Submit your post

Follow Us

क्या 100 रुपये कमाने के लिए रेलवे ने 114 रुपये खर्च किए?

खबर रेलवे से. भारत के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (CAG) की रिपोर्ट से रेलवे परिचालन के खर्च को लेकर सवाल उठ गया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि 2019-2020 में भारतीय रेलवे का 98.36 प्रतिशत परिचालन अनुपात का दावा उसकी वास्तविक वित्तीय स्थिति को नहीं दिखाता. CAG ने अपनी एक रिपोर्ट में ये भी कहा कि अगर पेंशन पर होने वाले खर्च को ध्यान में रखा जाए तो ये अनुपात 114.35 प्रतिशत होना चाहिए. कहने का मतलब है कि 100 रुपये कमाने में रेलवे 114.35 रुपये खर्च कर रहा था. वहीं रेलवे की अकाउंटेंसी का दावा है कि ऑपरेटिंग रेशो 98.36 फीसदी रहा.

परिचालन अनुपात (OR) का मतलब है कि 100 रुपये जुटाने के लिए कितना खर्च किया गया. इसके जरिए किसी संगठन या संस्था की  ऑपरेशनल क्षमता का पता चलता है. परिचालन अनुपात जितना अधिक होगा, विस्तार और विकास के लिए उपलब्ध वित्तीय संसाधन उतने कम होंगे.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, कैग ने ये भी नोट किया कि नेशनल कैरियर को यात्रियों और अन्य कोचिंग टैरिफ पर फिर से सोचने की जरूरत है ताकि चरणबद्ध तरीके से संचालन की लागत यानी ऑपरेशन कॉस्ट वसूल की जा सके. साथ ही कोर एरिया में होने वाले नुकसान को कम किया जा सके.

कैग की रिपोर्ट में कहा गया है कि साल 2019 में भारतीय रेलवे का ऑपरेटिंग रेशो पिछले 10 साल में सबसे खराब रहा और रेवेन्यु सरप्लस में 66 प्रतिशत की गिरावट आई. ये 2016-17 के 4913 करोड़ रुपये की अपेक्षा 2017-18 में 1665.61 करोड़ ही रहा.

अखबार के मुताबिक कैग ने अपनी रिपोर्ट में पाया कि बजट में ऑपरेटिंग रेशो 95 प्रतिशत करने का लक्ष्य रखा गया था, लेकिन ये 2019-20 में 98.36 प्रतिशत रहा. इससे पहले 2018-19 में रेलवे का परिचालन अनुपात 97.29 प्रतिशत से गिरकर 2019-20 में 98.36 प्रतिशत हो गया था.

इसके अलावा अगर पेंशन भुगतान पर वास्तविक व्यय को ध्यान में रखा जाता तो रेलवे का OR 98.36 प्रतिशत के बजाय 114.35 प्रतिशत होता. इस आधार पर कहा गया है कि रेलवे द्वारा दिखाया गया परिचालन अनुपात इसके वास्तविक वित्तीय प्रदर्शन को नहीं दर्शाता है.

रिपोर्ट कहती है कि 2019-20 के दौरान भारतीय रेलवे ने 2 लाख 16 हजार 935 करोड़ रुपये के बजट अनुमान के मुकाबले कुल 1 लाख 74 हजार 694 करोड़ रुपये की प्राप्ति की. ये भी कहा गया है कि रेलवे 2 लाख 6 हजार 269 करोड़ रुपये के संशोधित अनुमानित लक्ष्य को भी हासिल नहीं कर पाया. रिपोर्ट के मुताबिक पिछले वर्ष की तुलना में 2019-20 के दौरान कुल प्राप्तियों में 8.30 प्रतिशत की कमी आई है.

