Submit your post

Follow Us

सरस्वती शिशु मंदिर पर दिग्विजय सिंह ने ऐसा क्या कह दिया कि BJP उन्हें पाकिस्तान परस्त बता रही

दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh). कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हैं. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री भी रहे हैं. अपने विवादित बयानों के लिए अक्सर चर्चा में रहते हैं. रविवार, 26 सितंबर को उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) और बीजेपी (BJP) पर निशाना साधते हुए एक बयान दिया. कहा कि बीजेपी और RSS के सरस्वती शिशु मंदिर में पढ़ने वाले बच्चों के मन में बचपन से ही नफरत का बीज बो दिया जाता है, जो आगे चलकर सांप्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ता है. उनका ये बयान सोशल मीडिया पर वायरल है. अब इस मामले पर बीजेपी ने भी उन्हें खरी खोटी सुनाई है.

एमपी की राजधानी भोपाल के नीलम पार्क में 19 विपक्षी दलों ने रविवार को एक सभा का आयोजन किया. ये बीजेपी की राज्य और केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन था. इस सभा में अपनी बात रखते हुए दिग्विजय सिंह ने बीजेपी और RSS पर जमकर हमले बोले. उन्होंने विपक्ष की एकजुटता पर ज़ोर देते हुए कहा कि यही सही समय है जब बीजेपी और RSS की विचारधारा से लड़ने के लिए सभी दलों को एक मंच पर आना होगा.

दिग्विजय बोले, दंगों के लिए बीजेपी-RSS ज़िम्मेदार

दिग्विजय सिंह ने दंगों के पीछे बीजेपी और RSS की विचारधारा को ज़िम्मेदार बताते हुए कहा कि

“हमारी लड़ाई उन लोगों से है जो बचपन से ही सरस्वती शिशु मंदिर में बच्चों के दिल और दिमाग में दूसरे धर्मों के खिलाफ नफरत का बीज बोते हैं. वही नफरत का बीज आगे बढ़कर देश में सांप्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ता है. सांप्रदायिक कटुता पैदा करता है. धार्मिक उन्माद फैलाता है और देश में दंगे फसाद होते हैं.”

दरअसल, अगस्त महीने में 19 विपक्षी दलों की दिल्ली में एक बैठक हुई थी. जिसका नेतृत्व कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने किया था. सोनिया गांधी ने इस बैठक में कहा था कि बीजेपी को 2024 में हराने के लिए पूरे विपक्ष को एक साथ आना होगा. इसी सिलसिले में 20 से 30 सितंबर तक अलग-अलग राज्यों में विपक्षी दलों की एकजुटता को दर्शाने के लिए सभाएं हो रही हैं.

बीजेपी ने किया तीखा पलटवार

दिग्विजय सिंह का ये बयान सुनकर बीजेपी कहां चुप रहने वाली थी. उसे पलटवार किया. एमपी के जाने माने नेता और बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट करके दिग्विजय सिंह पर हमला बोला. उन्होंने सवालिया अंदाज़ में लिखा.

“आतंकवादी ओसामा के नाम के साथ ‘जी’ लगाना, आतंकी जाकिर नाईक को ‘शांतिदूत’ बताना, बटला हाउस एनकाउंटर को झूठा बोलकर इंस्पेक्टर मोहन शर्मा की शहादत को अपमानित करना, सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांगना, ये सब कांग्रेस की किस पाठशाला में पढ़ाया जाता है?देश जानना चाहता है.”

 विजयवर्गीय ने एक और ट्वीट करते हुए लिखा,  

अपने हिंदूवादी बयानों की वजह से सुर्खियों में रहने वाले एमपी से बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा ने भी दिग्विजय को निशाना बनाया. आजतक संवादाता रवीश के मुताबिक़, रामेश्वर ने कहा-

“दिग्विजय सिंह को बोलना है तो उन मदरसों के बारे में बोले जहां आतंकवाद पैदा किया जाता है और मानवता को कुचला जाता है. अलगाववाद वहीं से फैलता है. शिशु मंदिर में राष्ट्रप्रेम, धर्म प्रेम, स्नेह, बंधुत्व और प्यार की सीख मिलती है. सबको साथ लेकर चलने की क्षमता विकसित की जाती है. ऐसे सरस्वती शिशु मंदिर के बारे में दिग्विजय सिंह के विचार बेहद ही आपत्तिजनक है.”

मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि दिग्विजय सिंह सरस्वती शिशु मंदिर में पढ़ लेते तो शायद पाकिस्तान परस्ती की बात नहीं करते. आतंकवाद को संरक्षण देने की बात नहीं करते. उनके संस्कार अच्छे हो जाते. वह देश को तोड़ने और विध्वंस  की बातें नहीं करते. सारंग ने कहा कि दिग्विजय सिंह अपनी राजनीतिक हैसियत ढूंढ रहे हैं और इसी के लिए इस तरह के प्रपंच कर रहे हैं.


वीडियो- आर्टिकल 370 पर दिग्विजय सिंह ने क्या कहा कि BJP ने कांग्रेस पर निशाना साध दिया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

LIC पॉलिसी से PAN नंबर लिंक नहीं है, ये बड़ा नुकसान होगा!

लिंक करने का पूरा प्रोसेस बता रहे हैं, जान लीजिए.

यूपी चुनाव: सपा-सुभासपा गठबंधन का ऐलान, राजभर बोले- एक भी सीट नहीं देंगे तो भी समर्थन रहेगा

सपा ने ट्वीट कर कहा- 2022 में मिलकर करेंगे बीजेपी को साफ़!

आगरा में पुलिस कस्टडी में सफाईकर्मी की मौत, बवाल के बाद पुलिसकर्मियों पर FIR, 6 सस्पेंड

थाने के मालखाने से 25 लाख चोरी के आरोप में पुलिस ने पकड़ा था सफाईकर्मी को.

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, कभी खत्म न होने वाली कहानी न बन जाए ये जांच.

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल में भारी बारिश के कारण हुई मौतों की संख्या 35 तक पहुंची.

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

इंसाफ दिलाने के लिए धमकियों और खतरों की परवाह नहीं की.

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.