Submit your post

Follow Us

रैली में मोदी-मोदी के नारे लगे तो राहुल गांधी क्या बोले?

714
शेयर्स

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी चुनाव में अपनी पार्टी के प्रचार के लिए देश भर के दौरे कर रहे हैं. 5 अप्रैल को पुणे में उन्होंने कॉलेज स्टूडेंट्स के साथ बातचीत की. यह कार्यक्रम लगभग एक घंटे से ज्यादा चला. सब कुछ सही चल रहा था इसी दौरान कुछ ऐसा हुआ कि राहुल गांधी को थोड़ा असहज होना पड़ा और बीजेपी को मौका मिल गया.

हुआ क्या.
पुणे में राहुल गांधी स्टूडेंट्स के सवालों के जवाब दे रहे थे. इसी दौरान एंकरिंग कर रही आरजे मलिष्का ने रक्षाबंधन को लेकर राहुल से सवाल पूछा कि क्या वह राखी बंधवाते हैं? राहुल गांधी ने कहा कि उनकी बहन प्रियंका हर साल उन्हें राखी बांधती हैं. और वे रक्षाबंधन के इस धागे को तब तक नहीं उतारते तब तक वह टूट नहीं जाता.

प्रेम का जिक्र आने पर राहुल गांधी ने कहा कि I love Mr. Modi. राहुल के इतना कहते ही हॉल में लोगों ने शोर मचाना शुरू कर दिया. राहुल बोलते रहे. उन्होंने कहा कि मेरे मन में किसी के लिए घृणा नहीं है. इस दौरान मोदी,मोदी, के नारे लगते रहे. राहुल ने कहा इट्स फाइन, इट्स फाइन (ठीक है, ठीक है). राहुल ने फिर से अपनी बात दोहराई और कहा मेरे मन में किसी के लिए नफरत नहीं है. राहुल गांधी ने कहा कि लेकिन पीएम मोदी ऐसा नहीं सोचते. इसके बाद राहुल अगले सवाल की तरफ बढ़ गए. इसके बाद सामान्य तरीके से 10 से 12 मिनट तक यह कार्यक्रम चलता रहा.

बीजेपी को मिल गया मौका
राहुल गांधी के सामने मोदी, मोदी के नारे लगे और बीजेपी कुछ न बोले ये कैसे हो सकता है. बीजेपी तो ऐसे ही मौकों की तलाश में रहती है. बीजेपी आईटी सेल के हेड अमित मालवीय ने इस कार्यक्रम के 7 सेकेंड का वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा,

राहुल गांधी की पुणे में कॉलेज स्टूडेंट्स से बातचीत के दौरान लगे मोदी, मोदी के नारे. हार मान लो राहुल बाबा.

अमित मालवीय के इस ट्वीट की कई लोगों ने आलोचना की और कहा कि राहुल गांधी ने बहुत ही बखूबी के साथ उस वाकये के संभाला. एक यूजर ने लिखा कम से कम राहुल गांधी लोगों के सवालों का सामना तो कर रहे हैं. वहीं कुछ लोगों ने राहुल गांधी की तारीफ की.

amit malviya

एक यूजर ने लिखा कि इतनी नजर तो आप मोदी जी की सभा पर नहीं रखते जितना राहुल जी की सभा पर रखते हैं. कभी अपने नेता को कहिये जनता के सीधे सालों के जवाब दें,छात्रों के सवालों का जवाब दें, वो भी ऐसे प्रश्न जो पहले से न दिए गए हों. वहीं कुछ ने राहुल गांधी को दर्शकों को चुनते समय सावधानी बरतने को कहा, जबकि कुछ लोग मालवीय की बातों से सहमत नजर आए.


टाटा स्काई ने बताया कि NaMo TV को लाइसेंस की जरूरत क्यों नहीं पड़ी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कांग्रेस और सपा छोड़कर भाजपा में आए नेताओं ने मोदी के बारे में क्या कहा?

वो भी कल लखनऊ में...

कश्मीर में बैन के बाद भी किसकी मेहरबानी से गिलानी इस्तेमाल कर रहे थे फोन-इंटरनेट?

बैन के चार दिन बाद तक गिलानी के पास इंटरनेट और फोन था. प्रशासन को इसकी भनक भी नहीं थी.

पीएम मोदी ने छठवीं बार लाल किले पर फहराया तिरंगा, 92 मिनट के भाषण में नया क्या था?

पीएम मोदी ने अपने कार्यकाल की उपलब्धियां गिनाई.

बीफ़-पोर्क के नाम पर ज़ोमैटो कर्मचारियों को भड़काने वाले लोकल भाजपा नेता निकले!

और एक नहीं, कई हैं ऐसे. देखिए तो...

यूपी के एक और अस्पताल में 32 बच्चों की मौत, डॉक्टरों को कारण का पता नहीं

किसी ने कहा था, "अगस्त में तो बच्चे मरते ही हैं"

भगवान राम के इतने वंशज निकल आए हैं कि आप भी माथा पकड़ लेंगे

अभी राम पर खानदानी बहस हो रही है. खुद ही देखिए...

उन्नाव मामले में भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर अब लंबा फंस गए हैं

सीबीआई ने केस में रोचक खुलासे किए हैं

राष्ट्र के नाम संबोधन में पीएम मोदी ने बताया क्या है उनका 'मिशन कश्मीर'

पीएम मोदी ने लगभग 40 मिनट तक अपनी बात रखी.

जम्मू-कश्मीर के मामले में आत्माओं का भी प्रवेश हो गया है

और एक समय एक "आत्मा" बहुत दुखी हुई थी

मायावती का ऐसा हृदय परिवर्तन कैसे हुआ कि कश्मीर पर सरकार के साथ हो गयीं?

धारा 370 हटवाना चाहती थीं या वजह कुछ और है?