Submit your post

Follow Us

काबुल के गुरुद्वारे में हमला करने वाला एक IS फिदायीन केरल का निकला

अफगानिस्तान के काबुल में 25 मार्च को गुरुद्वारे में हुए धमाके में सिख समुदाय के 25 लोग मारे गए थे. हमले में तीन लोग शामिल थे. हमलावरों में से एक भारत से था. इस्लामिक स्टेट (IS) ने उसे केरल से रिक्रूट किया था. इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, IS की तरफ से इस शख्स का नाम ‘अबू खालिद अल-हिंदी’ रखा गया था.

कथित तौर पर उसकी फोटो IS की प्रोपगैंडा मैगज़ीन ‘अल नाबा’ में 26 मार्च को छपी थी. इसमें वो एके-56 राइफल के साथ विक्ट्री साइन दिखाता हुआ बैठा था. टॉप पुलिस इंटेलिजेंस सोर्स ने इंडिया टुडे को बताया कि फोटो मोहम्मद मोहसिन (उम्र 21 साल) की है. ऐसा माना जाता है कि वो पिछले साल 18 जून को अफगानिस्तान में ड्रोन स्ट्राइक में मारा गया था. मोहसिन कासरगोड जिले का रहने वाला था और इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा था.

तीनों आतंकी मारे गए

25 मार्च को सुबह 7.45 बजे IS के आतंकियों ने हर राय साहिब गुरुदारे पर फायरिंग की और ग्रेनेड फेंके. अफगानिस्तान के सुरक्षा बलों ने छह घंटे की मुठभेड़ के बाद तीनों आतंकियों को मार गिराया और 80 बंधकों को छुड़ा लिया. अगर अबू खालिद अल-हिंदी सच में मोहसिन है तो ये अहम बात होगी क्योंकि तब ये IS के लिए दूसरा फिदायीन होगा. अगस्त, 2015 में IS के ऑपरेटिव अबू यूसुफ अल-हिंदी उर्फ शफी अरमार रक्का में आत्मघाती हमले में मारा गया था.

अरमार उत्तर कन्नड़ जिले के भटकल का रहने वाला था और पहले इंडियन मुजाहिदीन का सदस्य था. वो पहला भारत का शख्स था, जिसे अमेरिका ने वैश्विक आतंकी का दर्जा दिया था. मोहसिन अफगानिस्तान में IS के कैंप चलाने के लिए दुबई से गया था, जहां वो कोझिकोड के एक इंजीनियर शजीर मंगलासेरी के टेलीग्राम का सदस्य था. मंगलासेरी जून, 2017 में अफगानिस्तान में यूएस के ड्रोन अटैक में मारा गया था.

केरल के कई लोग IS में शामिल हुए

2016 में केरल के 98 लोग परिवार समेत इस्लामिक स्टेट जॉइन करने अफगानिस्तान के नंगरहार गए, जिसे IS का ‘खोरासन प्रांत’ कहा जाता है. इनमें से 30 सीधे केरल से गए थे और 70 लोगों ने खाड़ी देशों से इन्हें जॉइन किया. पिछले तीन साल में अफगानिस्तान में हुई एयरस्ट्राइक्स में इनमें से सात लोग मारे गए हैं. केरल से 21 लोगों की टीम को लीड करने वाला राशिद अब्दुल्ला मई, 2018 में एयरस्ट्राइक में मारा गया. इस्लामिक स्टेट नंगरहार और कुनार प्रांत में 2014 में फैला और 2016 से करीब 250 भारतीयों ने इसे जॉइन किया. इनमें से 98 केरल से थे.


अफगानिस्तान से आए रिफ्यूजी परिवार के साथ जो हुआ वो भावुक कर देगा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

मुंबई में सुशांत सिंह राजपूत को दी गई अंतिम विदाई, ये हस्तियां हुईं शामिल

मुंबई में तेज बारिश के बीच अंतिम संस्कार.

सुशांत ने किस दोस्त को आख़िरी कॉल किया था?

दोस्त फोन रिसीव न कर सका. जब तक कॉल बैक किया, देर हो चुकी थी.

सुशांत के साथ काम कर चुके मनोज बाजपेयी, राजकुमार राव और अनुष्का शर्मा ने क्या कहा?

सुशांत ने 11 फिल्मों में काम किया था.

सुशांत के सुसाइड से जुड़ी शुरुआती डिटेल्स आ गई हैं, सुबह 10 बजे तक सब ठीक था

किसे कॉल किया था? घर में कितने लोग थे? वगैरह.

कभी फिल्मी सितारों के पीछे नाचते थे सुशांत, फिर एकता कपूर ने कहा- मैं तुझे स्टार बनाऊंगी

सुशांत सिंह राजपूत ने फिल्मों से पहले छोटे पर्दे पर काम किया था.

मुम्बई से लेकर सुशांत के पटना वाले घर तक हर तरफ भयानक सदमा है

सुशांत के पिता पटना में रहते हैं. सदमे में चले गए हैं.

13 जून की रात सुशांत के दोस्त उनके साथ उनके घर पर रुके थे

14 जून की सुबह जब कई बार बुलाने पर भी दरवाज़ा नहीं खुला, तो शक हुआ.

सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या पर पीएम मोदी समेत राजनीति से जुड़े लोग क्या बोले?

कम उम्र में सुसाइड को लेकर तमाम लोग चौंक रहे हैं.

सुशांत सिंह राजपूत ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या की

हाल ही में उनकी पूर्व मैनेजर दिशा सालियान ने भी सुसाइड किया था.

कोरोना टेस्टिंग पर यूपी सरकार को घेरने वाले पूर्व IAS की पूरी कहानी जानिए!

सूर्यप्रताप सिंह, जिन पर FIR दर्ज हुई.