Submit your post

Follow Us

जब दिल्ली में पत्रकार ने डॉनल्ड ट्रंप से कह दिया- सच बोलने में हमारा रेकॉर्ड आपसे अच्छा है

दो दिनों की अपनी भारत यात्रा के आख़िरी हिस्से में डॉनल्ड ट्रंप ने ITC होटल में एक सोलो प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इसमें उन्होंने मीडिया के सवालों के जवाब दिये. इस सवाल-जवाब का हाई पॉइंट था CNN के एक रिपोर्टर के साथ हुई ट्रंप की बकझक.

इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद थे CNN के रिपोर्टर जिम अकोस्टा. ट्रंप का अमेरिकी मीडिया के एक धड़े के साथ छत्तीस का आंकड़ा है. इनमें प्रमुख हैं- न्यू यॉर्क टाइम्स (NYT), वॉशिंगटन पोस्ट और CNN. ये ट्रंप की कई नीतियों के आलोचक हैं. ट्रंप आए दिन इनके खिलाफ बयान देते हैं. ट्वीट करते हैं. ये लड़ाई इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी घुस गई. हुआ ये कि ट्रंप ने CNN की आलोचना की. कहा, CNN ग़लत रिपोर्टिंग करता है. जवाब में जिम ने कहा-

श्रीमान राष्ट्रपति, मुझे लगता है कि सच बताने में हमारा रेकॉर्ड आपके रेकॉर्ड के मुकाबले कहीं बेहतर है.

किस सवाल पर ये बहसबाजी हुई?
ट्रंप की ये प्रेस कॉन्फ्रेंस ऐसी थी, मानो वो अमेरिका में हों. वो अपने विपक्ष- डेमोक्रैटिक पार्टी की आलोचना कर रहे थे. घरेलू पॉलिटिक्स पर बात कर रहे थे. पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा, जो कि डेमोक्रैटिक पार्टी से हैं, द्वारा लागू किए गए ओबामाकेयर की आलोचना कर रहे थे. नवंबर, 2020 में होने जा रहे अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव पर बोल रहे थे. इसी दौरान CNN के पत्रकार जिम अकोस्टा ने उनसे सवाल किया. जिम ने 2016 के चुनावों में कथित तौर पर रूस द्वारा की गई दखलंदाजी का ज़िक्र करते हुए ट्रंप से पूछा कि क्या वो अमेरिकी जनता को आश्वस्त करना चाहेंगे कि इन चुनावों में वो किसी और देश की मदद नहीं लेंगे. जवाब में ट्रंप ने कहा कि उन्हें न तो किसी से मदद लेने की ज़रूरत है और न ही किसी विदेशी ताकत ने कभी उनकी ऐसी कोई मदद की है. इसका जवाब देते हुए ट्रंप ने CNN का ज़िक्र उठाया. कहा, CNN ने ग़लत रिपोर्टिंग की और उसे माफ़ी मांगनी पड़ी. ट्रंप के इस बयान के जवाब में जिम ने वो सच बोलने के बेहतर रेकॉर्ड वाला जवाब दिया उन्हें.

कौन हैं जिम अकोस्टा?
बात इतने पर ख़त्म नहीं हुई. जिम के जवाब पर ट्रंप ने कहा कि CNN का रेकॉर्ड ऐसा है कि उसे ख़ुद पर शर्मिंदा होना चाहिए. जिम ने इसका भी जवाब दिया. कहा, न तो वो शर्मिंदा हैं और न ही CNN. जिम अकोस्टा CNN की वाइट हाउस बीट देखने वाले मुख्य संवाददाता हैं. वो ट्रंप की भारत यात्रा को कवर करने यहां आए थे.

रूस द्वारा ट्रंप को फायदा पहुंचाने के लिए की गई कथित दखलंदाजी. डेमोक्रैटिक पार्टी के ईमेल्स लीक करने के पीछे कथित तौर पर रूस का हाथ. ये आरोप नवंबर 2016 में हुए पिछले राष्ट्रपति चुनावों के समय से ही ट्रंप का पीछा कर रहे हैं.


ट्रंप का भारत दौरा: पाकिस्तान और कट्टर इस्लामिक आतंकवाद पर क्या बोले अमेरिकी राष्ट्रपति?

दिल्ली के सरकारी स्कूल जाकर मेलानिया ट्रंप ने क्या-क्या किया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

दुनिया के 10 सबसे कमज़ोर पासवर्ड कौन से हैं?

रिस्की पासवर्ड का पता कैसे चलता है?

'इक कुड़ी जिदा नां मुहब्बत' वाले शिव बटालवी ने बताया कि हम सब 'स्लो सुसाइड' के प्रोसेस में हैं

इन्होंने अपनी प्रेमिका के लिए जो 'इश्तेहार' लिखा, वो आज दुनिया गाती है

शराब पर बस ये पढ़ लीजिए, बिना लाइन में लगे झूम उठेंगे!

लिखने वालों ने भी क्या ख़ूब लिखा है.

वो चार वॉर मूवीज़ जो बताती हैं कि फौजी जैसे होते हैं, वैसे क्यूं होते हैं

फौजियों पर बनी ज़्यादातर फिल्मों में नायक फौजी होते ही नहीं. उनमें नायक युद्ध होता है. फौजियों को देखना है तो ये फिल्में देखिए.

गहने बेच नरगिस ने चुकाया था राज कपूर का कर्ज

जानिए कैसे शुरू और खत्म हुआ नरगिस और राज कपूर का प्यार का रिश्ता..

सत्यजीत राय के 32 किस्से: इनकी फ़िल्में नहीं देखी मतलब चांद और सूरज नहीं देखे

ये 50 साल पहले ऑस्कर जीत लाते, पर हमने इनकी फिल्में ही नहीं भेजीं. अंत में ऑस्कर वाले घर आकर देकर गए.

ऋषि कपूर की इन 3 हीरोइन्स ने उनके बारे में क्या कहा?

इनमें से एक अदाकारा को ऋषि ने आग से बचाया था.

ईश्वर भी मजदूर है? लेखक लोग तो ऐसा ही कह रहे हैं!

पहली मई को दुनियाभर में मजदूरों के हक़ की बात कही जाती है.

बलराज साहनी की 4 फेवरेट फिल्में : खुद उन्हीं के शब्दों में

शाहरुख, आमिर, अमिताभ बच्चन जैसे सुपरस्टार्स के फेवरेट एक्टर रहे बलराज साहनी.

जब भीमसेन जोशी के सामने गाने से डर गए थे मन्ना डे

मन्ना डे के जन्मदिन पर पढ़िए, उनसे जुड़ा ये किस्सा.