Submit your post

Follow Us

महापंचायत के लिए मुजफ्फरनगर पहुंचे राकेश टिकैत बोले- यहां की जमीन पर कदम नहीं रखूंगा

मुजफ्फरनगर में आज किसान महापंचायत है. GIC यानी गवर्मेंट इंटर कॉलेज ग्राउंड पर हो रही इस महापंचायत में भारतीय किसान यूनियन समेत कई किसान संगठन शामिल हो रहे हैं.किसान आंदोलन से चर्चा में रहे किसान नेता राकेश टिकैत भी मुजफ्फरनगर पहुंच रहे हैं. मुजफ्फरनगर के ही रहने वाले राकेश टिकैत का कहना है कि वो यहां की जमीन पर कदम नहीं रखेंगे.

उन्होंने आजतक के साथ बात करते हुए कहा कि जबसे किसान आंदोलन शुरू हुआ है तब से उन्होंने यहां कदम नहीं रखा है. उन्होंने कहा,

“जब से आंदोलन शुरू हुआ है तब से मैं पहली बार मुजफ्फरनगर जा रहा हूं और वो भी गलियारे से जाऊंगा. वहां की जमीन पर कदम भी नहीं रखूंगा. अपने घर की तरफ देख लूंगा, वहां के लोगों को देख लूंगा. इसे आप जो भी समझे, लेकिन जब तक कानून वापसी नहीं तब तक घर वापसी नहीं. जो लोग आजादी की लड़ाई के लिए लड़े, उन्हें काला पानी की सजा हुई तो वो कभी घर गए ही नहीं. ये भी एक तरीके का काला कानून है और जब तक कृषि कानून वापस नहीं होंगे तब तक घर नहीं जाएंगे.”

राकेश टिकैत ने कहा कि हम मुजफ्फरनगर नहीं जा सकते. हम सिर्फ गलियारे से जाएंगे. हाइवे से लेकर मंच तक ही जाएंगे और वहीं से वापस आ जाएंगे. उन्होंने कहा कि पूरा शहर जाम हो गया है. 10 से 12 किलोमीटर तक केवल लोग ही लोग हैं. जहां से रास्ता जाम होगा, वहां से बाइक के जरिए सभा स्थल तक जाएंगे.

Ahapanchayat2
पंचायत में पहुंचे एक निहंग सिख (लेफ्ट), भंडारे के भी भरपूर इंतजाम किए गए हैं. (दाएं) फोटो-आजतक

इस बातचीत के दौरान टिकैत ने कहा कि आज की तारीख महत्वपूर्ण इसलिए है, क्योंकि आज से शुरुआत होगी मिशन यूपी और मिशन देश की. कोरोना काल खत्म हो चुका है और अब से मीटिंग होगी. उन्होंने कहा कि अगर देश को बचाना है तो सिर्फ आंदोलन का ही रास्ता बचा है.

महापंचायत की महातैयारियां

संयुक्त किसान मोर्चा का दावा है कि इस महापंचायत में करीब 15 राज्यों से आए हजारों किसान जुटेंगे. इस महापंचायत के जरिए सरकार को किसानों की ताकत दिखाने की बात कही जा रही है. वहीं ऐसे कयास भी लगाए जा रहे हैं कि यूपी चुनाव पर भी किसान आंदोलन का असर हो सकता है. आज की महापंचायत में 40 से अधिक किसान संगठन जुट रहे हैं, साथ ही कई अन्य सामाजिक संगठन भी जुट रहे हैं.

Mahapanchayat 1
महापंचायत में जुटी भारी भीड़. फोटो- आजतक

किसान संगठनों ने जो जानकारी मीडिया को दी है, उसके मुताबिक मुजफ्फरनगर में किसानों के लिए 500 लंगर शुरू किए गए हैं और 100 चिकित्सा शिविर भी लगाए गए हैं ताकि किसी भी आपात स्थिति से निपटा जा सके. महापंचायत में आई किसानों भी भीड़ सही  तरीके से मैनेज किया जा सके, इसके लिए 5000 वॉलेंटियर्स भी तैनात किए गए हैं.

किसान महापंचायत की व्यवस्थाओं के लिए भारी संख्या में पुलिस फोर्स और पैरामिलिट्री फोर्स को तैनात किया गया है. पुलिस प्रशासन हाई अलर्ट पर है. पश्चिमी यूपी के जिलों में सुरक्षा के भारी बंदोबस्त किए गए हैं. एडीजी राजीव सभरवाल और आईजी प्रवीण कुमार पूरी व्यवस्था की निगरानी कर रहे हैं.


वीडियो- मुजफ्फरनगर किसान महापंचायत से पहले योगी के इस दांव से टिकैत का खेल खराब होगा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप.

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

NCB की रेड को फर्जी बताया, ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की कॉल डिटेल की जांच की मांग की

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

अजय मिश्रा कुछ और कह रहे, परिवारवाले कुछ और कह रहे.

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI की मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी (MPC) की बैठक आज खत्म हो गई.

लखीमपुर: SC ने यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगते हुए ऐसी बात पूछी है कि जवाब देना मुश्किल हो सकता है

लखीमपुर: SC ने यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगते हुए ऐसी बात पूछी है कि जवाब देना मुश्किल हो सकता है

विस्तृत रिपोर्ट दाखिल करने के लिए यूपी सरकार को एक दिन का वक्त दिया है.

छत्तीसगढ़: कवर्धा में किस बात पर ऐसी हिंसा हुई कि इंटरनेट बंद करना पड़ गया?

छत्तीसगढ़: कवर्धा में किस बात पर ऐसी हिंसा हुई कि इंटरनेट बंद करना पड़ गया?

रविवार 3 अक्टूबर की शाम से यहां कर्फ्यू लगा है.

पैंडोरा पेपर्स: लक्ष्मी निवास मित्तल के भाई प्रमोद मित्तल पर बड़ी टैक्स चोरी और धोखाधड़ी का आरोप

पैंडोरा पेपर्स: लक्ष्मी निवास मित्तल के भाई प्रमोद मित्तल पर बड़ी टैक्स चोरी और धोखाधड़ी का आरोप

ब्रिटेन की अदालतों में इन दोनों ने अपनी आय शून्य बताई थी.