Submit your post

Follow Us

अरविंद केजरीवाल के सिंगापुर स्ट्रेन वाले ट्वीट पर हंगामा, उच्चायुक्त ने ये जवाब दिया

कोरोना की दूसरी लहर से पूरा देश जूझ रहा है. इसका असर देखते हुए लोगों को लगातार सतर्क किया जा रहा है. इसी बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना के सिंगापुर स्ट्रेन को लेकर लोगों को चेताया था. 18 मई को ट्वीट करके केजरीवाल ने भारत सरकार से एक्शन लेने की अपील की थी. मगर अब सिंगापुर से अरविंद केजरीवाल के ट्वीट पर जवाब आया है. जिसमें सीएम के दावों को गलत बताया गया है.

केजरीवाल ने क्या ट्वीट किया,

”सिंगापुर में आया कोरोना का नया रूप बच्चों के लिए बेहद ख़तरनाक बताया जा रहा है, भारत में ये तीसरी लहर के रूप में आ सकता है.

केंद्र सरकार से मेरी अपील:
1. सिंगापुर के साथ हवाई सेवाएं तत्काल प्रभाव से रद्द हों
2. बच्चों के लिए भी वैक्सीन के विकल्पों पर प्राथमिकता के आधार पर काम हो”

केजरीवाल के इस बयान पर सिंगापुर के उच्चायुक्त ने रिएक्शन दिया. उन्होंने ट्वीट किया,

”इस बात में कोई सच्चाई नहीं कि सिंगापुर में कोविड का कोई नया स्ट्रेन मिला है. सिंगापुर में फाइलोजेनेटिक टेस्ट में मिला B.1.617.2 वैरिएंट बच्चों सहित कोरोना के ज़्यादातर मामलों में प्रबल है.”

इस ट्वीट के साथ सिंगापुर के मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ का एक बयान भी जारी किया गया है. जिसमें लिखा है.

”रिपोर्ट्स में मिले दावों में कोई सच्चाई नहीं है. सिंगापुर वैरिएंट कुछ भी नहीं है. बीते कुछ हफ्तों में कोविड-19 मामलों में B.1.617.2 वैरिएंट मिले हैं जिसकी उत्पत्ति भारत में ही हुई थी. साइलोजेनेटिक परीक्षण में इस वैरिएंट को सिंगापुर में कई समूहों के साथ जुड़ा हुआ दिखाया गया है.”

सिंगापुर के फॉरेन मिनिस्टर विवियान बालाकृष्णनन ने भी केजरीवाल के इस ट्वीट का जवाब दिया. लिखा,

”नेताओं को हमेशा तथ्यों पर टिके होना चाहिए, कोई सिंगापुर वैरिएंट नहीं है.”

 

भारतीय विदेश मंत्रालय ने भी इस पर बयान दिया है. प्रवक्ता अरिनंदम बागची ने ट्वीट किया,

”दिल्ली के मुख्यमंत्री के सिंगापुर वैरिएंट वाले ट्वीट पर कड़ी आपत्ति व्यक्त करते हुए सिंगापुर सरकार ने आज हमारे उच्चायुक्त को बुलाया था. उच्चायुक्त ने साफ किया कि दिल्ली के सीएम के पास कोविड वैरिएंट या नागरिक उड्डयन नीति पर बोलने का अधिकार नहीं है.”

 

अरिनंदम बागची के ट्वीट पर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने भी लिखा,

‘सिंगापुर और भारत दोनों कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं. इस लड़ाई में सिंगापुर द्वारा भारत की जो मदद की गई है, उसके लिए उनका धन्यवाद. मैं साफ कर देना चाहता हूं कि दिल्ली के मुख्यमंत्री का बयान भारत का नहीं है.”

केजरीवाल के इस बयान पर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने भी रिप्लाई किया. उन्होंने ट्वीट किया,

”केजरीवाल जी, मार्च 2020 से ही अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें बंद हैं. सिंगापुर के साथ एयर बबल भी नहीं है. बस कुछ वन्दे भारत उड़ानों से हम वहां फंसे भारतीय लोगों को वापस लाते हैं. ये हमारे अपने ही लोग हैं. फिर भी स्थिति पर हमारी नज़र है. सभी सावधानियां बरती जा रही हैं.”

