Submit your post

Follow Us

दाढ़ी देखकर पुलिसवालों ने वकील को पीटा, अधिकारी ने सफाई दी- उन्हें लगा आप मुस्लिम हैं

मध्य प्रदेश का बैतूल ज़िला. 23 मार्च की रात यहां दीपक बुंदेले नाम के वकील को कुछ पुलिसवालों ने बुरी तरह पीटा था, जिसके बाद दीपक ने पुलिस के बड़े अधिकारियों से लेकर, बार काउंसिल और सुप्रीम कोर्ट तक से इस मामले की शिकायत की थी. करीब डेढ़ महीने बाद कुछ पुलिस अधिकारी उनका बयान लेने के लिए उनके घर पहुंचे. 17 मई के दिन. इन अधिकारियों में ASI बीए पटेल भी शामिल थे. बयान लेने के दौरान पुलिसवालों ने दीपक से कहा कि वो अपना केस वापस ले लें. ये भी कहा कि जिन पुलिसवालों ने उन्हें पीटा था, वो माफी मांगने को तैयार हैं. फिर बातों ही बातों में ये भी बताया कि 23 मार्च की रात पुलिसवालों ने दीपक को मुस्लिम समझ लिया था, क्योंकि उनकी बड़ी-बड़ी दाढ़ी थी. इसी ‘गलतफहमी’ में उन्हें पीट दिया.

‘आज तक’ से जुड़े रवीश पाल सिंह और राजेश भाटिया ने इस पूरे मामले की और जानकारी दी. बताया कि दीपक ने 17 मई के दिन पुलिसवालों के साथ हुई बातचीत का ऑडियो रिकॉर्ड कर लिया था. जब अधिकारी उनके घर से गए, तब उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस के और भी बड़े अधिकारियों से की और ऑडियो रिकॉर्डिंग भी जमा करवा दी. जांच में ऑडियो सही पाया गया. कार्रवाई करते हुए पुलिस ने ASI बीए पटेल को सस्पेंड कर दिया है.

घटना पर मध्य प्रदेश के गृह विभाग ने DGP विवेक जौहरी की तरफ से ट्वीट कर सफाई दी. कहा,

‘बैतूल की घटना अपमानजनक है. इस एक घटना को पूरे एमपी पुलिस बल पर चित्रित कर देना सही नहीं है. जैसे ही ये घटना मेरी जानकारी में आई, एक अधिकारी को बुधवार (20 मई) को तुरंत सस्पेंड कर दिया गया. DIG इस मामले की विस्तृत जांच कर रहे हैं.’

23 मार्च की रात को हुआ क्या था?

दीपक बुंदेले बताते हैं कि 23 मार्च की रात वो सरकारी अस्पताल जा रहे थे. वो डायबटीज़ के मरीज हैं. उस रात उन्हें तबीयत थोड़ी गड़बड़ लग रही थी. वो पैदल ही जा रहे थे. हालांकि तब तक कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन नहीं हुआ था, लेकिन धारा 144 लगी हुई थी. रास्ते में कुछ पुलिसवालों ने उन्हें रोक लिया. दीपक ने उन्हें बताया कि वो अस्पताल जा रहे हैं, लेकिन पुलिसवालों ने उनकी एक न सुनी और उन्हें पीटने लगे. जब दीपक ने उन्हें बताया कि वो वकील हैं, तब जाकर उन्हें छोड़ा गया, लेकिन तब तक वो बुरी तरह चोटिल हो गए थे.

अगले दिन (24 मार्च) उन्होंने डिस्ट्रिक्ट सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस (SP) डीएस भदौरिया और डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (DGP) विवेक जौहरी के पास मामले की शिकायत की. राज्य के मानवाधिकार आयोग, हाई कोर्ट, सुप्रीम कोर्ट को भी लिखित में शिकायत भेजी.

‘दी वायर’ की रिपोर्ट के मुताबिक, दीपक को कई बार कुछ पुलिसवालों ने शिकायत वापस लेने को कहा. कभी उनसे ये कहा गया कि अगर वो शिकायत वापस लेते हैं, तो वरिष्ठ अधिकारी माफीनामा और घटना की निंदा करते हुए स्टेटमेंट जारी कर सकते हैं. यह भी कहा गया कि अगर वो और उनका भाई, जो खुद एक वकील है, वकालत की प्रैक्टिस करना चाहते हैं, तो अपनी शिकायत वापस ले लें. इन सबके बाद भी दीपक ने शिकायत वापस नहीं ली.

फिर 17 मई को कुछ अधिकारी उनके घर आए, उनका बयान रिकॉर्ड करने के लिए. फिर यहीं पर ये कहा गया कि उनकी दाढ़ी की वजह से उस रात पुलिसवालों ने उन्हें मुस्लिम समझ लिया था और पीट दिया था.


वीडियो देखें: पटना: DTO के पीटने का वीडियो वायरल हुआ, लेकिन इस कारण से FIR भी न हो सकी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या गुजरात में खराब वेंटीलेटर की वजह से 300 कोरोना मरीज़ों की मौत हो गई?

कांग्रेस ने विजय रूपाणी सरकार पर वेंटीलेटर घोटाले का आरोप लगाया है.

अब इस तारीख से देश के अंदर फ्लाइट्स से यात्रा कर सकेंगे

इससे पहले 200 नॉन एसी ट्रेन चलने की सूचना दी गई थी.

'अम्फान' आ चुका है, पश्चिम बंगाल में दो की मौत, कई घरों को नुकसान

ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में अपना असर दिखा रहा है.

प्रियंका गांधी ने जो गाड़ियां यूपी भेजी हैं, उनमें कितनी बसें हैं, कितने ऑटो?

छह सूचियों में कुल 1049 गाड़ियों की डिटेल्स भेजी गई है.

देशभर में 200 और ट्रेनें चलने की तारीख़ आ गई है

इस बार ख़ुद रेल मंत्री ने बताया है.

लॉकडाउन 4: दफ़्तरों के लिए क्या गाइडलाइंस हैं?

इस लॉकडाउन में तमाम तरह की छूट दी गई हैं.

प्रियंका गांधी वाड्रा की 1000 बसों में कुछ नंबर ऑटो और कार के कैसे निकल गए?

हालांकि संबित पात्रा ने भी जिस बस को स्कूटर बताया, वहां एक पेच है.

मज़दूरों की लाश की ऐसी बेक़द्री पर झारखंड के सीएम कसके गुस्साए हैं

घायल मज़दूरों के साथ अमानवीय व्यवहार करने का आरोप.

कोरोना की वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर, जल्द ही आखिरी स्टेज का टेस्ट होने की उम्मीद

जुलाई के महीने को लेकर अहम बात भी कह डाली है.

केजरीवाल ने लॉकडाउन 4 में बहुत सारी छूट दे दी हैं

ऑड-ईवन आ गया, लेकिन ट्रांसपोर्ट में नहीं.