Submit your post

Follow Us

जिस छोटी सी कंपनी ने भारत पर दो सौ साल राज किया, उस पर हिंदी सीरीज़ बनने जा रही है

ईस्ट इंडिया कंपनी. वो कंपनी जो व्यापार करने आई और हमारी मालिक बन बैठी. लगभग दो सौ साल तक हिली नहीं हिंदुस्तान से. इस कंपनी के सफ़र पर मशहूर लेखक विलियम डेलरिम्पल ने एक किताब लिखी. और अब उस किताब पर हिंदी में सीरीज़ बनने जा रही है. सिद्धार्थ रॉय कपूर ने इसके एक्सक्लूसिव राइट्स हासिल कर लिए हैं.

कौन सी किताब है ये?

किताब का नाम है ‘दी अनार्की: दी रिलेंटलेस राइज़ ऑफ़ द ईस्ट इंडिया कंपनी’. जिसका मोटा-माटी मतलब कुछ यूं हुआ. ‘अराजकता: ईस्ट इंडिया कंपनी का उदय’. 2019 में पब्लिश हुई ये किताब बड़ी मशहूर रही है. अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इसे अपनी टॉप टेन किताबों में शामिल किया था. बहुत कम समय में इस किताब ने एक ऐतिहासिक दस्तावेज के समान इम्पोर्टेंस हासिल कर ली है. शायद यही वजह है कि इसे एक सीरीज़ में तब्दील करने का सोचा गया.

क्या है इस किताब में?

ये किताब ईस्ट इंडिया कंपनी की शुरुआत से लेकर उसके दुनियाभर में छा जाने तक के सफ़र को दर्शाती है. 1599 में अपनी स्थापना से लेकर 1803 में भारतीय उपमहाद्वीप पर कब्ज़े तक का सफर. टूटता-बिखरता मुग़ल साम्राज्य और क्षेत्रीय ताकतों की मज़बूती के दौर में कैसे एक कंपनी आहिस्ता-आहिस्ता विशाल होती गई, इसकी कहानी है ‘दी अनार्की’. लंदन में पांच खिड़कियों वाली एक इमारत में तीस लोगों के साथ शुरू हुई ये कंपनी, एक दिन दुनिया के सबसे अमीर और सबसे शक्तिशाली साम्राज्य में बदल गई. ये सब पढ़ना लोगों को बहुत दिलचस्प लगा और किताब खूब पॉपुलर हुई. अब हिंदी के दर्शक इसे सीरीज़ के रूप में देखेंगे.

कम समय में बेहद मशहूर हो गई ये किताब.
कम समय में बेहद मशहूर हो गई ये किताब.

कौन-कौन जुड़े हैं प्रोजेक्ट से?

जैसा कि हमने बताया सिद्धार्थ रॉय कपूर ने इसके अधिकार हासिल किए हैं. सिद्धार्थ ‘दंगल’ जैसी ब्लॉकबस्टर फिल्म प्रड्यूस कर चुके हैं. वॉल्ट डिज़्नी कंपनी इंडिया के भूतपूर्व एमडी रह चुके सिद्धार्थ इस वक्त प्रड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया के प्रेसिडेंट हैं. वो इस प्रोजेक्ट के लिए लेखकों और श्रोताओं की एक टीम को साथ लाना चाहते हैं. जो इस सीरीज को शानदार बना सकें. उनका कहना है,

“आज जब ये बहस छिड़ी हुई है कि बड़ी-बड़ी कम्पनियां और पावरफुल व्यक्ति, राष्ट्रों और लोगों के दिमागों पर कंट्रोल रखना चाहते हैं, ऐसे में इससे ज़्यादा प्रासंगिक क्या होगा कि लोग ऐसी सच्ची कहानी देखें जिसमें एक छोटी सी कंपनी ने पूरा उपमहाद्वीप काबू में कर लिया था. कुछ कहानियां ऐसी होती हैं जो सम्मोहक, प्रासंगिक और प्रामाणिक होती हैं. उनमें सभी राष्ट्रीयताओं और संस्कृतियों के दर्शकों के साथ कनेक्ट करने की क्षमता होती है. विलियम डेलरिम्पल का ये महाकाव्य ऐसी ही कहानियों में से एक है”

लेखक विलियम डेलरिम्पल इस प्रोजेक्ट से एक सलाहकार के रूप में जुड़े हुए हैं.

विलियम डेलरिम्पल 'आखिरी मुग़ल' जैसी ऐतिहासिक परिदृश्य वाली किताबें लिखने के लिए फेमस हैं.
विलियम डेलरिम्पल ‘आखिरी मुग़ल’ जैसी ऐतिहासिक परिदृश्य वाली किताबें लिखने के लिए फेमस हैं.

