Submit your post

Follow Us

कोरोना पॉजिटिव मरीज़ की लाश डॉक्टर ने ख़ुद ट्रैक्टर से अंतिम संस्कार के लिए पहुंचाई

तेलंगाना के एक डॉक्टर ने Covid-19 की वजह से दम तोड़ने वाले मरीज को खुद ट्रैक्टर से श्मशान घाट तक पहुंचाया. ट्रैक्टर चलाते डॉक्टर का वीडियो वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर लोग डॉक्टर की तारीफ़ कर रहे हैं. जिनकी तारीफ़ हो रही है, वो तेलंगाना के पेड्डापल्ली जिले के डॉ. श्रीराम हैं.

डॉक्टर श्रीराम डिस्ट्रिक्ट हेल्थ सर्विलांस अधिकारी हैं. जिस शख्स की लाश लेकर डॉक्टर गए, उसकी मौत सरकारी अस्पताल में हुई थी.

# क्या है पूरा मामला

तेलंगाना के पेड्डापल्ली जिले के एक सरकारी अस्पताल में कोरोना की वजह से एक मरीज की मौत हो गई थी. हॉस्पिटल स्टाफ ने डॉक्टर श्रीराम को इसकी जानकारी दी. लाश कई घंटों से अस्पताल में थी. एक ट्रैक्टर की व्यवस्था तो थी, लेकिन उसका ड्राइवर मौक़े पर मौजूद नहीं था. बताया गया कि संक्रमण फैलने के डर से ड्राइवर लाश को नहीं ले जाना चाहता था. ऐसे हालत में डॉक्टर श्रीराम ने खुद ही ट्रैक्टर चलाकर डेडबॉडी को श्मशान घाट तक पहुंचाया, जिससे अंतिम संस्कार किया जा सके.

इस मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. लोग-बाग़ तारीफ़ करने लगे. स्थानीय अखबार को डॉक्टर श्रीराम ने बताया-

मैंने जो कुछ किया, वो मेरी ड्यूटी का हिस्सा था. मरीज की मौत हुए छह घंटे से ज्यादा वक्त बीत चुका था. उनके परिवार वाले परेशान हो रहे थे. अस्पताल का स्टाफ भी डेडबॉडी देखकर चिंतित हो रहा था. मैं शहर का सर्विलांस ऑफिसर हूं, इसलिए मैंने ही डेडबॉडी ले जाने का फैसला किया. ये हमारी ड्यूटी है कि किसी भी मृतक का अंतिम संस्कार सही तरीके से पूरा हो.

# तबीयत बिगड़ने पर अस्पताल लाया गया था

जिस मरीज की मौत हुई थी, वो 10 जुलाई को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था. होम आइसोलेशन में था. 12 जुलाई को उसकी तबीयत बहुत ज्यादा बिगड़ गई, तो उसे अस्पताल पहुंचाया गया. डॉक्टर श्रीराम ने बताया कि अस्पताल के पास कोई एंबुलेंस नहीं है, न ही कोई शवगृह. लेकिन शहर के डीएम ने अस्पताल को पर्याप्त पीपीई किट उपलब्ध करवाए हैं. डेडबॉडी कवर करने के लिए बैग भी हैं. स्टाफ ने मरीज की मौत के बाद डेडबॉडी पैक कर दी थी, लेकिन फिर उसे ले जाने वाला कोई नहीं था.


ये वीडियो भी देखें:

पड़ताल: क्या इस टीचर को सैलरी नहीं मिली, तो उसने ‘भ्रष्टाचार मुर्दाबाद’ लिख सुसाइड किया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

यूपी पुलिस विकास दुबे के घर ये वाले हथियार खुद नहीं खोज पाई, आरोपी ने बताया कहां रखे हैं

इसके पहले पुलिस और फ़ोरेंसिक टीम विकास दुबे का घर ढहाकर छान चुकी है.

गूगल का भारत में 75,000 करोड़ रुपये के निवेश का पूरा प्लान क्या है

खुद सुंदर पिचाई ने ऐलान किया है.

राजस्थान: क्या है गहलोत-पायलट के बीच टकराव की वजह?

जयपुर से लेकर दिल्ली तक जोर आजमाइश हो रही है.

बच्चन परिवार की इकलौती सदस्य जिसे कोरोना नहीं हुआ

अमिताभ बच्चन और अभिषेक बच्चन COVID-19 पॉजिटिव निकले थे

यूपी STF ने विकास दुबे एनकाउंटर पर अब क्या नई बात बताई है?

कार पलटने की वजह क्या थी?

गैंगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर में मारा गया

एक दिन पहले ही उज्जैन के महाकाल से पकड़ा गया था विकास दुबे.

कानपुर कांड : आरोपी की गिरफ़्तारी में सच कौन बोल रहा? यूपी पुलिस या आरोपी के घरवाले?

वीडियो में क्या कहा कानपुर कांड के आरोपी ने?

विकास दुबे को बचाने के लिए अपने ही साथियों को धोखा देने वाले दो पुलिसवाले धर लिए गए हैं

घटना में आठ पुलिसवाले शहीद हुए थे.

PM Cares के पैसों से बने वेंटिलेटर पर सवाल उठे तो बनाने वाले ने राहुल गांधी को घेर लिया

कहा कि राहुल गांधी के सामने डेमो दिखा सकता हूं.

क्या गलवान में पीछे हटकर चीन 1962 वाली चाल दोहरा रहा है?

58 साल पहले भी ऐसा ही हुआ था. पहले चीन गलवान में पीछे हटा और कुछ दिन बाद भारत पर हमला कर दिया.