Submit your post

Follow Us

शराब का 52 हजार का बिल देख हैरान हुए थे, अब इसे देखकर बेहोश हो जाएंगे!

लॉकडाउन में दी गई राहतों के तहत 4 मई को शराब की दुकानें भी खुलीं. इसी के साथ घरों में बैठे शराब प्रेमी बाहर निकले. इसके साथ ही शराब की दुकानों के बाहर लंबी लाइनें सज गईं. दोपहर होते-होते सोशल मीडिया पर शराब खरीदी के बिल तैरने लगे. एक बिल 52,481 रुपये की शराब खरीदने का था. अगर यह पढ़कर अचंभा कर रहे हैं, तो ठहर जाइए. धरती अभी सूरमाओं से खाली नहीं हुई है. सोशल मीडिया पर शराब का एक और बिल सामने आया है. यह बिल बताता है कि किसी ने 95,347 रुपये की शराब खरीदी है.

क्यों, रह गए ना हैरान!

बिल पर छपे पते के अनुसार, भारी मात्रा में शराब खरीदने की गवाही देता ये बिल कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु का है. 95,347 रुपये के बिल पर बेंगलुरु के डॉलर्स कॉलोनी इलाके की दुकान का पता है. बिल कर्नाटक सरकार के आबकारी विभाग तक भी पहुंच गए. विभाग हरकत में आया, क्योंकि इतनी शराब एकसाथ, एक ही व्यक्ति को बेचने की अनुमति नहीं है.

शराब खरीदी के ये बिल काफी वायरल है. (Photo: Twitter)
शराब खरीदी के ये बिल काफी वायरल है. (Photo: Twitter)

नियम कहता है कि एक दिन में एक व्यक्ति को 18 लीटर बियर या 2.6 लीटर इंडियन मेड फॉरेन लिकर (IMFL) ही बेची जा सकती है. लेकिन बिल से लगता है कि नियमों का उल्लंघन हुआ है.

इस बारे में बेंगलुरु साउथ के एक्साइज डिप्टी कमिश्नर गिरि जे ने ‘इंडियन एक्सप्रेस’ से बात की. कहा कि सभी मामलों की जांच की जा रही है. जिन्होंने भी नियम तोड़ा है, उनके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा. शराब खरीदने वालों की तलाश भी की जा रही है.

इधर, आबकारी विभाग ने एक ही बिल में 52,481 रुपये की शराब बेचने वाले दुकानदार के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया. दुकानदार पर तय सीमा से ज्यादा शराब बेचने का केस लिखा गया. हालांकि दुकानदार ने सफाई दी. उसने कहा कि शराब आठ लोगों के एक ग्रुप ने खरीदी थी. लेकिन पेमेंट एक ही कार्ड से किया गया. आबकारी विभाग दुकानदार के बयान की जांच कर रहा है.

बता दें कि कर्नाटक के आबकारी विभाग ने बताया कि 4 मई को 45 करोड़ रुपये की शराब बिकी. इसके तहत 8.5 लाख लीटर इंडियन मेड फॉरेन लिकर और 3.9 लाख लीटर बीयर बेची गई.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video: लॉकडाउन के बीच शराब की दुकानों पर भीड़ देखकर सरकार अपने फैसले पर विचार करेगी?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में लग रहे 'थैंक्यू मोदी' के बैनर पर बवाल क्यों हो रहा है?

यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में लग रहे 'थैंक्यू मोदी' के बैनर पर बवाल क्यों हो रहा है?

क्या यूनिवर्सिटीज़ और कॉलेजों को सरकारी प्रचार के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है?

ये किन दो नेताओं को चुनाव से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ ने बड़ा काम दे दिया है?

ये किन दो नेताओं को चुनाव से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ ने बड़ा काम दे दिया है?

कौन हैं रामबाबू हरित और जसवंत सैनी?

अयोध्याः 20 लाख की जमीन मेयर के भतीजे ने ट्रस्ट को 2.5 करोड़ में बेची, महंत ने उठाए सवाल

अयोध्याः 20 लाख की जमीन मेयर के भतीजे ने ट्रस्ट को 2.5 करोड़ में बेची, महंत ने उठाए सवाल

ट्रस्ट द्वारा खरीदी जा रही जमीनों के दो और सौदे विवादों के घेरे में.

चिराग पासवान के चचेरे भाई सांसद प्रिंस राज पर लगे रेप के आरोप का पूरा मामला है क्या?

चिराग पासवान के चचेरे भाई सांसद प्रिंस राज पर लगे रेप के आरोप का पूरा मामला है क्या?

आरोप लगाने वाली महिला के खिलाफ प्रिंस ने भी फरवरी में दर्ज कराई थी FIR.

किसान आंदोलन में शामिल लोगों पर आरोप- पहले ग्रामीण को शराब पिलाई, फिर जिंदा जला दिया!

किसान आंदोलन में शामिल लोगों पर आरोप- पहले ग्रामीण को शराब पिलाई, फिर जिंदा जला दिया!

बहादुरगढ़ की घटना, पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है.

CBSE ने सुप्रीम कोर्ट में बताया, 12वीं के मार्क्स देने का 30:30:40 फॉर्मूला क्या है

CBSE ने सुप्रीम कोर्ट में बताया, 12वीं के मार्क्स देने का 30:30:40 फॉर्मूला क्या है

31 जुलाई से पहले फाइनल रिजल्ट जारी करने की जानकारी भी दी है.

योगी सरकार के संपत्ति रजिस्ट्री को लेकर लगने वाले स्टाम्प शुल्क के नए नियम में क्या है?

योगी सरकार के संपत्ति रजिस्ट्री को लेकर लगने वाले स्टाम्प शुल्क के नए नियम में क्या है?

नए नियम के बाद विवादों में कमी आएगी?

हरिद्वार कुंभ के दौरान बांटी गयी 1 लाख फ़र्ज़ी कोरोना रिपोर्ट? जानिए क्या है कहानी

हरिद्वार कुंभ के दौरान बांटी गयी 1 लाख फ़र्ज़ी कोरोना रिपोर्ट? जानिए क्या है कहानी

अख़बार का दावा, सरकारी जांच में हुआ ख़ुलासा

दिल्ली दंगा : नताशा, देवांगना और आसिफ़ को ज़मानत देते हुए कोर्ट ने कहा, 'कब तक इंतज़ार करें?'

दिल्ली दंगा : नताशा, देवांगना और आसिफ़ को ज़मानत देते हुए कोर्ट ने कहा, 'कब तक इंतज़ार करें?'

जानिए क्या है पूरा मामला?

सैन्य ऑपरेशन से जुड़े 25 साल से ज्यादा पुराने रिकॉर्ड सार्वजनिक होंगे

सैन्य ऑपरेशन से जुड़े 25 साल से ज्यादा पुराने रिकॉर्ड सार्वजनिक होंगे

सेना के इतिहास से जुड़ी जानकारियां सार्वजनिक करने की पॉलिसी को मंजूरी