Submit your post

Follow Us

कासगंज के एसपी ने चंदन गुप्ता के पिता को मिलने वाली धमकी की असलियत बताई है

कासगंज में 26 जनवरी को तिरंगा यात्रा के दौरान हिंसा हुई और उसमें गोली लगने से चंदन गुप्ता नाम के शख्स की मौत हो गई. इस घटना के बारे में बहुत कुछ लिखा-पढ़ा जा चुका है. आरोपियों की गिरफ्तारी से लेकर दंगा भड़काने वाले दोनों पक्षों के लोगों पर काफी कुछ कहा जा चुका है. पुलिस और प्रशासन की मौजूदगी की वजह से एक हफ्ते के बाद जनजीवन पटरी पर लौट ही रहा था कि 2 जनवरी को एक खबर फिर से कासगंज से आई. बताया गया कि तिरंगा यात्रा के दौरान मारे गए चंदन गुप्ता के परिवार को जान से मारने की धमकी मिल रही है.

Kasganj

चंदन गुप्ता के पिता सुशील गुप्ता के हवाले से कहा गया कि बाइक सवार दो लोग घर के पास आए और उन्होंने सुशील गुप्ता से कहा-

‘हमसे दुश्मनी मत मोल लो, वरना देख लेंगे.’

इस खबर की तहकीकात किए बिना माहौल को फिर से सांप्रदायिक बनाने की कोशिश शुरू हो गई. कासगंज में फोर्स तैनात थी, तो मौके पर कोई कुछ नहीं कर सकता था. लेकिन सोशल मीडिया के जरिए मामले को हवा देने में कोई कसर बाकी नहीं रही.

इस खबर की सच्चाई तो देखते ही खारिज की जानी चाहिए थी कि जब कासगंज में इतनी हिंसा हुई है तो सुशील गुप्ता के घर के सामने पहले से ही फोर्स तैनात रही होगी. वहां मौजूद पुलिसवालों ने भी इस बात की तस्दीक की है कि हम सुशील गुप्ता के घर आने-जाने वाले सभी लोगों की फोटो खींच रहे हैं और सबकी जानकारी इकट्ठा कर रहे हैं. सुशील गुप्ता के घर आने-जाने वाले लोगों का तांता लगा हुआ है. ऐसे में कोई दो लोग बाइक से आकर धमकी देकर चले जाएं, पहली नजर में ये बात गले नहीं उतर रही थी.

इस खबर की सच्चाई की रही सही कसर खुद कासगंज एसपी ने पूरी कर दी. कासगंज एसपी पीयूष श्रीवास्तव ने कहा-

‘सुशील गुप्ता को धमकी मिलने की बात सही नहीं है. मेरी सुशील गुप्ता से बात हुई है. हमने उनसे कहा था कि आप लिखित में दे दीजिए कि आपकी जान को खतरा है, लेकिन उन्होंने ऐसा कुछ भी नहीं लिखा.’

कासगंज में जो हुआ वो किसी भी कीमत पर नहीं होना चाहिए था. लेकिन अब जो हो रहा है वो और भी बुरा है. शहर को शांत करने की बजाय कुछ लोग उसे फिर से आग में झोंकने की तैयारी कर रहे हैं. इसके लिए अफवाहों का सहारा लिया जा रहा है, जिसे सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है. फिलहाल एक कोशिश को तो पुलिस ने समय रहते नाकाम कर दियाा है. लेकिन वहां ऐसी कोशिशें लगातार जारी हैं और इसमें दोनों ही पक्षों के लोग जिम्मेदार हैं.


ये भी पढ़ें:

26 जनवरी के दिन कासगंज में आखिर हुआ क्या था?

क्या योगी आदित्यनाथ को कासगंज में होने वाले तनाव का पहले से पता था?

जिस बंदूक ने चंदन गुप्ता को मारा, उससे जुड़ी बड़ी सच्चाई सामने आई है

कासगंज के बवाल पर सबसे सही बात बरेली के डीएम ने कही है

कासगंज: अकरम ने कहा, मेरी आंख फोड़ने वालों को अल्लाह माफ करे

कौन हैं कासगंज हिंसा में जान गंवाने वाले चंदन गुप्ता?

वीडियो में जानिए कासजंग में क्यों हुई चंदन गुप्ता की मौत

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

गोरखपुर कचहरी में युवक की हत्या करने वाले के बारे में पुलिस ने क्या बताया?

गोरखपुर कचहरी में युवक की हत्या करने वाले के बारे में पुलिस ने क्या बताया?

मृतक व्यक्ति पर नाबालिग से बलात्कार का आरोप था.

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5G के रोल आउट को लेकर दिक्कतें चालू.

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

बीमा कंपनी गाड़ी चोरी या दुर्घटनाग्रस्त होने का बहाना बनाए तो ये आदेश दिखा देना.

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

दबी जुबान में क्या कह रही है पुलिस?

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

जानेंगे बैंक FD में क्यों घट रही है लोगों की दिलचस्पी.

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

तौकीर रजा कांग्रेस पर आरोप लगा चुके हैं कि उसने मुसलमानों पर आतंकी का टैग लगाया.

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

जानिए UPA के समय हुई इस डील ने कैसे देश को शर्मसार किया.

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

बीबीसी का आरोप, टीम के साथ नरसिंहानंद के समर्थकों ने गाली-गलौज और धक्का-मुक्की की.

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

मुख्य आरोपी के साथ उसके दोस्तों को पुलिस ने पकड़ लिया है.

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

पार्टी के इस कदम से आहत हरक सिंह रावत मीडिया के सामने भावुक हो गए.