Submit your post

Follow Us

बांदा: सरकारी दफ्तर में कर्मचारी हेलमेट लगाकर काम करते हैं, वजह काफ़ी दुखी करने वाली है

670
शेयर्स

हेलमेट लगाना जरूरी है. पर जब आप सड़क पर दो पहिया चला रहे हों. क्योंकि अगर नहीं लगाया तो चालान कट जाएगा. लेकिन यूपी में एक जगह ऐसी है, जहां पर लोग चालान की वजह से नहीं, बल्कि किसी और कारण से हेलमेट पहनकर रहते हैं.

यूपी का जिला है बांदा. यहां पर बिजली विभाग के कई कर्मचारी हेलमेट पहनकर काम करते हैं. क्योंकि जिस इमारत में बैठकर ये काम करते हैं, वो खराब हो चुकी है. जर्जर हो गई है. एएनआई की रिपोर्ट के बाद इन कर्मचारियों की हेलमेट वाली फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है.

कर्मचारियों का कहना है कि जिस कमरे में वो काम करते हैं, उसकी छत का प्लास्टर झड़ चुका है. वहीं बीच में जो पिलर है, उसी के सहारे छत टिकी हुई है. उनका कहना है कि वह अपनी सुरक्षा के लिए हेलमेट पहनते हैं. हालांकि उन्होंने इस बारे में कई बार लिखित शिकायत की है. पर कोई कार्रवाई नहीं हुई.  शायद किसी की जान जाने के बाद ही इस बिल्डिंग की मरम्मत की जाएगी. एक कर्मचारी के मुताबिक, पिछले दो साल से ऐसी ही स्थिती बनी हुई है, क्योंकि उसने जब से जॉइन किया है, तब से ऐसी ही स्थिति में काम कर रहा है.

हेलमेट के साथ-साथ कर्मचारी छाता का भी इस्तेमाल करते हैं. क्योंकि जब बारिश होती है, तो पानी टपकता है. और तो और, बैठने के लिए जो फर्नीचर हैं, उनकी भी कंडीशन बहुत खराब है.


वीडियो देखें : खगेन मुर्मू की इस दुःख की घड़ी में कुमार विश्वास ने व्यंग का तीर मारकर उनसे मौज ले ली

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

IIT गुवाहाटी के छात्र एक प्रोफेसर के लिए क्यों लड़ रहे हैं?

प्रोफेसर बीके राय लंबे समय से करप्शन के खिलाफ जंग छेड़े हुए हैं.

आर्टिकल 370 हटने के बाद कश्मीर में पत्थरबाजी कम हुई या बढ़ी?

राज्यसभा में सरकार ने आंकड़े बताए हैं.

फोन कंपनियां ये किस बात के लिए हम लोगों से पैसा लेने जा रही हैं?

कॉल और डाटा का पैसा बढ़ने वाला है, पढ़ लो!

BHU के मुस्लिम टीचर के पिता ने कहा, 'बेटे को संस्कृत पढ़ाने से अच्छा था, मुर्गे बेचने की दुकान खुलवा देता'

बीएचयू में मुस्लिम टीचर की नियुक्ति पर बवाल!

बरसों से इंडिया का मित्र राष्ट्र रहा नेपाल क्या अब ज़मीन को लेकर कसमसा रहा है?

'कालापानी' को लेकर उत्तराखंड के CM टीएस रावत चिंता में हैं या गुस्से में, कहना मुश्किल है.

सरकार Facebook से यूजर्स की जानकारी मांग रही है

2 साल में तीन गुनी हुई इमरजेंसी रिक्वेस्ट्स की संख्या.

पुनर्विचार की सभी याचिकाएं खारिज करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने रफ़ाल को हरी झंडी दी

राहुल गांधी ने पीएम मोदी को रफ़ाल डील में भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए खूब घेरा था.

महाराष्ट्र में नहीं बनी शिवसेना-एनसीपी की सरकार, अब लगेगा राष्ट्रपति शासन

एनसीपी को सरकार बनाने के लिए आज शाम साढ़े आठ बजे तक का समय मिला था.

करतारपुर कॉरिडोर: PM मोदी ने इमरान को शुक्रिया कहा, लेकिन इमरान का जवाब पीएम मोदी को पसंद नहीं आएगा

वहां पर भी कॉरिडोर से ज़्यादा 'विवादित मुद्दे' पर ही बोलता नज़र आया पाकिस्तान.

सुप्रीम कोर्ट का फैसला: विवादित ज़मीन रामलला को, मुस्लिम पक्ष को कहीं और मिलेगी ज़मीन

जानिए, कोर्ट ने अपने फैसले में और क्या-क्या कहा है...