Submit your post

Follow Us

JioPhone Next की सेल से पहले इसके फीचर्स से पर्दा उठा

JioPhone Next की सेल दिवाली से पहले शुरू होगी. इस बीच टेलीकॉम कंपनी Reliance Jio ने एक छोटे से वीडियो के ज़रिए अपने इस फोन के कुछ फ़ीचर्स से पर्दा उठाया है. जानकारी दी गई है कि इस फोन को आंध्र प्रदेश के तिरुपति में असेंबल किया जाएगा. नया फ़ोन नए नवेले प्रगति ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ आने वाला है जो एंड्रॉयड पर आधारित होगा.

इस ओएस को खासकर भारतीय लोगों की ज़रूरतों और पसंद को ध्यान में रखकर बनाया गया है. यह बात पहले ही सामने आ गई थी कि जियोफोन नेक्स्ट के लिए जियो और गूगल की साझेदारी हुई है. अब ये बताया गया है कि ओएस को ऐसे डिज़ाइन किया गया है कि यूज़र्स लंबी बैटरी लाइफ का मज़ा ले पाएंगे और साथ में नियमित तौर पर सॉफ्टवेयर अपडेट मिलने की गारंटी रहेगी.

फोटोग्राफ़ी के शौकीनों के लिए जियोफोन नेक्स्ट में 13 मेगापिक्सल का कैमरा होगा. इसमें नाइट मोड, पोर्ट्रेट मोड जैसे लोकप्रिय फ़ीचर आपको मिलेंगे. साथ में होंगे ढेर सारे AR (Augmented Reality) फ़िल्टर्स.

कंपनी ने जो वीडियो साझा किया है, उसे देखकर साफ है कि फोन का पिछला हिस्सा दानेदार टेक्स्चर वाला है. यानी आपको फ़ोन को पकड़ने में आसानी रहेगी और साथ में स्पीकर को भी यही जगह मिली है. एक Read Aloud फ़ीचर है जो आपको आपकी पसंद की भाषा में टेक्स्ट को पढ़कर सुनाएगा. गूगल के सारे ऐप्लिकेशन जैसे गूगल सर्च, क्रोम, YouTube और Jio की तरफ़ से मिलने वाले सभी ऐप्लिकेशन फ़ोन में पहले से ही मौजूद रहेंगे.

फोन में कौन सी चिप लगी होगी? इस बारे में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं है. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो हैंडसेट को रफ्तार देने का काम करेगा क्वालकॉम चिपसेट. फोन की बैटरी क्षमता, स्टोरेज और स्क्रीन साइज़ के बारे में अभी तक कोई पुष्ट जानकारी नहीं मिली है.

कंपनी की तरफ़ से क़ीमत का भी खुलासा नहीं किया गया है. अगर खबरों पर यकीन करें तो इस फोन की कीमत 3500-4000 रुपये के बीच रहने की उम्मीद है. साफ है कि जियो की नज़र फीचर फोन इस्तेमाल कर रहे ग्राहकों पर है जो ज़्यादा पैसे खर्च किए बिना स्मार्टफोन पर अपग्रेड करना चाहते हैं. कंपनी ने अपने इस प्रॉडक्ट के लिए पंच लाइन भी दी है- नए इंडिया का नेक्स्ट स्मार्टफोन.


वीडियो- साइंसकारी: नशा करने और स्मार्टफोन चलाने में क्या कॉमन है? 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

बेंगलुरु में 46 साल के एक डॉक्टर कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन से संक्रमित पाए गए हैं.

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.