आम आदमी पार्टी के नेता सत्येंद्र जैन ने भी इम मामले पर अपना बयान दिया है. जब उनसे सिंगापुर स्ट्रेन के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा,

”कोरोना के बहुत सारे स्ट्रेन हैं. जैसे-जैसे म्यूटेंट होता है, वैसे वैसे स्ट्रेन का नाम रखा जाता है. इस समय इंडिया में कई स्ट्रेन चल रहे हैं. ये तो पक्का है कि स्ट्रेन अलग है. स्ट्रेन सिंगापुर का है या दिल्ली, अमेरिका, लंदन का, मगर सबसे ज़्यादा ज़रूरी है कि कोरोना का ये स्ट्रेन अलग हैं. आपको सभी वेरियंट की लिस्ट बनाकर दे दूंगा. जिसमें सीक्वेंस के बाद वैरिएंट का पता चलता है. वैरिएंट नहीं है, ये कहना गलत है.”

जब उनसे कहा गया कि लोग कह रहे हैं सिंगापुर स्ट्रैन जैसा कुछ भी नहीं तो सत्येंद्र जैन भड़क गए. उन्होंने कहा,

”कोरोना के बहुत सारे वैरिएंट हैं. और आपका ये कहना है कि सिंगापुर में कोई वैरिएंट नही है, तो फिर सिंगापुर में कोरोना के केस भी नहीं होना चाहिए.”

ये सिंगापुर स्ट्रेन है क्या?

WHO ने पिछले हफ्ते कहा था कि वह दुनियाभर में कोरोना वायरस के 10 वैरिएंट्स पर नजर बनाए हुए हैं. इसमें B.1.617 नाम का वैरिएंट भी शामिल है, जिसने भारत में कहर ढा रखा है. इस वैरिएंट को WHO ने फिलहाल ‘वैरिएंट ऑफ इंटरेस्ट’ की कैटेगरी में रखा गया है. भारत में कोरोना की तीसरी लहर के अनुमान के बीच सिंगापुर के नए स्ट्रेन ने पूरी दुनिया को डरा दिया है. बताया ये भी जा रहा है कि ये नया स्ट्रेन बच्चों पर सबसे ज़्यादा असर डालेगा.

रिपोर्ट्स की मानें तो इसी वजह से सिंगापुर सरकार ने अगले आदेश तक सभी स्कूल और कॉलेज बंद कर दिये हैं. सिंगापुर के स्वास्थ्य मंत्री ऑन्ग ये कंग ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि B.1.617 वेरिएंट ‘बच्चों को ज़्यादा प्रभावित करता दिख रहा है. वहीं न्यूज एजेंसी AFP ने शिक्षा मंत्री चान चुन सिंग के हवाले से कहा था कि ‘वायरस के कुछ म्यूटेशन ज्यादा संक्रामक लग रहे हैं और बच्चों को प्रभावित करते दिख रहे हैं.’

सिंगापुर में पिछले दिनों कोरोना संक्रमण के 38 नए मामले मिलें हैं. जो पिछले 8 महीनों में सबसे ज़्यादा बताए जा रहे हैं. इन 38 लोगों में 4 बच्चे भी शामिल हैं जो कोरोना के नए वैरिएंट से संक्रमित पाए गए हैं. ऐसा दावा किया जा रहा है कि ये वैरिएंट B.1.617 से मिलता जुलता है. मगर फिलहाल WHO ने ऐसे किसी भी स्ट्रेन को कंफर्म नहीं किया है. जो सिंगापुर में पाया गया है.

इस नए वैरिएंट पर नीति आयोग के सदस्य डॉक्टर वीके पॉल ने कहा,

”बच्चों में सीरियस डिसीज़ नहीं होती. एक पार्ट ये है कि वो इंफेक्शन ना फैलाएं. सिंपल ट्रीटमेंट से ही उनका इलाज हो जाता है. लेकिन ये याद रहे कि अगर वायरस अपना स्वभाव बदलता है तो ऐसा स्वभाव ना बने कि ये बच्चों को ज़्यादा इफेक्ट करे. इसके ऊपर भी नज़र होनी चाहिए.”

डबल और ट्रिपल म्यूटेंट का चक्कर क्या है?

