Submit your post

Follow Us

UP: यमुना नदी में बहते मिले दर्जन भर शव, पुलिस ने इसकी ये वजह बताई है

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में लोगों ने यमुना नदी में कई शव तैरते देखे तो हैरान रह गए. घटना गुरुवार 6 मई की है. करीब एक दर्जन शव यमुना में बह रहे थे. कहा जा रहा है कि ऐसा पहले कभी नहीं देखा गया. पुलिस को आशंका है कि कोरोना के डर की वजह से शवों को नदी में प्रवाहित कर दिया गया था, जो बहते हुए यहां आ गए.

यमुना में बहा रहे शव

आजतक के नाहिद अंसारी की रिपोर्ट के मुताबिक, हमीरपुर जिले में बहने वाली यमुना नदी का उत्तरी किनारा कानपुर से लगता है. यहां लोग यमुना को मोक्ष दाहिनी कालिंदी मानते हैं. मृत्यु होने पर अंतिम संस्कार के बाद इसी यमुना में प्रवाहित किये जाने की पुरानी परंपरा है. यमुना नदी में इक्का-दुक्का शव पहले भी देखे जाते रहे हैं, लेकिन कोरोना काल में नदी में शवों की संख्या बढ़ गई है. कानपुर और हमीरपुर जिलों के ग्रामीण इलाकों में बड़ी तादाद में लोगों की मृत्यु हो रही है. आशंका जताई जा रही है कि कोरोना के डर से ग्रामीण शवों का अग्निदाह करने के बजाय यमुना में बहा दे रहे हैं.

पुलिस का क्या कहना है?

हमीरपुर के अपर पुलिस अधीक्षक (ASP) अनूप कुमार सिंह ने बताया कि हमें पता चला कि यमुना नदी में कुछ शव बहकर आ रहे हैं. प्रभारी निरीक्षक को मौके पर भेजा गया. प्रभारी निरीक्षक की ओर से देखा गया कि जनपद कानपुर से ट्रैक्टर में दो शवों को लाकर उनका अंतिम संस्कार यमुना में बहा दिया गया है. कुछ और शव यमुना में पहले से बह रहे थे. एक शव अधजली अवस्था में है.

हमीरपुर पुलिस ने इसके बारे में ट्वीट करके जानकारी दी.

हालांकि पुलिस ने इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी है कि जो शव बह रहे हैं, उनकी मौत कैसे हुई.

कोरोना से यूपी बेहाल

यूपी भी इन दिनों कोरोना की चपेट में है. गुरुवार को यहां 26780 नए मरीज सामने आए, 353 मरीजों की मौत हो गई. पिछले 24 घंटों में 28,902 संक्रमित ठीक हुए हैं. प्रदेश में रिकवरी रेट भी सुधर रहा है. 30 अप्रैल तक राज्य में 3,10,783 एक्टिव केस थे. अब इसमें 51,000 से ज्यादा की कमी हो चुकी है.

इस बीच, कोरोना की चपेट में आकर शुक्रवार को बीजेपी के एक और विधायक की मौत हो गई. रायबरेली की सलोन विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक और पूर्व मंत्री दल बहादुर कोरी का निधन हो गया. इससे पहले, औरैया से भाजपा विधायक रमेश दिवाकर, लखनऊ पश्चिम से विधायक सुरेश श्रीवास्तव और बरेली के नवाबगंज से विधायक केसर सिंह गंगवार का भी कोरोना के कारण निधन हो चुका है.


वीडियो: कोरोना में रोज़ सैकड़ों मौतें देखने वाले डॉक्टरों ने क्या बताया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

बंगाल में केंद्रीय मंत्री के काफिले पर हमला हुआ तो ममता बनर्जी ने उलटा क्या आरोप मढ़ दिया?

लगातार हो रही हिंसा की जांच के लिए होम मिनिस्ट्री ने अपनी टीम बंगाल भेज दी है.

पंजाबी फ़िल्मों के मशहूर एक्टर-डायरेक्टर सुखजिंदर शेरा का निधन

कीनिया में अपने दोस्त से मिलने गए थे, वहां तेज बुखार आया था.

सलमान खान ने मदद मांगने वाले 18 साल के लड़के को यूं दिया सहारा!

कुछ दिन पहले ही कोरोना से अपने पिता को गंवा दिया.

उत्तराखंड में एक और आपदा, उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग के पास बादल फटा

भारी नुक़सान की ख़बरें लेकिन एक राहत की बात है

क्या वाकई केंद्र सरकार ने मार्च के बाद वैक्सीन के लिए कोई ऑर्डर नहीं दिया?

जानिए वैक्सीन को लेकर देश में क्या चल रहा है.

Covid-19: अमेरिका के इस एक्सपर्ट ने भारत को कौन से तीन जरूरी कदम उठाने को कहा है?

डॉक्टर एंथनी एस फॉउसी सात राष्ट्रपतियों के साथ काम कर चुके हैं.

रेमडेसिविर या किसी दूसरी दवा के लिए बेसिर-पैर के दाम जमा करने के पहले ये ख़बर पढ़ लीजिए

देश भर से सामने आ रही ये घटनाएं हिला देंगी.

कुछ लोगों को फ्री, तो कुछ को 2400 से भी महंगी पड़ेगी कोविड वैक्सीन, जानिए पूरा हिसाब-किताब

वैक्सीन के रेट्स को लेकर देशभर में कन्फ्यूजन की स्थिति क्यों है?

कोरोना से हुई मौतों पर झूठ कौन बोल रहा है? श्मशान या सरकारी दावे?

जानिए न्यूयॉर्क टाइम्स ने भारत के हालात पर क्या लिखा है.

PM Cares से 200 करोड़ खर्च होने के बाद भी नहीं लगे ऑक्सीजन प्लांट, लेकिन राजनीति पूरी हो रही है

यूपी जैसे बड़े राज्य में केवल 1 प्लांट ही लगा.