Submit your post

Follow Us

कोरोना वायरस के चलते वुहान की जगह जॉर्डन में होंगे बॉक्सिंग क्वाॉलिफायर्स

इंटरनेशनल ओलंपिक कमिटी (IOC) ने कहा है कि एशिया और ओसेनिया के लिए 2020 ओलंपिक बॉक्सिंग क्वॉलिफायर्स का आयोजन अब जॉर्डन में होगा. पहले यह आयोजन चीन के शहर वुहान में होना था. लेकिन कोरोना वायरस के चलते इसे रद्द कर दिया गया.

शनिवार 25 जनवरी तक इस वायरस की चपेट में आने से 41 लोगों की जान जा चुकी है. पूरी दुनिया में 13,00 से ज्यादा लोग इससे पीड़ित बताए जा रहे हैं. इनमें से ज्यादातर पीड़ित और मरने वाले लोग वुहान शहर से ही हैं. ऑफिशल्स ने इस शहर में यात्रा और लोगों के इकट्ठा होने पर कई प्रतिबंध लगाए हैं.

# सस्पेंड है IBF

IOC ने शुक्रवार को जारी एक बयान में कहा कि यह इवेंट अब 3 से 11 मार्च तक जॉर्डन की राजधानी अम्मान में होगा. IOC ने कहा,

‘सभी विकल्पों पर सावधानी से विचार करने के बाद BTF (बॉक्सिंग टास्क फोर्स) ने कंपटिशन की डेट्स और लोकेशन को जल्दी से जल्दी कंफर्म करने, और क्वॉलिफायर्स की तैयारी कर रहे एथलीट्स की सुविधा के लिए जॉर्डन ओलंपिक कमिटी के प्रपोजल को मंजूरी दे दी है.’

टोक्यो ओलंपिक में होने वाले बॉक्सिंग टूर्नामेंट की तैयारियां पहले से ही तेज हैं. जून में IOC ने इसका जिम्मा खुद ले लिया था. इसके साथ ही संस्था ने इंटरनेशनल बॉक्सिंग असोसिएशन (AIBA) को आर्थिक और शासकीय समस्याओं के चलते सस्पेंड कर दिया था. बॉक्सिंग को चलाने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था पहले से ही आर्थिक और शासकीय समस्याओं से जूझ रही है. संस्था पर 16 मिलियन डॉलर (1 अरब 14 करोड़ से ज्यादा) का कर्ज है.

इन ओलंपिक क्वॉलिफायर्स में भारत के बॉक्सर्स को भी खेलना है. इसमें खेलने के लिए भारतीय बॉक्सर्स का चुनाव ट्रायल्स के जरिए हुआ है. विमिंस 51 Kg कैटेगरी में मेरी कॉम और निखत ज़रीन के बीच हुए ट्रायल्स ने काफी सुर्खी बटोरी थी. अंत में मेरी ने जजों के फैसले के आधार पर ज़रीन को हराकर क्वॉलिफायर्स का टिकट जीता था.


बॉक्सर मैरी कॉम से क्यों नाराज़ हुई निखत ज़रीन जो उन्हें स्पोर्ट्स मिनिस्टर तक को चिट्ठी लिखनी पड़ी?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

मज़दूरों को पैदल घर जाता देख दो एयरलाइंस ने कहा- जहाज़ खड़े हैं

सरकार से अनुमति मांगी है ताकि मज़दूरों को उनके घर के आसपास छोड़ा जा सके.

UK के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भी कोरोना वायरस के लपेटे में आ गए हैं

UK में कोरोना के 11 हज़ार से ज्यादा मामले आ चुके हैं.

कोरोना से तो निपट लेंगे, लेकिन जो बड़ी आफत आई है, वो तो पूरा साल ले जाएगी!

मूडीज़ ने बताया है कि पूरे साल कितनी ग्रोथ रेट रह सकती है.

कोरोना वायरस लॉकडाउन के बीच RBI गवर्नर ने राहत की ख़बर दी है

क्या होगा आने वाले दिनों में, इसकी जानकारी दी.

नीतीश कुमार ने कोरोना का 'फेसबुक पोस्ट डिलीट' वाला इलाज खोजा

खबर तो ये तक कि कोरोना के लक्षण वाले 83 डॉक्टर अब भी इलाज कर रहे!

पूरा देश लॉकडाउन है और हरियाणा के इस कॉलेज में लेक्चर पर लेक्चर हो रहे हैं

कॉलेज वाले कह रहे सरकार ने कोई ऑर्डर नहीं दिया!

सरकार ने दिया कोरोना पर राहत पैकेज, 80 करोड़ को मुफ्त अनाज और बहुत कुछ

वित्त मंत्री ने कहा, हर व्यक्ति के हाथ में अन्न और धन हमारी पहली प्राथमिकता.

कोरोना के बीच सरकार ने गठिया वाली दवा के एक्सपोर्ट पर रोक क्यों लगा दी?

इस दवा का कोरोना के इलाज में क्या रोल है?

रात को लॉकडाउन के कायदे बताने के बाद सुबह हुजूम के बीच कहां निकल गए सीएम योगी?

सीएम ने लोगों से कहा था, 'घर पर ही रहें, बाहर न निकलें.'

21 दिन के लॉकडाउन में आपको कौन-कौन सी छूट मिलेगी, यहां जान लीजिए

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए पूरा देश 15 अप्रैल तक लॉकडाउन रहेगा.