Submit your post

Follow Us

टीम लौटेगी इंडिया तो कोच शास्त्री और कोहली से पूछे जाएंगे ये तीन सवाल!

129
शेयर्स

वर्ल्ड कप 2019. फाइनल मुकाबला इंग्लैंड और न्यूजीलैंड की टीम के बीच होना है. इंडिया और ऑस्ट्रेलिया सेमीफाइनल हारकर बाहर हो चुके हैं. अब चल रहा है रिव्यू मीटिंग का दौर. सीओए यानी क्रिकेट की प्रशासक समिति, टीम मैनेजमेंट की क्लास लगाने के मूड में है. रिव्यू मीटिंग में कोच रवि शास्त्री, कप्तान विराट कोहली और चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद से कई सारे सवालों के जवाब मांगे जा सकते हैं. ऐसा खुद सीओए के चेयरमैन विनोद राय ने बताया है.

कौन-कौन से सवाल हैं? 

सवाल वही हैं जो हर हिंदुस्तानी क्रिकेट प्रशंसक पूछ रहा है. हो सकता है इन्होंने जनमत संग्रह करके सवाल उठाए हों.

1. अंबाती रायडू को मौका क्यों नहीं दिया गया. सेलेक्टर्स ने उन्हें इग्नोर किया, जबकि नंबर 4 के लिए वे सबसे उपयुक्त विकल्प थे.

2. तीन विकेटकीपर्स के साथ क्यों खेल रही थी टीम? खासतौर पर सवाल दिनेश कार्तिक को लेकर हैं, जिनका प्रदर्शन भी कुछ खास नहीं रहा था.

3 . सेमीफाइनल में जब पहले ही 3 विकेट गिर गए थे तो धोनी को नंबर 7 पर क्यों भेजा गया? कहा जा रहा है कि ये निर्णय बैटिंग कोच संजय बांगड़ का था. अगर ऐसा हुआ था तो चीफ कोच रवि शास्त्री ने इस निर्णय पर वीटो क्यों नहीं किया.

कब होगी मीटिंग

अभी कोई डेट फिक्स नहीं हुई है. सीओए चेयरमैन विनोद राय इस रिव्यू मीटिंग को लीड करेंगे. जबकि डायना एडुल्जी और रवि थोडगे भी शामिल रहेंगे. ये लोग चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद से भी बात करेंगे. विनोद राय ने पीटीआई से बातचीत में बताया,

”कोच और कप्तान जैसे ही ब्रेक से वापस आएंगे, हम एक रिव्यू मीटिंग करेंगे. मैं आपको कोई दिन या समय नहीं बता सकता, लेकिन हम उनसे बात करेंगे. साथ ही हम चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद से भी आमने-सामने बात करेंगे.”


वीडियो: वर्ल्ड कप 2019: मोहम्मद शमी को नहीं खिलाने पर उनके कोच ने सटीक बात बोली

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कांग्रेस और सपा छोड़कर भाजपा में आए नेताओं ने मोदी के बारे में क्या कहा?

वो भी कल लखनऊ में...

कश्मीर में बैन के बाद भी किसकी मेहरबानी से गिलानी इस्तेमाल कर रहे थे फोन-इंटरनेट?

बैन के चार दिन बाद तक गिलानी के पास इंटरनेट और फोन था. प्रशासन को इसकी भनक भी नहीं थी.

पीएम मोदी ने छठवीं बार लाल किले पर फहराया तिरंगा, 92 मिनट के भाषण में नया क्या था?

पीएम मोदी ने अपने कार्यकाल की उपलब्धियां गिनाई.

बीफ़-पोर्क के नाम पर ज़ोमैटो कर्मचारियों को भड़काने वाले लोकल भाजपा नेता निकले!

और एक नहीं, कई हैं ऐसे. देखिए तो...

यूपी के एक और अस्पताल में 32 बच्चों की मौत, डॉक्टरों को कारण का पता नहीं

किसी ने कहा था, "अगस्त में तो बच्चे मरते ही हैं"

भगवान राम के इतने वंशज निकल आए हैं कि आप भी माथा पकड़ लेंगे

अभी राम पर खानदानी बहस हो रही है. खुद ही देखिए...

उन्नाव मामले में भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर अब लंबा फंस गए हैं

सीबीआई ने केस में रोचक खुलासे किए हैं

राष्ट्र के नाम संबोधन में पीएम मोदी ने बताया क्या है उनका 'मिशन कश्मीर'

पीएम मोदी ने लगभग 40 मिनट तक अपनी बात रखी.

जम्मू-कश्मीर के मामले में आत्माओं का भी प्रवेश हो गया है

और एक समय एक "आत्मा" बहुत दुखी हुई थी

मायावती का ऐसा हृदय परिवर्तन कैसे हुआ कि कश्मीर पर सरकार के साथ हो गयीं?

धारा 370 हटवाना चाहती थीं या वजह कुछ और है?