Submit your post

Follow Us

मॉर्गन-अश्विन विवाद पर गौतम गंभीर ने वॉर्न को सही टोका है!

दिल्ली कैपिटल्स के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (R Ashwin) को गौतम गंभीर का साथ मिला है. मॉर्गन-अश्विन कंट्रोवर्सी पर गौतम गंभीर ने कहा है कि मैं अश्विन के साथ हूं. उन्होंने मैदान पर जो भी कुछ किया वो नियम के दायरे में रहकर किया है. और उन्होंने कुछ गलत नहीं किया है. बता दें कि दिल्ली कैपिटल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के मुकाबले में अश्विन और मॉर्गन के बीच मैदान पर कहासुनी हुई थी. जिसके बाद से इस मामले ने तूल पकड़ा हुआ है.

# मामला क्या है?

28 सितम्बर को खेले गए कोलकाता नाइट राइडर्स और दिल्ली कैपिट्लस मैच के दौरान फील्डर राहुल त्रिपाठी का एक थ्रो सीधे दिल्ली के कप्तान ऋषभ पंत के बल्ले पर लगा. गेंद छिटककर दूर चली गई. जिसके बाद अश्विन और पंत ने दौड़कर एक एक्स्ट्रा रन चुरा लिया. ये देख KKR के कप्तान ऑयन मॉर्गन खिसिया गए. इसके बाद जब टिम साउदी ने अश्विन को आउट किया. तो साउदी ने अश्विन को कुछ कहा. और फिर मैदान पर ही बहस शुरू हो गयी.

बीच में ऑयन मॉर्गन भी कूद पड़े. और उन्होंने अश्विन को इशारों में मैदान छोड़कर जाने के लिए कहा. इसके बाद अश्विन और भी ज्यादा गुस्सा गए. मामले को किसी तरह रफा-दफा किया गया. लेकिन विवाद नहीं रुका. मैच के बाद शेन वॉर्न ने अश्विन की आलोचना कर आग में घी डालने का काम किया. अब गौतम गंभीर ने अश्विन-मॉर्गन की कंट्रोवर्सी पर बड़ी बात कही है.

अश्विन का पक्ष लेते हुए गौतम गंभीर ने कहा,

‘मैं रविचंद्रन अश्विन के साथ हूं. उन्होंने जो किया, वो नियम के दायरे में था. अश्विन ने कुछ गलत नहीं किया. और यहां पर कई लोग हैं जो बेवजह इस विवाद में कूद रहे हैं. और उनका इससे कुछ लेना-देना नहीं है. शायद उन्हें सोशल मीडिया पर अपने फॉलोअर्स बढ़ाने हों. या फिर चर्चा में रहना हो ताकि लोग उनके बारे में बात करें.’

इतना ही नहीं, टीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान ने भी अश्विन का पक्ष लिया है. उन्होंने अश्विन को खेल भावना का पाठ पढ़ाने वालों को लताड़ा है. पठान ने कहा,

‘लोग अपनी सहूलियत के हिसाब से खेल भावना की बात करते हैं. आपको 2019 विश्वकप याद है? अगर आपको नियम से दिक्कत है. तो बदलिए. अश्विन ने जो भी किया, वो नियम के दायरे में रहकर किया. अश्विन को हमलोग सपोर्ट करेंगे.’

गंभीर और इरफान के अलावा स्टार स्पोर्ट्स के शो पर अजीत अगरकर ने कहा,

‘इस विवाद पर पहले ही काफी कुछ बोल दिया गया है. खेल भावना का लोग अपने हिसाब से इस्तेमाल करते हैं. लेकिन ये एक संदेह का विषय नहीं हो सकता. आपके पास ऐसी परिस्थिति नहीं हो सकती, जहां एक चीज पर नियम लागू होता है और दूसरी पर नहीं.

ये ऐसे काम नहीं करता है.या तो हमें नियम का पालन करना होगा. या फिर नए नियम बनाने होंगे. अश्विन ने कुछ भी गलत नहीं किया है. इस विवाद पर लोग अलग-अलग जगहों से अलग तरह की बातें कर रहे हैं. और ये मेरे समझ से बाहर है. मैच के दौरान ऐसी चीजें हो जाती है. लेकिन हमें आगे बढ़ना होता है.’

टीम इंडिया के पूर्व ओपनर बल्लेबाज आकाश चोपड़ा ने अश्विन के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा,

‘जो खेल के दायरे में है, वही खेल भावना है. अश्विन, आप किसी को कुछ भी कहने की अनुमति मत दीजिये. क्या कोई बल्लेबाज हल्का सा किनारा लगने पर खुद से पवेलियन लौटता है? क्या कोई गेंदबाज शत प्रतिशत आश्वस्त नहीं होने के बाद भी अपील नहीं करता है? क्या ये सो कॉल्ड खेल भावना का उल्लंघन नहीं है?’

बता दें कि अश्विन-मॉर्गन विवाद एक अलग ही रूप लेता हुआ नजर आ रहा है. विश्व क्रिकेट दो धड़ों में बंट चुका है. हर कोई अपने हिसाब से इस विवाद पर अपनी राय दे रहा है. हालांकि, ये मामला अब ठंडा हो जाए तो बेहतर है. क्योंकि क्रिकेट फैंस भी क्रिकेट से ज़्यादा ऐसी चीज़ों को तवज्ज़ो नहीं देते.


IPL 2021: अर्जुन तेंडुलकर क्यों हो गए मुंबई इंडियंस के बाहर?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?