Submit your post

Follow Us

रेलवे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया अगले 10 दिन में कितनी हजार ट्रेनें चलने वाली हैं?

रेलवे का कामकाज सामान्य होने की ओर है. अभी रेलवे श्रमिक स्पेशल और 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों का संचालन कर रहा है. 1 जून से 200 ट्रेनों को भी चलाने का ऐलान हो चुका है. रेलवे ने 23 मई को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने रेलवे के अभी तक के काम और आगे की तैयारियों के बारे में बताया. उन्होंने कहा कि 1 मई से रेलवे ने मजदूरों के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाईं. इसके तहत अभी तक 2600 ट्रेनों के जरिए करीब 35 लाख से ज्यादा लोगों को उनके घरों तक पहुंचाया गया. साथ ही कई राज्यों के अंदर भी ट्रेन चलाई गईं. इनसे 10 लाख लोगों ने यात्रा की. इस तरह अभी तक कुल 45 लाख मजदूरों को उनके घर ले जाया गया है.

यादव ने कहा कि आने वाले 10 दिनों के लिए भी शेड्यूल तय हो चुका है. इसके तहत 2600 ट्रेन चलाई जाएंगी और इनके जरिए 35 लाख लोगों को पहुंचाने की योजना है. इनके अलावा राज्यों के अंदर भी ट्रेन चलाई जाएंगी. ट्रेन के किराए पर उन्होंने कहा कि मजदूरों के किराए में 85 प्रतिशत पैसा रेलवे और 15 प्रतिशत राज्य सरकारें वहन कर रही हैं.

और रेलवे ने क्या-क्या कहा

किराया बढ़ाने और कंशेशन बंद करने पर

रेलवे ने किराया बढ़ाने के आरोपों का खंडन किया. उन्होंने कहा कि जो किराया लॉकडाउन से पहले था. वही किराया अभी है. कंशेशन के बारे में उन्होंने कहा कि पहले की तरह की कंशेशन चल रहे हैं. केवल बुजुर्गों से जुड़े कंशेशन ही खत्म किए. यह कदम इसलिए उठाया, जिससे कि केवल जरूरतमंद लोग ही यात्रा कर सकें. रेलवे अभी कमाई पर ध्यान नहीं दे रहा है.

विनोद यादव ने बताया कि पिछली साल की तुलना में रेलवे का काम प्रभावित हुआ है.पैंसेजर ट्रेन तो 22 मार्च से ही बंद थीं. इसके बारे में आने वाले समय में पता चलेगा.

Indian Railway
मथुरा रेलवे स्टेशन पर पश्चिम बंगाल के लिए ट्रेन पकड़ते प्रवासी श्रमिक. तस्वीर- PTI.

1 जून से ट्रेन चलाने के बारे में

रेलवे ने कहा कि बुकिंग 21 मई से शुरू हो चुकी है. 30 दिन पहले तक की बुकिंग की जा सकती है. रिजर्वेशन अगेंस्ट कैंसिलेशन यानी RAC की अनुमति दी गई है. RAC में केवल उन्हीं यात्रियों को ट्रेन में जाने दिया जाएगा जो ट्रेन शुरू होने वाले स्टेशन से बैठेंगे. यानी जिन स्टेशनों पर ठहराव है वहां से RAC की अनुमति नहीं है. अभी वेटिंग लिस्ट में शामिल यात्री ट्रेन में नहीं जा सकेगी. साथ ही रिजर्वेशन से ही यात्रा करने की अनुमति है. जिस ट्रेन में जितनी बर्थ होंगी उतने ही यात्री होंगे.

ट्रेनों की संख्या बढ़ाने पर

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन ने कहा कि लगातार रिजर्वेशन को मॉनीटर किया जा रहा है. 1 जून से चलने वाली ट्रेनों में से अभी तक केवल 30 प्रतिशत बर्थ बुक हुए हैं. कुछ ट्रेनों में 90 से 100 प्रतिशत तक बुकिंग हो चुकी है. जहां लगेगा कि जरूरत है वहां धीरे-धीरे और भी ट्रेनें चलाई जाएंगी. वहीं रेलवे ने कहा कि श्रमिक स्पेशल ट्रेन तब तक चलेंगी जब तक इनकी जरूरत है.

वेटिंग टिकट के सवाल

रेलवे बोर्ड चेयरमैन ने कहा कि शुरू में जब ट्रेन चली तो कुछ लोगों ने यात्रा से ठीक पहले टिकट कैंसिल कर दी. ऐसे में हमने फैसला किया कि कुछ संख्या में वेटिंग टिकट रखेंगे. जिससे कि अंतिम समय में टिकट रद्द होने पर जरूरतमंद लोग यात्रा कर सकें.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video: लॉकडाउन 4.0 में दी गई ढील के बाद चलनी शुरू हुई ट्रेनें, गांव जाने वालों लिए एक ज़रूरी सूचना

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

दुनिया का सबसे तेज़ इंटरनेट, एक सेकेंड में 1000 एचडी मूवी डाउनलोड का दावा

ऑस्ट्रेलिया की तीन यूनिवर्सिटी के टेक रिसर्चर्स ने मिलकर ये कनेक्शन तैयार किया है.

केंद्र से अक्सर लड़ने वाली ममता बनर्जी की पीएम मोदी ने किस बात पर तारीफ की?

पश्चिम बंगाल दौरे पर पीएम मोदी ने 'अमपन' को लेकर एक हज़ार करोड़ रुपए की मदद का ऐलान किया.

रिज़र्व बैंक ने एक बार फिर रेपो रेट घटाया, EMI से तीन महीने और छुटकारा

मार्च और अप्रैल महीने में रिज़र्व बैंक ने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट घटाया था.

प्लेन और ट्रेन से जाने के लिए टिकट और किराए के नियम सरकार ने बताए हैं

जानिए, रेलवे के ऑफलाइन टिकट कहां से मिल सकते हैं.

क्या गुजरात में खराब वेंटीलेटर की वजह से 300 कोरोना मरीज़ों की मौत हो गई?

कांग्रेस ने विजय रूपाणी सरकार पर वेंटीलेटर घोटाले का आरोप लगाया है.

अब इस तारीख से देश के अंदर फ्लाइट्स से यात्रा कर सकेंगे

इससे पहले 200 नॉन एसी ट्रेन चलने की सूचना दी गई थी.

'अम्फान' आ चुका है, पश्चिम बंगाल में दो की मौत, कई घरों को नुकसान

ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में अपना असर दिखा रहा है.

प्रियंका गांधी ने जो गाड़ियां यूपी भेजी हैं, उनमें कितनी बसें हैं, कितने ऑटो?

छह सूचियों में कुल 1049 गाड़ियों की डिटेल्स भेजी गई है.

देशभर में 200 और ट्रेनें चलने की तारीख़ आ गई है

इस बार ख़ुद रेल मंत्री ने बताया है.

लॉकडाउन 4: दफ़्तरों के लिए क्या गाइडलाइंस हैं?

इस लॉकडाउन में तमाम तरह की छूट दी गई हैं.