Submit your post

Follow Us

इंडिगो पायलट ने जो सवाल उठाया है, उससे कुणाल कामरा तो बहुत खुश होंगे!

स्टैंडअप कॉमेडियन कुणाल कामरा को ‘No Fly List’ में डाले जाने के बाद अब उस विमान के पायलट ने एयरलाइन को चिट्ठी लिखी है, जिसमें कुणाल सफ़र कर रहे थे. इंडिगो एयरलाइंस के पायलट रोहित मटेटी ने कहा है कि बिना उनसे पूछे कंपनी ने ये फ़ैसला किया है.

# फ्लाइट में क्या हुआ था?

दरअसल, कुणाल कामरा इंडिगो एयरलाइन्स की फ़्लाइट 6E-5317 से 28 जनवरी को मुंबई से लखनऊ जा रहे थे. कुणाल पर आरोप है कि उन्होंने टीवी जर्नलिस्ट अर्णब गोस्वामी के साथ आपत्तिजनक व्यवहार किया. इसके बाद इंडिगो एयरलाइन्स ने कुणाल कामरा पर छह महीने की पाबंदी लगा दी. इंडिगो एयरलाइन्स के बाद एयर इंडिया और दो और एयरलाइन्स ने भी कुणाल के हवाई सफर पर पाबंदी लगा दी.

# इस केस में पायलट को क्या शिकायत है?

यही शिकायत है कि कुणाल पर बैन लगाने से पहले पायलट से बात नहीं की गई. कंपनी प्रबंधन को एक ख़त लिखकर पायलट ने अपनी नाराज़गी जताई है.

चिट्ठी में पायलट ने लिखा है कि कुणाल कामरा पर केवल सोशल मीडिया पोस्टों के आधार पर कार्रवाई की गई है.

कैप्टन रोहित लिखते हैं,

”मुझे ये जानकर बहुत दुख हुआ कि मेरी एयरलाइन्स ने सिर्फ़ सोशल मीडिया पर लिखे गए पोस्ट के आधार पर कार्रवाई की. पायलट से किसी तरह की कोई बातचीत नहीं की गई. पायलट के तौर पर नौ साल के मेरे करियर में ये एक अप्रत्याशित घटना है. क्या मुझे ये समझना चाहिए कि हाई प्रोफ़ाइल यात्रियों के मामले में उनके आचरण की व्याख्या अलग तरह से होती. मैं चाहूंगा कि मेरी एयरलाइन्स इस मामले में सफ़ाई दे.”

अपनी चिट्ठी में पायलट ने आगे लिखा, ‘क्रू ने जब मुझे घटना की जानकारी दी, तब मैंने कॉकपिट सर्विलांस से घटना देखी. मैंने नोटिस किया कि कामरा हाथ से पत्रकार को इशारा कर रहे थे. इस पर अर्नब ने कोई जवाब नहीं दिया. मुझे इन दोनों के बीच किसी तरह का फ़िज़िकल कॉन्टैक्ट नहीं दिखा. इसके बाद मैंने पैसेंजरों को एड्रेस किया, जिसमें यात्रियों को अपनी सीट पर लौट जाने के लिए कहा. मैंने ये भी कहा कि अगर कोई समस्या है, तो उसे विमान उतरने के बाद सुलझा लें. ये सुनते ही कुणाल कामरा ने क्रू से अपने व्यवहार पर माफ़ी मांगी.’

पायलट की चिट्ठी के बाद इंडिगो ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, इंडिगो ने बयान जारी कर कहा है, ”हमने पायलट की चिट्ठी का संज्ञान लिया है. हमने इससे जुड़ा बयान ले लिया है और एक इंटरनल कमिटी ने इस पूरे घटनाक्रम की जांच शुरू कर दी है.”

# लेकिन पूछना क्यों ज़रूरी है?

Directorate General of Civil Aviation (DGCA) ने No Fly List के नियम बनाए हैं. 2017 में ये नियम आया था. फ्लाइट पर अगर कोई यात्री आपत्तिजनक व्यवहार कर रहा है, तो उसका नोटिस पायलट को लेना होगा. फ्लाइट के Pilot-in-Command को शिकायत करनी होती है. इसके बाद एयरलाइन की एक इंटरनल कमिटी बनती है. 30 दिन के भीतर कमिटी को शिकायत का निपटारा करना होता है. अगर बैन लगाना है, तो वो कितने दिन का होगा, ये भी इसी दौरान तय करना होता है.


वीडियो देखें:

JDU से प्रशांत किशोर की विदाई की वजह CAA का विरोध या फिर अमित शाह?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कोरोना बढ़ते मामलों के बीच दारुल उलूम-देवबंद ने योगी आदित्यनाथ को खत लिखा है

बड़ी पेशकश कर दी है.

केरल के CM ने मोदी को लिखा, 'कर्नाटक ने बॉर्डर बंद कर दिया, उस वजह से एम्बुलेंस में मौत हो गयी'

कहा कि बॉर्डर नहीं खुलेगा तो और दिक़्क़त होगी.

मोदी सरकार लॉकडाउन तीन महीने के लिए बढ़ाएगी, ये हल्ला क्यों उड़ा?

पीएम मोदी ने सिर्फ 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान किया है.

कोरोना वायरसः रामदेव ने डोनेशन के मामले में अक्षय कुमार को सीधी टक्कर दी है

कोरोना से लड़ाई के लिए पीएम केयर्स फंड में पैसे डालने का ऐलान किया.

सरकार का नया आदेश, लॉकडाउन में अब इन सामानों को भी छूट दे दी गई है

लॉकडाउन 14 अप्रैल तक चलेगा.

प्रेगनेंसी में काम करके भारत की पहली कोरोना टेस्ट किट बनाई, कीमत भी एक चौथाई कम कर दी

बाकियों को 4-5 महीने लगे. मीनल ने डेढ़ महीने में किट बना दी.

कोरोना: DRDO ऐसा वेंटिलेटर बना रहा है जिससे कई मरीज़ों का एक साथ इलाज हो सकेगा

DRDO के साथ मिले हैं टाटा और महिंद्रा.

मज़दूरों को पैदल घर जाता देख दो एयरलाइंस ने कहा- जहाज़ खड़े हैं

सरकार से अनुमति मांगी है ताकि मज़दूरों को उनके घर के आसपास छोड़ा जा सके.

UK के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भी कोरोना वायरस के लपेटे में आ गए हैं

UK में कोरोना के 11 हज़ार से ज्यादा मामले आ चुके हैं.

कोरोना से तो निपट लेंगे, लेकिन जो बड़ी आफत आई है, वो तो पूरा साल ले जाएगी!

मूडीज़ ने बताया है कि पूरे साल कितनी ग्रोथ रेट रह सकती है.