Submit your post

Follow Us

मीटिंग में मोदी से माफ़ी मांगते दिखे, अब केजरीवाल का ऑफिस क्या सफाई दे रहा?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और 10 राज्यों के मुख्यमंत्रियों की शुक्रवार, 23 अप्रैल को बैठक हुई. बैठक का मुद्दा कोरोना के बिगड़ते हालात थे. इन राज्यों के मुख्यमंत्री मोदी के साथ ऑनलाइन जुड़े हुए थे. जैसे ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बोलने की बारी आई तो मीटिंग का लाइव टेलीकास्ट टीवी चैनलों पर चलने लगा. इस पर पीएम मोदी ने केजरीवाल को टोका. इस दिल्ली के सीएम ने खेद जताया और आगे से ध्यान रखने की बात कही.

केजरीवाल जब बोल रहे थे तो बीच में टोकते हुए पीएम मोदी ने कहा,

ये हमारी जो परंपरा है, हमारा जो प्रोटोकॉल है यह उसके बहुत खिलाफ हो रहा है कि कोई मुख्यमंत्री ऐसी इनहाउस मीटिंग को लाइव टेलिकास्ट करे. यह उचित नहीं है. हमें हमेशा से संयम का पालन करना चाहिए.

इस पर केजरीवाल ने माना कि उनसे गलती हो गई है. उन्होंने पीएम से कहा,

‘ठीक है सर इसका ध्यान रखेंगे आगे से. अगर सर मेरी तरफ से कोई गुस्ताखी हुई है, मैंने कुछ कठोर बोल दिया, या मेरे आचरण में कोई गलती है, तो उसके लिए मैं माफी चाहता हूं.’ अभी तक जितने प्रेजेंटेशन हुए, वो अच्छे थे. आपने जो हमें निर्देश दिए हैं उसका पालन करेंगे.

इस पूरे मामले को लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से सफाई भी आई है. सीएम ऑफिस का कहना है कि उन्हें कभी निर्देश नहीं दिया गया था कि संबोधन को लाइव नहीं किया जा सकता है. अगर इससे कोई दिक्कत हुई है तो वह अपनी ओर से खेद प्रकट करते हैं.

क्या कहा था दिल्ली के सीएम ने?

इससे पहले जब दिल्ली के मुख्यमंत्री की बारी आई तो उन्होंने मीटिंग में बोलना शुरू किया. कहा,

सर मैं हाथ जोड़कर आपसे प्रार्थना कर रहा हूं कि इस बढ़े हुए कोटे को दिल्ली में पहुंचाने के लिए हमारी मदद करें. एक एस्टिमेट के हिसाब से दिल्ली को 700 टन ऑक्सीजन की जरूरत है. आपने हमारा कोटा 480 टन कर दिया. लेकिन 480 टन में से भी 350 टन ऑक्सीजन ही दिल्ली पहुंच सका है. प्रधानमंत्री जी जब से ये संकट शुरू हुआ है, फोन बजते रहते हैं. अस्पातल शिकायत करते रहते हैं कि हमारे पास तीन घंटे का ऑक्सीजन बचा है, दो घंटे का ऑक्सीजन बचा है, कारण जानने की कोशिश करते हैं तो पता चला है कि दिल्ली के पीछे किसी राज्य ने हमारे ट्रक को रोक रखा है.

दिल्ली के सीएम ने आगे कहा-

हमने मदद के लिए कुछ मंत्रियों को फोन किए. शुरू में उन्होंने खूब सहयोग किया सर, लेकिन वो भी अब बेचारे थक गए हैं. देश के संसाधनों पर 130 करोड़ लोगों के अधिकार हैं. अगर दिल्ली में फैक्ट्री नहीं है तो क्या दिल्ली के दो करोड़ लोगों को ऑक्सीजन नहीं मिलेगी. जिस राज्य में फैक्ट्री है. क्या वो दिल्ली का ऑक्सीजन रोक सकते हैं. सर ऐसे में हम क्या करें.

सीएम ने कहा,

मैं ये जानना चाहता हूं कि अगर दिल्ली के किसी अस्पताल में एक घंटे, दो घंटे का ऑक्सीजन बचा हो तो मैं केंद्र में किससे बात करूं. कोई राज्य दिल्ली के के ऑक्सीजन का ट्रक रोक ले तो मैं किसे कॉल करूं. हालत बहुत गंभीर है. हम अपने लोगों को मरने के लिए नहीं छोड़ सकते. हमें अपने लोगों को यकीन दिलाना होगा कि एक-एक जिंदगी कीमती है. मैं आपसे हाथ जोड़कर अपील कर रहा हूं कि कठोर और सार्थक कदम नहीं उठाया गया तो दिल्ली के अंदर बहुत बड़ी त्रासदी हो सकती है.

