Submit your post

Follow Us

लॉकडाउन में 308 KMPH की रफ्तार से उड़ा रहा था पापा की कार, फिर पुलिस ने अपना काम कर दिया

कोरोना वायरस के चलते दुनिया के कई देशों में लॉकडाउन है. लोग घर से निकल नहीं रहे, तो सड़कें सूनी हैं. इन सबके बीच टोरंटो में पुलिस अलग ही समस्या से दो-चार हो रही है. यहां लोग खाली सड़क पाकर रेसिंग करने से बाज नहीं आ रहे हैं. सीएनएन की एक रिपोर्ट के अनुसार, यहां एक 19 साल का लड़का 191 मील प्रति घंटा की रफ्तार से गाड़ी चला रहा था. पुलिस के अधिकारी भी इतनी तेज़ कार चलाने पर आश्चर्य कर रहे हैं.

क्या है मामला

टोरंटो में एक लड़का अपने हमउम्र दोस्त के साथ सड़क पर निकला. अपने पापा की कार लेकर. अधिकारियों के मुताबिक, टोरंटो में 100 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड लिमिट है. यानी इससे तेज़ गाड़ी चलाने पर कार्रवाई हो सकती है. कुछ इलाकों में 110 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड की भी इजाजत है. लेकिन इस लड़के ने इसकी तीन गुना ज्यादा स्पीड में गाड़ी चला दी. पुलिस के मुताबिक, लड़के ने क्वीन एलिजाबेथ हाइवे पर 308 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड में गाड़ी चलाई. वहां मौजूद अधिकारी सार्जेंट केरी के अनुसार, उन्होंने अब तक इससे तेज़ स्पीड के बारे में नहीं सुना था.

ये मीटर, गाड़ी की स्पीड बता रहा है. तस्वीर टोरंटो पुलिस से साभार.
ये मीटर, गाड़ी की स्पीड बता रहा है. तस्वीर टोरंटो पुलिस से साभार.

ड्राइव कर रहे लड़के पर स्ट्रीट रेसिंग और आपराधिक ड्राइविंग के तहत मामला दर्ज किया गया है. साथ ही उसका लाइसेंस भी सात दिनों के लिए सस्पेंड कर दिया गया है. साथ ही कार को भी सात दिनों के लिए सीज कर दिया गया है. हां, विदेशों में इत्ती ही सजा देते हैं.

अधिकारियों ने बताया कि टोरंटो में रोड रेसिंग के मामले में अब तक 150 से ज्यादा लोगों को फाइन किया गया है. वहीं, ट्रैफिक एनालिटिक्स फर्म INRIX के अनुसार, अमेरिका के शिकागो और लॉस एंजेलिस जैसे शहरों में भी तेज़ गाड़ी चलाने के मामले सामने आ रहे हैं. इन शहरों में कोरोना के बाद लोगों की गाड़ियों की स्पीड में 75% तक की बढ़ोतरी देखी गई है.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

गुजरात: CM बदलने की संभावना पर खबर चलाई, पुलिस ने राजद्रोह का केस लिख लिया

इस मामले में गुजरात सरकार की किरकिरी हो रही है.

किसी को सही-सही पता ही नहीं कि दिल्ली में कोरोना से कितनी मौतें हुईं!

सरकार और नगर निगम के आंकड़े अलग-अलग.

चीन से ठगे जाने के बाद इंडिया ने अपनी टेस्टिंग किट बनाई, कैसे काम करेगी?

किसने बनाई ये टेस्टिंग किट?

कॉन्स्टेबल साब ने दिल्ली में शराब वितरण का लेटेस्ट तरीका निकाला था, नप गए

दिल्ली में शराब की दुकानों पर भीड़ बहुत ज़्यादा है.

12 मई से चलने वाली ट्रेनों के स्टॉपेज, टाइम टेबल और नियम क़ानून की जानकारी यहां देखिए

किस-किस दिन चलेंगी ट्रेनें?

कोरोना: सुपर स्प्रेडर क्या होते हैं और ये इतने खतरनाक क्यों हैं कि अहमदाबाद में सब कुछ बंद करना पड़ा

अहमदाबाद में 14 हजार सुपर स्प्रेडर होने की आशंका जताई जा रही है.

प्रवासी मजदूरों को लेकर यूपी और राजस्थान की पुलिस में पटका-पटकी हो गई है!

डीएम और एसपी मौके पर पहुंचे तब मामला शांत हुआ.

मंत्री मुख़्तार अब्बास नकवी बोले-तबलीगी जमात की वजह से लॉकडाउन बढ़ाना पड़ा

ये भी कहा-तबलीग़ियों का गुनाह हिंदुस्तान के मुसलमानों का का गुनाह नहीं है.

कोरोना का नियम बदला, अब बिना टेस्ट ही घर भेजे जाएंगे कम बीमार मरीज

जानिए क्या है सरकार की नई गाइडलाइंस.

दवा बेची, समाजसेवा की, फिर पता चला ख़ुद ही कोरोना पॉज़िटिव हैं, अब जेल हो गई

बनारस के दवा व्यापारी ने कई लोगों को बांटा कोरोना.