Submit your post

Follow Us

उन्नाव रेप पीड़िता की PM मोदी को चिठ्ठी के बाद BJP ने अरुण सिंह का टिकट काटा

उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव के लिए टिकट बांट रही है. इस बीच एक ऐसे प्रत्याशी को टिकट दे दिया गया, जो पार्टी के लिए विवाद का सबब बन गया. उन्नाव से टिकट दिया गया अरुण सिंह को. अरुण सिंह, उन्नाव रेप कांड के दोषी कुलदीप सिंह सेंगर के करीबी हैं और राज्यमंत्री रणवीर प्रताप सिंह उर्फ धुन्नी सिंह के दामाद हैं. उनको पंचायत अध्यक्षी का टिकट मिलते ही विवाद खड़ा हो गया.

बता दें कि रेप कांड पीड़िता की तरफ से की गई शिकायत में अरुण सिंह पर भी आरोप लगाए गए थे. इसके बाद पीड़िता के परिवार वालों का जब एक्सीडेंट हुआ था, तब भी अरुण सिंह को आरोपी बनाया गया था. ऐसे में अरुण सिंह को टिकट मिलने के बाद पीड़िता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को चिट्ठी लिखी थी कि भाजपा उन लोगों को टिकट दे रही है, जो मुझे जान से मारना चाहते हैं. चिट्ठी में पीड़िता ने अरुण सिंह का टिकट रद्द करने की मांग की थी.

कटा अरुण सिंह का टिकट

इसके बाद पार्टी ने यू-टर्न लेते हुए आनन-फानन में नई चिट्ठी जारी की और अरुण सिंह का टिकट काट दिया गया. भाजपा ने चिट्ठी में लिखा –

“भारतीय जनता पार्टी उन्नाव द्वारा प्रदेश और क्षेत्र नेतृत्व के निर्देश पर पंचायत चुनाव 2021 के जिला पंचायत अध्यक्ष पद हेतु घोषित प्रत्याशी जिला पंचायत सदस्य अरुण सिंह की प्रत्याशिता को निरस्त किया जाता है.”

अरुण सिंह की जगह पूर्व MLC स्वर्गीय अजित सिंह की पत्नी शकुन सिंह को टिकट दिया गया है. इससे पहले भी उन्नाव में तब विवाद हो गया था, जब अप्रैल 2021 में ही भाजपा ने कुलदीप सिंह की पत्नी संगीता सेंगर को जिला पंचायत सदस्य पद का प्रत्याशी घोषित किया था. जब बवाल मचा तो उनका टिकट काट दिया गया था. पहले संगीता सेंगर ही उन्नाव जिला पंचायत की अध्यक्ष थीं.

सेंगर का क्या मामला था?

4 जून, 2017 को कुलदीप सिंह सेंगर और अन्य पर गैंगरेप का आरोप लगा था. गैंगरेप के वक्त पीड़िता नाबालिग थी. सेंगर के खिलाफ केस दर्ज होने के बाद विक्टिम के परिवार को धमकियां मिलने लगीं. विक्टिम के पिता पर 1991 से 2004 के दौरान अलग-अलग थानों में डकैती, हत्या, हत्या की कोशिश और लूट के 28 मुकदमे दर्ज थे. किसी मामले में उनकी गिरफ्तारी नहीं हुई थी. 3 अप्रैल, 2018 को पुलिस ने उनके खिलाफ मारपीट, धमकी और आर्म्स ऐक्ट के तहत केस दर्ज किया. अगले दिन उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. उन्नाव जेल प्रशासन के मुताबिक, 8 अप्रैल की देर रात उनके पेट में तेज दर्द उठा था. जेल प्रशासन ने उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया, लेकिन उनकी मौत हो गई.

परिवार ने पुलिस की मारपीट से मौत का आरोप लगाया. 10 अप्रैल, 2018 को सामने आई पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में घरवालों के आरोप सही निकले. रिपोर्ट में साफ लिखा था कि ज्यादा पिटाई की वजह से पीड़ित के पिता की आंत फट गई थी. इसी वजह से उनकी मौत हुई. इस मामले की जांच कर रहे एडीजी आनंद कुमार ने बताया था कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में चोट के 14 निशान मिले थे.

10 अप्रैल, 2018 को सेंगर को गिरफ्तार कर लिया गया.  कोर्ट ने सेंगर को रेप और अपहरण के मामले में दोषी करार देते हुए उम्रक़ैद की सज़ा सुनाई. रेप पीड़िता के पिता की पुलिस कस्टडी में मौत के मामले में भी सेंगर और अन्य लोगों को कोर्ट ने 10 साल की सजा सुनाई. इसके बाद बीजेपी ने कुलदीप सिंह सेंगर को पार्टी से निकाल दिया. सेंगर की विधानसभा सदस्यता भी समाप्त कर दी गई. फिलहाल सेंगर जेल में है.


उन्नाव रेप केस के दोषी कुलदीप सेंगर की पत्नी को बीजेपी से मिला टिकट

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

CBSE और ICSE की परीक्षाएं रद्द करने के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया

नंबर देने के फॉर्मूले से सुप्रीम कोर्ट भी सहमत.

LJP में कलह की वजह बताए जा रहे सौरभ पांडेय के बारे में रामविलास पासवान ने चिट्ठी में क्या लिखा था?

चिराग को राजनीति में आने की सलाह किसने दी थी?

सरकार फिल्मों के सर्टिफिकेशन में क्या बदलाव करने जा रही, जो फ़िल्ममेकर्स की आज़ादी छीन सकता है?

कुछ वक़्त से लगातार हो रहे हैं फ़ेरबदल.

यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में लग रहे 'थैंक्यू मोदी' के बैनर पर बवाल क्यों हो रहा है?

क्या यूनिवर्सिटीज़ और कॉलेजों को सरकारी प्रचार के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है?

ये किन दो नेताओं को चुनाव से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ ने बड़ा काम दे दिया है?

कौन हैं रामबाबू हरित और जसवंत सैनी?

अयोध्याः 20 लाख की जमीन मेयर के भतीजे ने ट्रस्ट को 2.5 करोड़ में बेची, महंत ने उठाए सवाल

ट्रस्ट द्वारा खरीदी जा रही जमीनों के दो और सौदे विवादों के घेरे में.

चिराग पासवान के चचेरे भाई सांसद प्रिंस राज पर लगे रेप के आरोप का पूरा मामला है क्या?

आरोप लगाने वाली महिला के खिलाफ प्रिंस ने भी फरवरी में दर्ज कराई थी FIR.

किसान आंदोलन में शामिल लोगों पर आरोप- पहले ग्रामीण को शराब पिलाई, फिर जिंदा जला दिया!

बहादुरगढ़ की घटना, पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है.

CBSE ने सुप्रीम कोर्ट में बताया, 12वीं के मार्क्स देने का 30:30:40 फॉर्मूला क्या है

31 जुलाई से पहले फाइनल रिजल्ट जारी करने की जानकारी भी दी है.

योगी सरकार के संपत्ति रजिस्ट्री को लेकर लगने वाले स्टाम्प शुल्क के नए नियम में क्या है?

नए नियम के बाद विवादों में कमी आएगी?