दिया जाए.

इस मामले में हमने ITI सतना के छात्र शिवांक से बात की. उन्होंने कहा,

”मैंने 2018 में एडमिशन लिया. 2019 में फर्स्ट ईयर के एग्ज़ाम हुए. लेकिन फिर 2020 से हम परीक्षा के लिए परेशान हैं. मेरा पूरा एक साल बर्बाद हो गया है. परीक्षा और रिजल्ट में देरी होने से हमारी उम्र भी निकल रही है, क्योंकि बहुत से विभागों में 22-24 वर्ष से अधिक के स्टूडेंट्स को नौकरी, अप्रेंटिसशिप नहीं मिलती. कृपया करके हम सभी आईटीआई ट्रेनीज को प्रमोट कर दिया जाए.”

ऐसी ही ITI के एक और छात्र अभिषेक ने कहा,

”मैंने 2018 में एडमिशन लिया था. लेकिन सेकेंड ईयर में परेशानी शुरू हो गई. जब पॉलीटेक्निक, बीई और बाकी बोर्ड्स भी छात्रों को प्रमोट कर रहे हैं तो हमें प्रमोट क्यों नहीं किया जा रहा?”

हालांकि उत्तर प्रदेश में छात्रों की प्रमोट करने की मांग को ठुकरा दिया गया है. महानिदेशक प्रशिक्षण एवं सेवायोजन ने एक निजी ITI की मांग को ठुकराते हुए परीक्षा कराने की बात कही थी. प्रशासन का कहना है कि कोरोना संक्रमण का कहर कम होगा तो परीक्षाएं जुलाई में होंगी.

कोर्स पूरा होने में अधिक समय लगने, परीक्षा की तारीख का पता ना चलने और साल खराब होने का ये डर मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, राजस्थान समेत कई राज्यों के ITI छात्रों में है.


ब्लैक फंगस की दवाई पर लगे इम्पोर्ट ड्यूटी पर दिल्ली हाईकोर्ट ने मोदी सरकार को क्या निर्देश दिए हैं? 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

Bull Run कांड में सेबी का फैसला, एक ही परिवार के 6 लोगों पर लगा बैन.

आदिवासी, आंदोलनकारी, पत्रकार और ऐक्ट्रेस, जानिए यूपी में कांग्रेस ने किन चेहरों पर दांव लगाया है?

आदिवासी, आंदोलनकारी, पत्रकार और ऐक्ट्रेस, जानिए यूपी में कांग्रेस ने किन चेहरों पर दांव लगाया है?

कांग्रेस की पहली लिस्ट में 50 महिला उम्मीदवार शामिल हैं

इस तस्वीर ने यूपी चुनाव से पहले सपा गठबंधन को लेकर क्या सवाल खड़े कर दिए?

इस तस्वीर ने यूपी चुनाव से पहले सपा गठबंधन को लेकर क्या सवाल खड़े कर दिए?

तस्वीर गौर से देखेंगे तो समझ आ जाएगा, हम तो बता ही देंगे.

योगी सरकार को एक और झटका, मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी साथ छोड़ा

योगी सरकार को एक और झटका, मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी साथ छोड़ा

बीते 24 घंटों के भीतर यूपी के दो कैबिनेट मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है.

ITR फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ी है, लेकिन नाचने से पहले ये खबर पढ़ लो!

ITR फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ी है, लेकिन नाचने से पहले ये खबर पढ़ लो!

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस ने असल में क्या कहा है?

दिल्ली में प्राइवेट ऑफिस, रेस्टोरेंट और बार पूरी तरह बंद किए गए, छूट किसे मिली है ये जान लो

दिल्ली में प्राइवेट ऑफिस, रेस्टोरेंट और बार पूरी तरह बंद किए गए, छूट किसे मिली है ये जान लो

कोरोना के केस बढ़ने के बीच DDMA की नई गाइडलाइंस जारी.

यूपी में MSP कृषि लागत से ज्यादा नहीं तो BJP इसका ढोल क्यों पीट रही है?

यूपी में MSP कृषि लागत से ज्यादा नहीं तो BJP इसका ढोल क्यों पीट रही है?

यूपी में MSP की तारीफ़ का सच.

Nykaa का IPO अशनीर ग्रोवर और कोटक महिंद्रा के बीच जंग की वजह कैसे बन गया?

Nykaa का IPO अशनीर ग्रोवर और कोटक महिंद्रा के बीच जंग की वजह कैसे बन गया?

BharatPe के लीगल नोटिस और अशनीर ग्रोवर के 'गाली' वाले ऑडियो पर क्या बोला Kotak?

Xiaomi ने सरकार को कैसे लगा दिया 653 करोड़ का चूना?

Xiaomi ने सरकार को कैसे लगा दिया 653 करोड़ का चूना?

Xiaomi भारत में सबसे ज्यादा मोबाइल बेचने वाली चीनी कंपनी है.

नरसिंहानंद का एक और घटिया बयान, 'जिसने एक बेटा पैदा किया, उस मां को औरत मत मानना'

नरसिंहानंद का एक और घटिया बयान, 'जिसने एक बेटा पैदा किया, उस मां को औरत मत मानना'

नरसिंहानंद ने कहा, "मुसलमानों से हिंदुओं को मरवाओगे क्या?"