जैसे वक्त के बारे में यह निश्चित है वह बदलेगा जरूर, वैसे ही वायरस के बारे में भी निश्चित है कि यह रूप बदलेगा जरूर. तो भारत में इस डबल वैरिएंट जिसे B.1.617 का नाम दिया गया, उसमें SARS-CoV-2 के दो म्यूटेंट हैं. मतलब SARS-CoV-2 का जो वायरस था, उसमें अब दो बड़े बदलाव आ गए हैं. इन बदलावों का नाम है E484Q और L452R.

E484Q म्यूटेंट ब्रिटेन और साउथ अफ्रीका में पाए गए कोरोना वायरस वैरिएंट्स से मिलते जुलते हैं. इसी तरह से L452R वैरिएंट की वजह से अमेरिका के कैलिफोर्निया में तेजी से वायरस फैला था. ये दोनों बदलाव दूसरे देशों में पाए गए कोरोना वायरस के वैरिएंट्स में भी पाए गए हैं. लेकिन यह पहली बार भारत में ही हुआ है कि एक ही वैरिएंट में दोनों बदलाव आ गए हों. इस तरह से इसे डबल म्यूटेंट वाला कोरोना वायरस कहा गया.

Covid 19 (7)

वायरस को बार-बार रूप बदलने की जरूरत ही क्यों पड़ती है?

इसका जवाब बस इतना सा है कि नेचर में सर्वाइवल फॉर फिटेस्ट यानी जो फिट है वो हिट का फंडा चलता है. वायरस भी चाहते हैं वह खुद को ऐसे ढाल लें कि शरीर के भीतर जाकर उन पर एंटीबॉडी का कुछ असर न हो. इस वजह से ही डबल म्यूटेंट वाले वायरस से शरीर पहले की तरह नहीं लड़ पा रहा. इसका कारण यह है कि डबल म्यूटेशन की वजह से वायरस के स्पाइक प्रोटीन में ऐसा बदलाव आ गया है कि यह इंसानी शरीर में बेहतर तरीके से खुद को बचा पा रहा है. ये स्पाइक वही हैं, जो आपको कोरोना वायरस की फोटो में कांटे जैसे दिखते हैं.

ये बदलाव दूसरे देशों में पाए गए कोरोना वायरस के वैरिएंट्स में भी पाए गए हैं. लेकिन यह पहली बार भारत में ही हुआ है कि एक ही वैरिएंट में दोनों बदलाव आ गए हों. इस तरह से इसे डबल म्यूटेंट वाला कोरोना वायरस कहा गया. भारत में दिल्‍ली, बिहार, गुजरात और छत्‍तीसगढ़ जैसे राज्‍यों में B.1.617.2 के मामले खूब मिले हैं.

इन वैरिएंट्स पर कौन सी वैक्सीन असरदार है, इसे लेकर अभी कुछ नहीं कहा गया है. हालांकि भारत में कई जानकारों का ये कहना है कि बच्चों को अगर इस वैरिएंट्स से बचाना है तो उन्हें भी कोरोना की वैक्सीन लगाई जानी चाहिए.  कोरोना के मामलों की बात करें तो दुनिया भर में अब तक करीब 16.48 करोड़ से ज़्यादा लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. जिनमें से 34.18 लाख लोगों की मौत हो गई है. जबकि 14.50 करोड़ लोगों ने कोरोना का मात दी है.


वीडियो: कोरोना का नया वैरिएंट पैदा न हो, वायरोलॉजिस्ट इसके लिए क्या करने को कह रहे?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

उपचुनाव के नतीजे एक जगह पर.

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

3 अक्टूबर को आर्यन खान को गिरफ्तार किया गया था.

वरुण गांधी ने कहा- UP में किसानों का फसल जलाना सरकार के लिए शर्म की बात, जेल कराऊंगा

वरुण गांधी ने कहा- UP में किसानों का फसल जलाना सरकार के लिए शर्म की बात, जेल कराऊंगा

किसानों के बहाने फिर बीजेपी पर निशाना साध रहे वरुण गांधी?

कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार की सिर्फ 46 की उम्र में डेथ!

कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार की सिर्फ 46 की उम्र में डेथ!

ट्विटर पर फिल्म इंडस्ट्री ने पुनीत को किया भारी मन से याद.

Facebook का नाम बदलने के बाद क्या अब आपका अकाउंट Meta पर खुलेगा?

Facebook का नाम बदलने के बाद क्या अब आपका अकाउंट Meta पर खुलेगा?

इससे फेसबुक पर क्या कुछ फर्क पड़ने वाला है?