Submit your post

Follow Us

विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद शिवराज ने अपनी पुलिस के लिए क्या कहा?

हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे गिरफ्तार हो गया. उज्जैन में महाकाल मंदिर के करीब पुलिस ने उसे पकड़ा. कानपुर के बिकरू गांव में आठ पुलिसवालों की हत्या के वारदात के छह दिन बाद. इस पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहन ने ट्विटर पर अपने राज्य की पुलिस को बधाई दी है. उन्होंने लगातार तीन ट्वीट करके लिखा,

“जिनको लगता है कि महाकाल की शरण में जाने से उनके पाप धूल जाएंगे, उन्होंने महाकाल को जाना ही नहीं. हमारी सरकार किसी भी अपराधी को बख्शने वाली नहीं है. विकास दुबे की गिरफ्तारी के लिए उज्जैन पुलिस को बधाई. मैंने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी से बात कर ली है. शीघ्र आगे की कानूनी कार्रवाई की जाएगी.”

नरोत्तम मिश्रा ने क्या कहा?

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी इस गिरफ्तारी पर अपनी पुलिस की तारीफ की. कहा,

“हमारी पुलिस किसी को भी छोड़ती नहीं है, विकास को भी पकड़ा है, गिरफ्तार किया है. इंटेलिजेंस (कैसे गिरफ्तारी हुई) की बातें अभी फिलहाल सीधी नहीं बतानी चाहिए. उसके मर्म तक पहुंचने के बाद बताएंगे. अभी सिर्फ इतना बता रहा हूं कि वो हमारी कस्टडी में है. मंदिर को बीच में न लाएं. उज्जैन में गिरफ्तारी हुई है. शुरुआत से ही ये (विकास) क्रूरता की हदें पार करता रहा है, जो भी काम किया वो निंदनीय था. मध्य प्रदेश को बड़ी कामयाबी मिली है. वारदात (कानपुर की घटना) होने के बाद से ही हमने मध्य प्रदेश की पुलिस को अलर्ट में रखा था. और पूरी निगाह रखी जा रही थी.”

गिरफ्तारी के बाद विकास क्या बोला?

समाचार एजेंसी ANI ने एक वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें विकास कानपुर पुलिस के कब्ज़े में दिख रहा है. और चिल्ला रहा है,

‘मैं विकास दुबे हूं, कानपुर वाला’

इसके बाद एक दूसरा पुलिसवाला विकास को पीछे से झापड़ मारकर चुप रहने को कहता है.

इसके अलावा भी गिरफ्तारी के दौरान के कुछ वीडियो सामने आए हैं, जिसमें विकास ये कहते दिख रहा है,

‘मैं विकास दुबे कानपुर वाला हूं… इन्होंने हमें पकड़ लिया है’

क्या है पूरा मामला?

गुरुवार, 2 जुलाई को राहुल तिवारी नाम के एक व्यक्ति ने चौबेपुर थाने में विकास दुबे के खिलाफ केस दर्ज कराया था. चौबेपुर थाने के दीवान यशवीर सिंह ने बताया कि राहुल ने विकास पर अपने ससुर लालू की ज़मीन का बयाना जबरन कराए जाने की FIR कराई थी. FIR में उसने लिखाया था,

“विकास मुझे रास्ते से जबरन गाड़ी में डालकर अपने घर ले गया, जहां उन्होंने मुझे मार-पीटकर एक कमरे में बंद कर दिया था. किसी तरह रात में मौका देखकर मैं भाग आया.”

विकास को पहले से थी सूचना?

इस एफआईआर के बाद इसकी जांच के लिए ही पुलिस टीम बिकरू गांव गई थी. बिकरू में पुलिस को पहले से विरोध की आशंका थी, इसलिए कई थानों की फ़ोर्स लेकर सीओ देवेंद्र मिश्रा गए थे. विकास के घर की तरफ जाने वाले रास्ते को जेसीबी से ब्लॉक किया गया. और अगल-बगल की छतों से विकास दुबे के गुर्गों ने पुलिस पर कथित रूप से फायरिंग की. इसमें 8 पुलिसकर्मियों की जान चली गई. मौका देखकर विकास फरार हो गया. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, विकास दुबे को पहले से ही पुलिस की दबिश की मुखबिरी हो गई थी.


वीडियो देखें: कानपुर से फरीदाबाद कैसे पहुंचा विकास दुबे?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कानपुर कांड : आरोपी की गिरफ़्तारी में सच कौन बोल रहा? यूपी पुलिस या आरोपी के घरवाले?

वीडियो में क्या कहा कानपुर कांड के आरोपी ने?

विकास दुबे को बचाने के लिए अपने ही साथियों को धोखा देने वाले दो पुलिसवाले धर लिए गए हैं

घटना में आठ पुलिसवाले शहीद हुए थे.

PM Cares के पैसों से बने वेंटिलेटर पर सवाल उठे तो बनाने वाले ने राहुल गांधी को घेर लिया

कहा कि राहुल गांधी के सामने डेमो दिखा सकता हूं.

क्या गलवान में पीछे हटकर चीन 1962 वाली चाल दोहरा रहा है?

58 साल पहले भी ऐसा ही हुआ था. पहले चीन गलवान में पीछे हटा और कुछ दिन बाद भारत पर हमला कर दिया.

सरकार ने वो आदेश दिया है कि कंपनियां मास्क और सैनिटाइज़र के दाम में मनचाहा बदलाव कर सकती हैं

राज्यों ने शिकायत नहीं की, तो सरकार ने आदेश निकाल दिया

बुरी खबर! 'मेरे जीवनसाथी', 'काला सोना' जैसी फ़िल्में बनाने वाले प्रड्यूसर हरीश शाह नहीं रहे

कैंसर से जारी जंग आखिरकार हार गए.

दिल्ली की जेल में सजा काट रहे सिख दंगे के दोषी नेता की कोरोना से मौत हो गई

विधायक रह चुके इस नेता की कोरोना रिपोर्ट 26 जून को पॉज़िटिव आई थी.

श्रीलंका का ये क्रिकेटर हत्या के आरोप में गिरफ्तार

44 टेस्ट, 76 वनडे और 26 टी20 खेल चुका है.

लेह में दिए अपने भाषण में पीएम मोदी ने चीन का नाम लिए बिना क्या-क्या कहा?

जवानों पर, बॉर्डर के विकास पर, दुनिया की सोच पर बहुत कुछ बोला है.

ICMR ने एक महीने में कोरोना की वैक्सीन लॉन्च करने का झूठा दावा किया है!

क्या वैक्सीन के ट्रायल में घपला हो रहा है?