Submit your post

Follow Us

डेब्यू टेस्ट में 7 विकेट लेकर बल्ले से भी कमाल करने वाला सस्पेंड क्यों हुआ?

ऑली रॉबिंसन. लॉर्ड्स से अपने टेस्ट करियर की शुरुआत करने वाला इंग्लिश पेसर. न्यूज़ीलैंड के खिलाफ खत्म हुए टेस्ट से डेब्यू करने वाले ऑली इस टेस्ट में इंग्लैंड की ओर से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले बोलर रहे. ऑली ने पहली पारी में चार जबकि दूसरी पारी में तीन विकेट निकाले. साथ ही उन्होंने बल्ले से भी एकमात्र पारी में 42 रन का योगदान दिया. इंग्लैंड की पहली पारी में उनसे ज्यादा रन सिर्फ ओपनर रॉरी बर्न्स बना पाए थे. उन्होंने सेंचुरी मारी थी.

लेकिन इस कमाल के डेब्यू के बाद भी ऑली अगले टेस्ट में नहीं खेलेंगे. इंग्लैंड क्रिकेट ने उन्हें हर तरह की इंटरनेशनल क्रिकेट से सस्पेंड कर दिया है. ECB ने न्यूज़ीलैंड के खिलाफ पहला टेस्ट खत्म होते ही 27 साल के ऑली को सस्पेंड करने की घोषणा की. दरअसल इस टेस्ट में खेलने उतरने के बाद ऑली के कुछ पुराने ट्वीट्स वायरल हो गए थे. इन ट्वीट्स की भाषा बेहद खराब थी. इनमें रेसिस्ट और सेक्सिस्ट कमेंट्स किए गए थे.

# Ollie की माफी

साल 2012-13 के इन ट्वीट्स के वायरल होने के बाद ऑली ने माफी भी मांगी थी. उन्होंने मैच के बीच से ही एक बयान जारी कर कहा था,

‘अपने अब तक के करियर के सबसे बड़े दिन पर, मैं आज सबके सामने आए अपने रेसिस्ट और सेक्सिस्ट ट्वीट्स के लिए शर्मिंदा हूं. मैं यह साफ कर देना चाहता हूं कि मैं रेसिस्ट और सेक्सिस्ट नहीं हूं. मुझे अपनी हरकतों पर गहरा पछतावा है, और मैं ऐसे कमेंट्स करने के लिए शर्मिंदा हूं. मैं विचारहीन और लापरवाह था, और उस वक्त मेरी मानसिक स्थिति चाहे जैसी रही हो, मेरी हरकतें अक्षम्य हैं. उस दौर के बाद से मैं एक व्यक्ति के तौर पर मैच्यॉर हुआ हूं और उन ट्वीट्स पर माफी मांगता हूं.’

लेकिन ECB सिर्फ माफी से संतुष्ट नहीं हुआ. मैच के तुरंत बाद ख़बर आई कि रॉबिंसन तुरंत प्रभाव से इंग्लैंड कैंप छोड़कर अपनी काउंटी ससेक्स लौट रहे हैं. ECB ने अपने बयान में कहा कि जब तक रॉबिंसन के खिलाफ चल रही जांच पूरी नहीं होती, वह हर तरह की इंटरनेशनल क्रिकेट से सस्पेंड रहेंगे.

ऑली के मसले पर इंग्लिश कैप्टन जो रूट ने मैच के बाद कहा था,

‘उसने बल्ले से अच्छा योगदान दिया, गेंद के साथ उसकी परफॉर्मेंस कमाल की थी. उसके बेहद ऊंची क्वॉलिटी की स्किल्स दिखाईं और निश्चित तौर पर उसके पास टेस्ट में सफल होने के लिए जरूरी चीजें हैं. लेकिन मैदान के बाद जो हुआ, उसे हमारे गेम में स्वीकार नहीं किया जा सकता. हम सभी को ये पता है.’

बता दें कि ऑली सबसे पहले यॉर्कशर के लिए खेलते हुए चर्चा में आए थे. 2013 सीजन में उन्होंने केंट, लेस्टरशर और यॉर्कशर की सेकेंड XI के लिए बैट और बॉल दोनों से कमाल का प्रदर्शन किया. इसे देखते हुए यॉर्कशर ने अक्टूबर 2013 में उनके साथ प्रफेशनल कॉन्ट्रैक्ट कर लिया. हालांकि 2014 की जुलाई में इसी काउंटी ने उन्हें अनप्रफेशनल बताते हुए उनके साथ का अपना कॉन्ट्रैक्ट रद्द कर दिया.

यॉर्कशर के कोच जेसन गिलेस्पी रॉबिंसन की हरकतों से खासे नाराज़ थे. उन्होंने बाद में मीडिया से बात करते हुए यह नाराज़गी खुलकर जाहिर भी की थी. यॉर्कशर से निकाले जाने के बाद रॉबिंसन ने हैम्पशर के लिए एक सीजन खेला. इसके बाद 2015 से वह ससेक्स के लिए खेल रहे हैं.


विराट कोहली से अपनी तुलना पर क्या बोले पाकिस्तानी बैट्समैन बाबर आज़म?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सुवेंदु अधिकारी और उनके भाई के खिलाफ राहत सामग्री चोरी करने के आरोप में FIR

वेस्ट बंगाल पुलिस ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है.

अलीगढ़ शराबकांड का मुख्य आरोपी और एक लाख का इनामी ऋषि शर्मा गिरफ्तार

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जहरीली शराब से अब तक 108 लोगों की मौत हो चुकी है.

ट्विटर ने उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू के अकाउंट से ब्लू टिक हटाया, कुछ ही घंटे में रिस्टोर किया

पर्सनल अकाउंट से हटा था ब्लू टिक, ट्विटर ने वजह बताई.

यूपीः भाजपा नेताओं ने हिस्ट्रीशीटर को पुलिस की गिरफ्त से छुड़ाकर भगा दिया, पुलिस अब तक तलाश रही है

कानपुर की घटना, पुलिस ने शुरुआती FIR में बीजेपी नेताओं का नाम ही नहीं लिखा.

राजस्थान में क्या सचमुच कोरोना वैक्सीन की जमकर बर्बादी हो रही है?

अशोक गहलोत सरकार का इनकार, लेकिन आंकड़े कुछ और ही बता रहे.

रिटायर्ड जस्टिस अरुण मिश्रा को मोदी सरकार ने NHRC चेयरमैन बनाया तो बवाल क्यों हो रहा है?

लोग जस्टिस अरुण मिश्रा को इस पद के लिए चुने जाने का बस एक ही कारण गिना रहे हैं.

क्या कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों को लेकर मोदी सरकार झूठ बोल रही है?

अलग-अलग आंकड़े क्या कहानी बताते हैं?

लक्षद्वीप में दारू और बीफ़ वाले नियमों पर बवाल बढ़ा तो अमित शाह ने क्या कहा?

लक्षद्वीप के सांसद मोहम्मद फैज़ल ख़ुद मिलने गए थे अमित शाह से

पत्रकार से IAS बने अलपन बंदोपाध्याय, जो ममता और मोदी सरकार में रस्साकशी की नई वजह बन गए हैं

ममता बनर्जी ने केंद्र के आदेश की क्या काट ढूंढ निकाली है?

वैक्सीनेशन पर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को घेरा, पूछा- वैक्सीन का एक रेट क्यों नहीं?

वैक्सीन की कमी, राज्यों के टेंडर जैसे मुद्दों पर भी सरकार से तीखे सवाल किए.