Submit your post

Follow Us

हॉन्गकॉन्ग के एक पालतू कुत्ते में भी मिला कोरोनावायरस!

Covid-19. हमें ये मालूम है कि ये कोरोना वायरस जानवरों से इंसानों तक आया है. इसके बाद से ये ह्यूमन-टू-ह्यूमन ट्रांस्मिशन यानी इंसानों के बीच ही फैल रहा है. ये वायरस जानवरों तक पहुंच रहा है या नहीं? ये अब तक किसी को नहीं पता था. लेकिन अब इस बात की पुष्टि हो चुकी है.

खबर हॉन्गकॉन्ग की है. वहां एक कोरोना वायरस मरीज़ के पालतू कुत्ते में ‘लो लेवल’ कोरोना वायरस मिला है. इस कुत्ते की मुंह और नांक की नली को टेस्ट किया गया. नतीजे पॉज़िटिव थे. हालांकि, इस इन्फेक्शन को ‘वीक पॉज़िटिव’ की श्रेणी में रखा गया है. ऐसा क्यों?

अभी ये पक्का नहीं है कि उस डॉगी को असल में इन्फेक्शन हुआ है या नहीं. ये भी हो सकता है कि ये वायरस हवा में उड़ते-उड़ते उसके मुंह और नाक में सैटल हो गया हो.

कोरोनावायरस का असल इन्फेक्शन तब माना जाता है, जब वायरस कोशिकाओं पर हमला करते हैं. और वो अंदर फैलने लगते हैं. उस कुत्ते ने अब तक इन्फेक्शन के कोई लक्षण नहीं दिखाए हैं.

कुत्ते के साथ रह रहे इंसान को पहले से ही कोरोना वायरस इन्फेक्शन था. इस केस में ये भी मुमकिन हो सकता है कि कुत्ते के साथी इंसान ने छींक-खांसकर हवा में वायरस फैलाया हो. और उसी वायरस को कुत्ते ने सांस के ज़रिए अंदर ले लिया हो.

छींकना, खांसना और बुखार कोरोना वायरस इन्फेक्शन के लक्षण हैं. (सोर्स - विकिमीडिया)
छींकना, खांसना और बुखार कोरोना वायरस इन्फेक्शन के लक्षण हैं. (सोर्स – विकिमीडिया)

हॉन्गकॉन्ग की सरकार ने प्रेस रिलीज़ जारी की और कहा – ‘अब तक हमारे पास ऐसा कोई सबूत नहीं है कि Covid-19 नाम का कोरोनावायरस पालतू जानवरों को इन्फेक्ट कर सकता है.’ ये प्रेस रिलीज़ दरअसल हॉन्ग-कॉन्ग की Agriculture, Fisheries and Conservation Department यानी AFCD ने जारी की थी.

फिलहाल उस कुत्ते को एक ऐसे एनिमल शेल्टर में क्वारंटीन कर दिया गया है, जहां कोई और जानवर नहीं हैं. उस कुत्ते पर कुछ और टेस्ट्स किए जाएंगे. उसे तब तक बाहर नहीं आने दिया जाएगा, जब तक उससे टेस्ट के निगेटिव नतीजे नहीं आने लगते.

हॉन्गकॉन्ग में अब तक कोरोनावायरस के 93 केस मिले हैं. और उनमें से 2 की मौत हो चुकी है. दूसरे देशों में भी कोरोनावायरस तेज़ी से फैल रहा है. फिलहाल चीन के बाद सबसे ज़्यादा चिंताजनक तस्वीरें ईरान से आ रही हैं. और ईरान इसे संभालने में नाकाबिल है.


वीडियो – जानिए कोरोनावायरस के बारे में सबकुछ

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

अब बीसीसीआई ने कोरोना संकट से लड़ने के लिए खजाना खोल दिया!

बीसीसीआई ने कहा है वो मुश्किल वक्त में सरकार के साथ खड़ा है.

कोरोना संकट के समय मारुति सुजुकी सबसे जरूरी चीज बनाने जा रही है

महिंद्रा एंड महिंद्रा का दावा है कि उसने पहले ही काम शुरू कर दिया है.

पीएम के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में दलित बच्चों के घास खाने वाली खबर में कितनी सच्चाई है?

एक अख़बार ने खबर छापी थी कि लॉकडाउन में भूखे बच्चे घास खा रहे हैं.

कोरोना के लिए जितने पैसे बाकी सुपरस्टार्स ने दिए उससे ज़्यादा अक्षय कुमार ने अकेले दे दिया

ये पैसे पीएम केयर्स फंड में दान किए हैं.

कोरोना से लड़ने के लिए टाटा ने तिजोरी का मुंह खोल दिया है

जान लीजिए कोरोना से लड़ाई में कितने सौ करोड़ रुपए दिए.

इन देशों ने कोरोना के टेस्ट के लिए चीन से किट मंगाई फिर चायनीज़ आइटम से भरोसा ही उठ गया!

अब ये देश भी कह रहे हैं चाइनीज आइटम पर भरोसा नहीं करना चाहिए.

अमेरिका में कोरोना के सबसे ज़्यादा मामले, लेकिन दुनिया की मदद के लिए खजाना खोला

64 देशों के लिए मदद की घोषणा. जानिए भारत को कितने करोड़ दिए.

नोएडा में मकान मालिक इस महीने किराया मांगें तो 0120-2544700 पर फोन कर देना

मकान मालिक अगर किराया लेते हैं तो जेल की हवा खानी पड़ सकती है.

कोरोना संकट में ऊपर वाला आलीम डार जैसा दिल हर सेलेब्रिटी को दे!

कोरोना संकट में जिन लोगों की नौकरी गई उनके लिए आलीम डार की बड़ी पहल.

पैदल घर जाने को मजबूर लोगों का बीजेपी नेता ने बड़ा क्रूर मज़ाक उड़ाया है

लॉकडाउन में लाखों मजदूर घरों को लौट रहे हैं.