Submit your post

Follow Us

संजय दत्त की 'भूमि' की 12 बातेंः ये एक जबरदस्त हॉलीवुड मूवी से प्रेरित है

जानिए दत्त की इस आने वाली रिवेंज थ्रिलर और उसे प्रेरित करने वाली फ्रेंच-इंग्लिश फिल्म की बातें.

#1. संजू की कमबैक फिल्म 

जब संजय दत्त जेल में थे तभी से उनकी कमबैक फिल्मों की प्लानिंग शुरू हो गई थी. उनकी पत्नी मान्यता ने प्रोडक्शन हाउस भी एक्टिव रखा हुआ था और संजय के लिए करीब आधा दर्जन फिल्मों की कहानियों पर काम हो रहा था. उनमें से जो फिल्म सबसे पहले बनी है और रिलीज होने जा रही है, वो है – ‘भूमि’. इसे डायरेक्ट किया है ‘मेरी कॉम’ और ‘सरबजीत’ जैसी फिल्में बना चुके ओमंग कुमार ने.

फिल्म के एक दृश्य में अदिति और संजय दत्त.
फिल्म के एक दृश्य में अदिति और संजय दत्त.

#2. इस फ्रेंच फिल्म से शुरू हुई प्रेरणा

सूत्रों के मुताबिक उनकी फिल्म ‘भूमि’ की असल प्रेरणा अंग्रेजी भाषा वाली फ्रेंच थ्रिलर ‘टेकन’ है जो 2008 में रिलीज हुई थी और पूरी दुनिया में लोगों ने से बहुत एंजॉय किया था. ये कहानी अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के ताकतवर एजेंट रहे ब्रायन मिल्स की होती है. मिल्स अब सिक्योरिटी से जुड़े पार्टटाइम काम करता है और अपनी बेटी किम से बेइंतहा प्यार करता है. वो अपनी मां और सौतेले पिता के साथ रहती है. एक बार किम अपनी सहेली के साथ पैरिस घूमने जाती है और वहां उसे कुछ लोग किडनैप कर लेते हैं.

फिल्म टेकन के एक दृश्य में लीयाम नीसन.
फिल्म टेकन के एक दृश्य में लीयाम नीसन.

इस फिल्म का वो सीन बहुत रौंगटे खड़े करने वाला है जब किडनैपर्स बिल्डिंग में घुस आए होते हैं किम देख लेती है. वो अपने डैड को फोन करती है. मिल्स उसे कहता है कि बेटा, मेरी बात ध्यान से सुनो अब तुम्हे उठा लिया जाएगा और जैसा मैं कहता हूं वैसा करो. किडनैप होने से पहले बचे कुछ पलों में वो उसे ब्रीफ करता है और वो वैसे ही करती जाती है. इसी सीन का आखिरी हिस्सा सबसे ताकतवर है जब मास्कधारी किडनैपर उसकी बेटी को घसीटकर ले जा रहे होते हैं और फोन पर मिल्स उसे कुछ यूं कहता है कि – मेरी बात तुम ध्यान से सुनना, और बहुत ध्यान से सुनना. तुम अगर मेरी बेटी को अभी, यहीं छोड़कर चले जाओगे तो ये बात यहीं खत्म हो जाएगा. लेकिन अगर तुम ऐसा नहीं करते हो तो ये जान लो मैं एक बहुत विशेष आदमी है. इतने वर्षों में मैंने कुछ बहुत विशेष क्षमताएं विकसित हैं. मैं उनका इस्तेमाल कर लूंगा और मैं तुम्हे ढूंढ़ लूंगा. और मैं तुम्हे मार दूंगा.

बाद में वो किम को बचाने के लिए जाता है. और न के बराबर क्लू होने के बाद भी किडनैपर्स को ढूंढ़ता जाता है.

#3. ‘टेकन’ ही क्यों पसंद आई

"टेकन-2" में लीयाम नीसन और "भूमि" में संजय दत्त.
“टेकन-2” में लीयाम नीसन और “भूमि” में संजय दत्त.

फिल्म उद्योग के सूत्र बताते हैं कि संजू जब जेल में थे तभी उनकी टैलेंट मैनेजमेंट कंपनी और मान्यता इस विचार में लगे थे कि संजू के कमबैक के बाद उनका इमेज मेकओवर और ब्रांडिंग कैसे नए सिरे से तय की जाए. उसके लिए उन्हें बहुत स्पेशल आइडिया की तलाश थी. उनका ध्यान ‘टेकन’ पर अटका. ये कई मायनों में संजय के हिसाब से फिट फिल्म थी. मूल फिल्म में हीरो थे लीयाम नीसन और संजू कद काठी में बिलकुल उनके जैसे दिखते हैं. दोनों ही इमोशनल फिल्में भी करते हैं और एक्शन हीरो की पहचान रखते हैं. ‘टेकन’ ने बिजनेस भी बहुत जोरदार किया था और उसका ओवरऑल कंटेंट ऐसा था कि लगता है हिंदी में भी ये कहानी सुपरहिट हो सकती है.

