Submit your post

Follow Us

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत, संदिग्ध हालात में लटकता मिला शव

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध हालात में मौत हो गई है. पुलिस के मुताबिक, उनका शव अल्लापुर में बाघंबरी गद्दी मठ के कमरे में फंदे से लटका मिला है. शव के पास से सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है. पुलिस शुरुआती जांच में इसे आत्महत्या मान रही है. हालांकि नरेंद्र गिरि की मौत को लेकर उनके एक शिष्य आनंद गिरि का नाम लिया जा रहा है. वहीं, आनंद गिरि ने आईजी केपी सिंह का नाम लेते हुए उनके खिलाफ जांच की मांग की है. इंडिया टुडे/आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक, सुसाइड नोट में कई लोगों के नाम है, लेकिन पुलिस फिलहाल उनका जिक्र नहीं कर रही है.

सीएम, पीएम सभी ने जताया शोक

एक दिन पहले यानी रविवार 19 सितंबर को यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने महंत नरेंद्र गिरि से आशीर्वाद लिया था. उनकी मौत की खबर जानने के बाद केशव मौर्य ने ट्वीट किया,

मुझे विश्वास नहीं हो रहा है कि पूज्य महंत नरेंद्र गिरि जी महाराज ने ख़ुदकुशी की होगी. स्तब्ध हूं निःशब्द हूं आहत हूं. मैं बचपन से उन्हें जानता था. साहस की प्रतिमूर्ति थे. मैंने कल ही सुबह उनका आशीर्वाद प्राप्त किया था. उस समय वह बहुत सामान्य थे. बहुत ही दुखद असहनीय समाचार है!

पूज्य महाराज जी ने देश धर्म संस्कृति के लिए जो योगदान दिया है उसे भूलाया नहीं जा सकता है. अश्रुपूर्ण विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं. भगवान से प्रार्थना है कि सभी भक्तों शिष्यों को दुख सहने की शक्ति दें. भगवान पुण्यात्मा को चरणों में स्थान दें! ॐ शान्ति शान्ति शान्ति.

पीएम नरेंद्र मोदी ने महंत नरेंद्र गिरि को श्रद्धांजलि दी. लिखा,

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्री नरेंद्र गिरि जी का देहावसान अत्यंत दुखद है. आध्यात्मिक परंपराओं के प्रति समर्पित रहते हुए उन्होंने संत समाज की अनेक धाराओं को एक साथ जोड़ने में बड़ी भूमिका निभाई. प्रभु उन्हें अपने श्री चरणों में स्थान दें। ॐ शांति!!

सीएम योगी ने भी ट्वीट किया,

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि जी का ब्रह्मलीन होना आध्यात्मिक जगत की अपूरणीय क्षति है. प्रभु श्री राम से प्रार्थना है कि दिवंगत पुण्यात्मा को अपने श्री चरणों में स्थान तथा शोकाकुल अनुयायियों को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करें. ॐ शांति!

वहीं, यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने लिखा,

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष पूज्य नरेंद्र गिरी जी का निधन, अपूरणीय क्षति! ईश्वर पुण्य आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान और उनके अनुयायियों को यह दुख सहने की शक्ति प्रदान करें. भावभीनी श्रद्धांजलि.

कुछ चर्चित लोगों ने नरेंद्र गिरि की मौत पर दुख जताने के साथ उनकी कथित आत्महत्या की थ्योरी पर सवाल खड़े किए हैं. इनमें स्वामी चक्रपाणी और आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह जैसे लोग शामिल हैं. आजतक को मिली जानकारी के मुताबिक, चक्रपाणी ने कहा है,

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि के बारें में जो सूचना आ रही है वो दुखी करने वाली है. उनके बारे में कहा जा रहा है कि उन्होंने आत्महत्या कर ली. ये समझ से परे है. कोई भी संत जो संघर्ष से निकला है, आत्महत्या नहीं करेगा. संत तो दूसरे को जीवन जीने की प्रेरणा देते हैं. इसलिए हम आश्चर्यचकित हैं. ये सनातन धर्म की क्षति है. शासन-प्रशासन से मांग करता हूं कि निष्पक्षता से इसकी जांच की जाए.

वहीं, संजय सिंह ने कहा,

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष पूज्य नरेंद्र गिरी जी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत की खबर सुनकर बेहद आहत हूं. उनकी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत का सच संत समाज जानना चाहता है. इसका सच पूरा देश जानना चाहता है. इसीलिए इस पूरे मामले की सीबीआई से जांच होनी चाहिए. इस सरकार में ना आम इंसान सुरक्षित है ना साधु संत.

मीडिया रिपोर्टों में बताया गया है कि नरेंद्र गिरि और उनके शिष्य आनंद गिरि के बीच लंबे समय से विवाद चल रहा था. आजतक को मिली जानकारी के मुताबिक, पुलिस को महंत नरेंद्र गिरि का एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है. इसमें उन्होंने कथित रूप से आनंद गिरि और अन्य शिष्यों के नामों का उल्लेख किया है. सुसाइड नोट के आधार पर कहा जा रहा है कि नरेंद्र गिरि कई कारणों से परेशान थे. इसी वजह से अपना जीवन समाप्त कर रहे हैं. खबर के मुताबिक, उन्होंने लिखा कि वह गर्व के साथ जीते हैं और इसके बिना नहीं रह पाएंगे.

वहीं, आनंद गिरि नाम के जिस शिष्य का नाम लिया जा रहा है, उन्होंने भी सफाई पेश की है. नरेंद्र गिरि की मौत की खबर सामने आने के बाद आनंद ने कहा है,

गुरुजी आत्महत्या नहीं कर सकते. उन्हें पैसों की वजह से टॉर्चर किया गया है. ये मेरे खिलाफ बहुत बड़ा षड्यंत्र है. इसकी निष्पक्षता से जांच होनी चाहिए. पुलिस अधिकारी, भू माफिया तक इस साजिश में शामिल हैं. मैं पुलिस के साथ सहयोग करूंगा. गुरुजी को मेरे खिलाफ भड़काया गया. अगर मैं दोषी हूं तो मैं सजा भुगतने के लिए तैयार हूं. 15 दिन पहले ही मेरी गुरुजी से बात हुई थी. मैं आईजी केपी सिंह के खिलाफ जांच की मांग करता हूं.

महंत नरेंद्र गिरि ने ये भी लिखा है कि आश्रम के बारे में क्या करना है.वसीयत नामा भी लिखा है. इसमें उन्होंने लिखा है कि किसका ध्यान रखा जाना है, किस को क्या दिया जाना है.


ज़ूना अखाड़ा देश का सबसे बड़ा अखाड़ा क्यों है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?