Submit your post

Follow Us

निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में जो ज़्यादा लहसुन-प्याज़ न खाने वाली बात कही, उसका सच ये है

5
शेयर्स

सब्जी मंडी में प्याज़ एक्सक्लूसिव हो गया है. वजह, महंगाई. खुदरा बाज़ार में 100-110 रुपये की औसत कीमत पर बिक रहा है किलोभर प्याज़. कई जगहों पर कीमतें डेढ़ सौ रुपये तक पहुंच जाने की भी ख़बरें आई हैं. इन महंगी कीमतों का मुद्दा 4 दिसंबर को संसद में भी उठा. वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने इस मुद्दे पर अपना बयान पेश किया. इसी दौरान विपक्ष के एक सांसद ने वित्तमंत्री को ताना देते हुए कहा कि वो तो इज़िप्टियन प्याज़ खाती होंगी. इसपर वित्तमंत्री बोलीं-

मैं इतना लहसुन-प्याज़ नहीं खाती हूं जी. सो डोन्ट वरी. मैं ऐसे परिवार से आती हूं, जहां प्याज़ से मतलब नहीं रखते हैं. 

ये क्लिप वायरल हो गया है
ये क्लिप सोशल मीडिया पर काफी शेयर किया जा रहा है. कुछ इस अंदाज़ में कि सीतारमण को प्याज़ की बढ़ती कीमतों से कोई फ़र्क नहीं पड़ता. कई लोग वित्तमंत्री की कही इस बात को असंवेदनशील बता रहे हैं. नाराज़गी जता रहे हैं. मसलन-

मगर ये सच नहीं है
सीतारमण की कही इस बात के संदर्भ को हटाकर ये क्लिप शेयर किया जा रहा है. आउट ऑफ कॉन्टेक्स्ट. जबकि सच ये है कि वित्तमंत्री ने इज़िप्टियन प्याज़ वाले ताने पर जवाब देते हुए ‘मैं लहसुन-प्याज़ ज़्यादा नहीं खाती’ वाला बात कही थी. इसपर किसी सांसद ने तेज़ आवाज़ में कहा कि ज़्यादा प्याज़ खाने से कैंसर हो जाता है. मगर वित्तमंत्री ने आगे इसपर कोई प्रतिक्रिया न देते हुए ये बताना जारी रखा कि कि देश में बढ़ती प्याज़ की कीमतों पर नियंत्रण के लिए केंद्र सरकार क्या कुछ कर रही है. कई कोशिशें गिनाई गईं. मसलन, प्याज़ के निर्यात पर प्रतिबंध. बाहर से प्याज़ मंगवाना. देश के जिन इलाकों में प्याज़ खपत से ज़्यादा मात्रा में मौजूद हैं, वहां से उसे कम उपलब्धता वाले इलाकों में भेजना.

सीतारमण ने कहा कि सरकार ने विदेशों में प्याज़ निर्यात करने पर फिलहाल रोक लगा दी है और अलग-अलग देशों से करीब एक लाख मीट्रिक टन प्याज़ का आयात भी किया गया है. राजस्थान के पास खपत से अतिरिक्त प्याज़ उपलब्ध था. उसे वहां से मंगवाकर दिल्ली और बिहार भेजा गया है.

प्याज़ की बढ़ी हुई कीमतों पर और क्या बताया वित्तमंत्री ने
प्याज़ की कीमतों में हुए इज़ाफे का कारण बताते हुए सीतारमण ने कहा कि प्याज़ की खेती के इलाके में कमी आई है. इस वजह से फसल पर असर पड़ा. महंगी कीमतों को काबू में करने के लिए 3 दिसंबर को सरकार ने प्याज़ का स्टॉक रखने पर भी लिमिट लगा दी है. खुदरा विक्रेताओं के लिए ये सीमा पांच टन और होलसेल कारोबारियों के लिए 25 टन है.

इससे पहले 3 दिसंबर को कांग्रेस ने प्याज़ की महंगी कीमतों का मुद्दा लोकसभा में उठाया था. उसने इस महंगाई पर सरकार को घेरा. और, BJP सांसदों पर इल्ज़ाम लगाया कि वो सदनमें हो-हंगामा मचा रहे हैं, ताकि इतने अहम मसले पर चर्चा न होने पाए. कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी ने इस मसले पर बोलते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा था, न खाऊंगा न खाने दूंगा. मगर बिचौलिये भ्रष्टाचार कर रहे हैं.


GDP ग्रोथ गिरकर 4.5% पर और प्याज का दाम 100 के पार

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या मुखर्जी नगर में रहने वाले स्टूडेंट्स को जबरन छुट्टी पर भेज रही है दिल्ली पुलिस?

लोग इसे CAA प्रोटेस्ट से जोड़कर देख रहे हैं.

यूपी : बिजनौर के गांववालों ने बताया, 'पुलिस घरों में घुसकर मुस्लिमों को प्रताड़ित कर रही है'

दो लड़कों की मौत, और एक भीड़ से भरी हुई जेल.

पहले CAA आएगा फिर NRC, ये हम नहीं अमित शाह कई बार कह चुके हैं, ये रहे सबूत

लेकिन कानून मंत्री कह रहे हैं ऐसा कोई प्लान नहीं है.

CAA Protest: RJD के बिहार बंद में हिंसक प्रदर्शन की खबर

आम जनता को परेशान करने के वीडियो सामने आए.

उन्नाव रेप केस : पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को कोर्ट ने क्या सजा दी है?

25 लाख रुपए का मुआवजा भी देना होगा.

CAA PROTEST: जामा मस्ज़िद के बाहर भीम आर्मी का प्रदर्शन, अमित शाह के घर के बाहर प्रोटेस्ट में शर्मिष्ठा मुखर्जी अरेस्ट

आज देश में कहां पर क्या हो रहा है?

पूरे देश में नागरिकता संशोधन क़ानून को लेकर हो रहे प्रदर्शन, कई नामी लोग हिरासत में

और लोग पूछ रहे, "सब चंगा सी?"

जयपुर सीरियल बम ब्लास्ट के फैसले में एक आरोपी को क्यों छोड़ा गया?

इस ब्लास्ट में 71 लोगों की जान गई थी और 185 ज़ख्मी हुए थे.

कोर्ट ने रतन टाटा का मूड खराब कर दिया, वापिस आ गए साइरस मिस्त्री

और अब टाटा समूह जाएगा सुप्रीम कोर्ट!

जामिया प्रोटेस्ट: पुलिस की FIR में कांग्रेस के पूर्व MLA समेत इन 6 लोगों के नाम हैं

आरोप है कि हिंसा से दो दिन पहले से वो लोगों को भड़का रहे थे.