मुख्यमंत्री ने पीएम से कहा कि अगर आप उन राज्यों के मुख्यमंत्रियों को एक फोन लगा दें तो वह बहुत होगा. मैं मुख्यमंत्री होते हुए भी कुछ नहीं कर पा रहा. ईश्वर न करे कि कुछ अनहोनी हो. हम कभी अपने आप को माफ नहीं कर पाएंगे. केजरीवाल ने कहा कि वैक्सीन बनाने वाली एक कंपनी ने अभी कहा है कि केंद्र सरकार को वैक्सीन 150 रुपए में एक और राज्यों का रेट 400 रुपए का होगा. एक ही देश में वैक्सीन के दो रेट कैसे हो सकते हैं? वैक्सीन का वन नेशन, वन रेट होना चाहिए.’ सारे देश को एक ही दाम पर वैक्सीन मिलनी चाहिए.


ट्विटर पर कोविड मरीजों के लिए बेड,ऑक्सीजन और जरूरी दवाइयां झट से ढूंढकर दे देगी ये वेबसाइट!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

बंगाल में केंद्रीय मंत्री के काफिले पर हमला हुआ तो ममता बनर्जी ने उलटा क्या आरोप मढ़ दिया?

बंगाल में केंद्रीय मंत्री के काफिले पर हमला हुआ तो ममता बनर्जी ने उलटा क्या आरोप मढ़ दिया?

लगातार हो रही हिंसा की जांच के लिए होम मिनिस्ट्री ने अपनी टीम बंगाल भेज दी है.

पंजाबी फ़िल्मों के मशहूर एक्टर-डायरेक्टर सुखजिंदर शेरा का निधन

पंजाबी फ़िल्मों के मशहूर एक्टर-डायरेक्टर सुखजिंदर शेरा का निधन

कीनिया में अपने दोस्त से मिलने गए थे, वहां तेज बुखार आया था.

सलमान खान ने मदद मांगने वाले 18 साल के लड़के को यूं दिया सहारा!

सलमान खान ने मदद मांगने वाले 18 साल के लड़के को यूं दिया सहारा!

कुछ दिन पहले ही कोरोना से अपने पिता को गंवा दिया.

उत्तराखंड में एक और आपदा, उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग के पास बादल फटा

उत्तराखंड में एक और आपदा, उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग के पास बादल फटा

भारी नुक़सान की ख़बरें लेकिन एक राहत की बात है

क्या वाकई केंद्र सरकार ने मार्च के बाद वैक्सीन के लिए कोई ऑर्डर नहीं दिया?

क्या वाकई केंद्र सरकार ने मार्च के बाद वैक्सीन के लिए कोई ऑर्डर नहीं दिया?

जानिए वैक्सीन को लेकर देश में क्या चल रहा है.

Covid-19: अमेरिका के इस एक्सपर्ट ने भारत को कौन से तीन जरूरी कदम उठाने को कहा है?

Covid-19: अमेरिका के इस एक्सपर्ट ने भारत को कौन से तीन जरूरी कदम उठाने को कहा है?

डॉक्टर एंथनी एस फॉउसी सात राष्ट्रपतियों के साथ काम कर चुके हैं.

रेमडेसिविर या किसी दूसरी दवा के लिए बेसिर-पैर के दाम जमा करने के पहले ये ख़बर पढ़ लीजिए

रेमडेसिविर या किसी दूसरी दवा के लिए बेसिर-पैर के दाम जमा करने के पहले ये ख़बर पढ़ लीजिए

देश भर से सामने आ रही ये घटनाएं हिला देंगी.

कुछ लोगों को फ्री, तो कुछ को 2400 से भी महंगी पड़ेगी कोविड वैक्सीन, जानिए पूरा हिसाब-किताब

कुछ लोगों को फ्री, तो कुछ को 2400 से भी महंगी पड़ेगी कोविड वैक्सीन, जानिए पूरा हिसाब-किताब

वैक्सीन के रेट्स को लेकर देशभर में कन्फ्यूजन की स्थिति क्यों है?

कोरोना से हुई मौतों पर झूठ कौन बोल रहा है? श्मशान या सरकारी दावे?

कोरोना से हुई मौतों पर झूठ कौन बोल रहा है? श्मशान या सरकारी दावे?

जानिए न्यूयॉर्क टाइम्स ने भारत के हालात पर क्या लिखा है.

PM Cares से 200 करोड़ खर्च होने के बाद भी नहीं लगे ऑक्सीजन प्लांट, लेकिन राजनीति पूरी हो रही है

PM Cares से 200 करोड़ खर्च होने के बाद भी नहीं लगे ऑक्सीजन प्लांट, लेकिन राजनीति पूरी हो रही है

यूपी जैसे बड़े राज्य में केवल 1 प्लांट ही लगा.