Submit your post

Follow Us

मोदी को अमरीका में अवॉर्ड मिलना है, लेकिन 3 नोबेल विजेताओं ने उनका मूड खराब कर दिया

1.21 K
शेयर्स

बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन द्वारा नरेंद्र मोदी को अवार्ड दिया जाना है. ग्लोबल गोलकीपर अवॉर्ड. किसलिए? स्वच्छता अभियान के लिए. 24 सितंबर को दिया जाएगा. लेकिन ये पुरस्कार दिए जाने से पहले ही बवाल होने लगा है. लोग अपील करने लगे हैं कि नरेंद्र मोदी को ये अवार्ड नहीं दिया जाना चाहिए. क्योंकि नरेंद्र मोदी इसके लायक नहीं है.

किसने कहा? नोबेल का शान्ति पुरस्कार पाए लोगों ने कहा है. कुल तीन लोगों ने इस बाबत बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन को ख़त लिखा है. आजतक में प्रकाशित खबर के हवाले से कहें, इस लिस्ट में 1976 के नोबेल शांति पुरस्कार विजेता मैरियड मैगुअर,  2003 में नोबेल शान्ति पुरस्कार पाने वाली शिरीन एबादी, और 2011 के नोबेल शांति पुरस्कार विेजेता तवाक्कुल अब्दील-सलाम कामरान शामिल हैं.

फाउंडेशन को भेजे पत्र में लिखा गया है,

“हमें बेहद निराशा हुई जब बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन इस महीने के अंत नरेंद्र मोदी को अवॉर्ड से सम्मानित करने जा रहा है. नरेंद्र मोदी के राज में भारत में लोकतंत्र और मानवाधिकार दोनों ही कमज़ोर हुए हैं. यह हमें विशेष रूप से परेशान कर रहा है क्योंकि आपके फाउंडेशन का मिशन ‘जीवन को संरक्षित करना और असमानता से लड़ना’ है.”

पत्र में बताया गया है कि कैसे भारत में अल्पसंख्यकों पर संगठित रूप से हमले बढ़े हुए हैं.

“2014 में जब से भारत में नरेंद्र मोदी की अगुवाई में बीजेपी सत्ता में आई है, तब से संगठित लोगों की ओर से हिंसा की घटनाएं बढ़ी हैं. इस वजह से क़ानून का शासन कमज़ोर हुआ है. ह्यूमन राइट वॉच के अनुसार, भारतीय सुप्रीम कोर्ट ने भी चेतावनी दी कि भीड़तंत्र की खतरनाक हरकतों के लिए कानून को खत्म करने की इजाजत नहीं दी जा सकती.”

पत्र में 2002 के गुजरात दंगों का भी ज़िक्र है. कहा गया है कि कई विद्वानों ने 2002 के दंगों में संलिप्तता से नरेंद्र मोदी को माफ़ नहीं किया है. इसी कारण नरेंद्र मोदी को अमरीका, ब्रिटेन और कनाडा में 10 सालों तक घुसने नहीं दिया गया था.

पत्र में कहा गया है,

“आपके फाउंडेशन के समग्र दृष्टिकोण और लक्ष्यों को देखते हुए हम सम्मानपूर्वक आग्रह करते हैं कि आप नरेंद्र मोदी से अपना पुरस्कार वापस ले ले. ऐसा करने से एक स्पष्ट और शक्तिशाली संदेश जाएगा कि बिल और मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन समानता, न्याय, और सभी के लिए मानवाधिकारों के अपने लक्ष्य को गंभीरता से लेता है और यह इन मूल्यों को सुसंगत रूप से बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है.”

इसके अलावा, अखबार द गार्डियन के मुताबिक़,  साउथ एशिया मूल के अमरीकी नागरिकों ने भी फाउंडेशन को पत्र लिखकर आग्रह किया है कि वे मोदी को ये अवार्ड न दें. क्योंकि स्वच्छता अभियान के लिए दिया जा रहा ये अवार्ड दरअसल उन बातों को नज़रंदाज़ करता है, जिस वजह से देश में कट्टरपंथ को बढ़ावा मिला है. इस पत्र में कश्मीर का भी ज़िक्र किया गया है कि एक महीने पहले से कश्मीर में रह रहे लोगों को उनके परिजनों से अलग कैद किया गया है और संपर्क के सारे साधन बंद कर दिए गए है.

संस्था ह्यूमन राइट्स वाच के निदेशक केनेथ रोथ ने भी ट्विटर पर लिखकर विरोध जताया है कि वे क्यों नहीं चाहते कि मोदी को ये अवार्ड दिया जाए.


लल्लनटॉप वीडियो : मोदी सरकार में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कॉर्पोरेट टैक्स के रेट घटा दिए हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

जिसमें स्टैच्यू ऑफ यूनिटी ने ताजमहल को पीछे छोड़ दिया, उस रिपोर्ट में एक इत्तू सी 'गोची' भी है

आज भी किसी भी अन्य मोन्यूमेंट से कहीं ज़्यादा लोग ताजमहल को ही देखने आते हैं. मगर...

पाकिस्तान या चीन ने ज़हरीली गैस तो नहीं छोड़ी, जिससे इंडिया में पल्यूशन हो गया: बीजेपी नेता

नेता जी का पूरा बयान सुनकर आप सिर पीट लेंगे.

पहली बार एक ही फिल्म में काम करने जा रहे हैं शाहरुख, आमिर और सलमान खान

जो काम देश का कोई फिल्ममेकर नहीं कर पाया, वो आमिर खान ने कर दिया है.

आमिर खान की अगली फिल्म 'लाल सिंह चड्ढा' का मोशन पोस्टर आ गया, इस दिन रिलीज होगी

नया लुक देखकर लग रहा है कुछ धमाकेदार होने वाला है.

लड़की के साथ बदतमीजी करने पर टीचर ने डांटा, लड़के ने भीड़ बुलाकर मास्टर को खूब पिटवाया

ये वारदात है UP की. टीचर को बहुत चोट आई. फ्रैक्चर हो गया है. इस वारदात का एक विडियो भी वायरल है.

ऋषभ ने कभी न सोचा होगा कि विराट कोहली को बड्डे विश करना इतना महंगा पड़ेगा

फैन्स ने न सिर्फ पंत को मधुमक्खी की तरह घेरा बल्कि ट्रोलिंग के डंक मार-मार के उन्हें पस्त भी कर दिया.

उजड़ा चमन से विवाद खत्म हुआ तो फिल्म बाला पर एक और बड़ी मुसीबत आ गई

फिल्म की रिलीज़ में सिर्फ दो दिन बचे हैं और फिल्म बनाने वालों को कोर्ट ने नोटिस भेज दिया

'राधे' फिल्म की शूटिंग से सलमान ने वीडियो शेयर किया, लोग टूट-टाटकर देख रहे हैं

इंटरनेट न बैठ जाए कसम से.

बांदा: सरकारी दफ्तर में कर्मचारी हेलमेट लगाकर काम करते हैं, वजह काफ़ी दुखी करने वाली है

यहां सड़क से ज्यादा कमरे के अंदर हेलमेट लगाना जरूरी है.

ज़िंदा जलाई गई तहसीलदार को बचाने की कोशिश करने वाले ड्राइवर की भी मौत

ड्राइवर के परिवार में आठ महीने की प्रेगनेंट पत्नी और दो साल का एक बेटा है.