हालांकि कैग के मुताबिक पिछले साल भारतीय रेलवे अपने खर्च को कम करने में सफल रहा था. साथ ही माल ढुलाई से जो राजस्व मिला, उसकी मदद से वो यातायात में आई कमी को पूरा करने में भी सक्षम रहा. इसके अलावा पेंशन देनदारियों में गिरावट से भी मदद मिली. जब से रेल बजट का केंद्रीय बजट में विलय हुआ है, रेल मंत्रालय अपनी पेंशन देनदारी को पूरा करने के लिए वित्त मंत्रालय की मदद मांग रहा है. हालांकि वित्त मंत्रालय ने अब तक इस मांग को पूरा नहीं किया है.


सोशल लिस्ट: ‘जस्टिस फॉर रेलवे स्टूडेंट’ हुआ टॉप ट्रेंड, तीन साल में जॉब न मिलने पर सरकार से सवाल

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

राजीव गांधी के हत्यारे को सुप्रीम कोर्ट ने रिहा किया, जानिए किस कानून का इस्तेमाल हुआ?

राजीव गांधी के हत्यारे को सुप्रीम कोर्ट ने रिहा किया, जानिए किस कानून का इस्तेमाल हुआ?

वो पेरारिवलन, जिसने राजीव गांधी की हत्या में इस्तेमाल जैकेट के लिए बैटरी सप्लाई की थी

सुप्रीम कोर्ट में बाबरी मस्जिद वाले जज सुनेंगे ज्ञानवापी मस्जिद वाला केस!

सुप्रीम कोर्ट में बाबरी मस्जिद वाले जज सुनेंगे ज्ञानवापी मस्जिद वाला केस!

मामला सुप्रीम कोर्ट क्यों गया?

LIC-IPO की लिस्टिंग पर लगी 42,500 करोड़ की चपत, अब क्या करें ?

LIC-IPO की लिस्टिंग पर लगी 42,500 करोड़ की चपत, अब क्या करें ?

ऑफर प्राइस से 8% नीचे लिस्ट हुआ देश का सबसे बड़ा IPO

मुंडका अग्निकांड: मृतकों का आंकड़ा 26 तक पहुंचा, बचाव के लिए NDRF को बुलाया गया

मुंडका अग्निकांड: मृतकों का आंकड़ा 26 तक पहुंचा, बचाव के लिए NDRF को बुलाया गया

इस घटना ने दिल्ली के लोगों को हिलाकर रख दिया है.

छत्तीसगढ़ के रायपुर एयरपोर्ट पर सरकारी हेलीकॉप्टर क्रैश, दो पायलटों की मौत

छत्तीसगढ़ के रायपुर एयरपोर्ट पर सरकारी हेलीकॉप्टर क्रैश, दो पायलटों की मौत

क्रैश का कारण अभी साफ नहीं हो सका है.

जम्मू-कश्मीर में एक और कश्मीरी पंडित की हत्या, आतंकियों ने सरकारी दफ्तर में घुसकर गोली मारी

जम्मू-कश्मीर में एक और कश्मीरी पंडित की हत्या, आतंकियों ने सरकारी दफ्तर में घुसकर गोली मारी

मृतक राहुल भट्ट राजस्व विभाग में कार्यरत थे.

क्या क्रिप्टो करंसी के बुरे दिन शुरू हो गए हैं ? छह महीने में आधी हो गईं कीमतें

क्या क्रिप्टो करंसी के बुरे दिन शुरू हो गए हैं ? छह महीने में आधी हो गईं कीमतें

30% इनकम टैक्स के बाद अब 28% जीएसटी लगाने की तैयारी

पेट्रोल के दाम घटाने की मांग कर रहे विपक्षी राज्यों को पीएम मोदी ने नवंबर याद दिला दिया

पेट्रोल के दाम घटाने की मांग कर रहे विपक्षी राज्यों को पीएम मोदी ने नवंबर याद दिला दिया

मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल मीटिंग में पीएम मोदी ने नाम ले-लेकर सुनाया.

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

जानकारों ने जहांगीरपुरी में निकले जुलूस पर सवाल उठाए हैं.

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

मौजूदा आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे के रिटायर्ड होने पर पदभार संभालेंगे.