वो कहते हैं,

“मुझे लगता है कि ‘द अनार्की’ सबसे उचित किताब होगी एक सीरीज़ के रूप में डेवलप करने के लिए. और भारत में इसे सिद्धार्थ रॉय कपूर से बेहतर कोई और बना ही नहीं सकता. इसके शुरूआती नोट को जिस तरह से तैयार किया गया है उसे देखकर मैं बेहद उत्साहित हूं. इसके किरदारों के साथ मैं पिछले 6 साल से हूं. ये बेहद अतुलनीय और रोमांचित कर देने वाला पल है और मुझे इस प्रोजेक्ट से काफी उम्मीदें हैं.”

अभी इस सीरीज़ की कास्टिंग, शूटिंग शेड्यूल, रिलीज़ की संभावित डेट्स वगैरह के बारे में कुछ तय नहीं है. जैसे-जैसे डिटेल्स आती रहेंगी, ‘दी लल्लनटॉप’ आपको अपडेट करता रहेगा.


वीडियो:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

दुनिया को मिली पहली 'भरोसेमंद' कोरोना वैक्सीन, अगले हफ्ते से लगेंगे टीके

दुनिया को मिली पहली 'भरोसेमंद' कोरोना वैक्सीन, अगले हफ्ते से लगेंगे टीके

ब्रिटेन पहला पश्चिमी देश है, जहां कोविड-19 वैक्सीन को हरी झंडी दी गई है

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज लोकुर ने कहा, जबरन धर्मांतरण पर यूपी का क़ानून लोगों की आजादी के खिलाफ़ है

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज लोकुर ने कहा, जबरन धर्मांतरण पर यूपी का क़ानून लोगों की आजादी के खिलाफ़ है

UAPA और दिल्ली दंगों पर जस्टिस लोकुर ने क्या कहा?

वो गेंद स्टंप पर नहीं मारता था, खुद लपक कर स्टंप बिखेर देता था

वो गेंद स्टंप पर नहीं मारता था, खुद लपक कर स्टंप बिखेर देता था

मोहम्मद कैफ़ का आज जन्मदिन है. इस बहाने आज उनकी फील्डिंग के चंद किस्से.

पिता ने चिट्ठी लिखकर गंभीर इल्ज़ाम लगाए तो शेहला राशिद ने क्या कहा?

पिता ने चिट्ठी लिखकर गंभीर इल्ज़ाम लगाए तो शेहला राशिद ने क्या कहा?

चिट्ठी में कहा कि शेहला घर में एंटी-नेशनल काम कर रही हैं.

दिल्ली दंगा : वीडियो सबूत होने के बाद भी पुलिस ने जांच नहीं की, कोर्ट ने दिया FIR का ऑर्डर

दिल्ली दंगा : वीडियो सबूत होने के बाद भी पुलिस ने जांच नहीं की, कोर्ट ने दिया FIR का ऑर्डर

सलीम की शिकायत, 'सुभाष और अशोक ने मेरे घर पर हमला किया'

कृषि बिलों पर वोटिंग के दौरान किसके कहने पर सांसदों के माइक बंद किए गए थे?

कृषि बिलों पर वोटिंग के दौरान किसके कहने पर सांसदों के माइक बंद किए गए थे?

बहुत हंगामा हुआ था, अब कहानी सामने आयी.

देश की आर्थिक सेहत बताने वाले GDP के आंकड़े आ गए हैं. ये डराने वाले हैं और उम्मीद जगाने वाले भी

देश की आर्थिक सेहत बताने वाले GDP के आंकड़े आ गए हैं. ये डराने वाले हैं और उम्मीद जगाने वाले भी

इस वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के जीडीपी आंकड़े क्या बताते हैं, जान लीजिए

जानिए कितनी ज़बरदस्त तैयारी के साथ दिल्ली आए किसान, 17 पॉइंट का नोट वायरल

जानिए कितनी ज़बरदस्त तैयारी के साथ दिल्ली आए किसान, 17 पॉइंट का नोट वायरल

किसान बोले, जहां रोकेंगे वहीं गांव बसा लेंगे, छह महीने की तैयारी करके आए हैं...

किसान आंदोलन में क्या-क्या हो रहा, सबसे दमदार तस्वीरों में यहां देखिए

किसान आंदोलन में क्या-क्या हो रहा, सबसे दमदार तस्वीरों में यहां देखिए

दिल्ली कूच के लिए कुछ भी करने को तैयार दिख रहे किसान

कांग्रेस के दिग्गज नेता अहमद पटेल का निधन, एक महीने तक कोविड-19 से लंबी जंग लड़ी

कांग्रेस के दिग्गज नेता अहमद पटेल का निधन, एक महीने तक कोविड-19 से लंबी जंग लड़ी

पीएम मोदी समेत कई नेताओं ने दुख जताया.