#4. रीमेक राइट्स लेने की कोशिश हुई थी

'भूमि' के एक दृश्य में संजय
‘भूमि’ के एक दृश्य में संजय

सूत्र बताते हैं कि संजू जब फरवरी 2016 में जेल से बाहर आए तब उनकी टीम फ्रेंच निर्माताओं से रीमेक राइ्ट्स लेने की कोशिश कर रही थी जो हो नहीं पाया. इसकी एक वजह ये हो सकती है कि हिंदी दर्शक भी ‘टेकन’ का डब्ड वर्जन खूब देखते हैं और रीमेक आने से इस सीरीज की भविष्य की सारी टीवी व्यूअरशिप घट सकती है. इसके अलावा अभी ये सीरीज खत्म नहीं हुई है. अभी तक आई तीनों फिल्मों ने अच्छा कारोबार किया है. ये भी कारण हो सकता है कि राइट्स लेने का ख़याल भारतीय निर्माताओं ने ही टाल दिया गया हो क्योंकि वे पैसे न खर्चना चाहते हों. अंत में ‘भूमि’ की कहानी का पूरी तरह भारतीयकरण किया गया और ‘टेकन’ सिर्फ शुरुआती प्रेरणा भर रह गई.

#5. रानी और अजय ने भी प्रेरणा ली

"शिवाय" में अजय और "मर्दानी" में रानी.
“शिवाय” में अजय और “मर्दानी” में रानी.

ऐसा बताया जाता है कि ‘टेकन’ को हिंदी में बनाने के लिए सनी देओल की टीम भी राइट्स लेने की कोशिश कर चुकी है. अजय देवगन ने तो ‘शिवाय’ नाम से फिल्म बना भी दी. उसका कलेवर पूरी तरह बदल दिया गया ताकि उनकी फिल्म प्रेरित न लगे लेकिन दोनों फिल्मों में समानताएं साफ देखी जा सकती हैं. कैसे दोनों कैरेक्टर अपनी बेटियों को बचाने के लिए खूंखार मिशन पर निकलते हैं. रानी मुखर्जी की फिल्म ‘मर्दानी’ ने भी कहानी में थोड़ी तब्दीली करके वही रिपीट करने की कोशिश की थी जो ‘टेकन’ में किया गया था.

#6. ‘भूमि’ की कहानी

एक दृश्य में संजय दत्त.
एक दृश्य में संजय दत्त.

ये आगरा में रहने वाले एक आदमी की कहानी है जो अपनी बेटी भूमि के साथ रहता है. उसकी बेटी ही है जो उसे जीने की उम्मीद देती है. वो उसके लिए दुनिया का बेस्ट लड़का ढूंढ़कर उसकी शादी करना चाहता है. लेकिन कुछ लोग इस सपने को बर्बाद कर देते हैं. उनकी वजह से भूमि को मुहल्ले और समाज में बदनामी झेलनी पड़ती है. अदालत में भी उसका मज़ाक उड़ता है. पुलिस अपराधियों के साथ हो जाती है. आखिर में उसका पिता मामला अपने हाथ में लेता है. वो बदला लेने निकलता है और उसका कहर सब पर टूटता है.

#7. अदिति हैदरी बेटी के किरदार में

फिल्म के सेट पर संजय और अदिति.
फिल्म के सेट पर संजय और अदिति.

फिल्म में अदिति राव हैदरी ने संजू के किरदार की बेटी का रोल किया है. उनसे पहले दूसरी एक्ट्रेस से भी बात की जा रही थी. जैसे दिलीप कुमार और सायरा बानू की रिश्तेदार सायेशा से. कथित तौर पर उन्हें इस रोल में लेने की बात चल रही थी. ये रोचक संयोग है कि ‘टेकन’ से प्रेरित अजय देवगन की ‘शिवाय’ में भी सायेशा ने काम किया था.

#8. शेखर सुमन का दोस्त का रोल

शेखर और संजय; दोनों फिल्म भूमि की शूटिंग के दौरान अपने किरदारों में. (फोटोः फैन पेज)
शेखर और संजय; दोनों फिल्म भूमि की शूटिंग के दौरान अपने किरदारों में. (फोटोः फैन पेज)

‘भूमि’ में शेखर सुमन भी हैं जो संजय के दोस्त के रोल में हैं. जैसे ‘टेकन’ में अपनी बेटी को ढूंढ़ने के दौरान मिल्स फ्रांस के अपने दोस्त की मदद लेता है. कुछ और दोस्त भी हैं जो हमेशा उसके साथ खड़े रहते हैं. वैसा ही एक कैरेक्टर इस फिल्म में शेखर का है. हालांकि ‘भूमि’ में ये किरदार नेगेटिव निकलेगा और मारा जाएगा ये ज्ञात नहीं है. हो सकता है शेखर वाला दोस्त का रोल पूरी तरह पॉजिटिव हो.

#9. मेन विलेन हैं शरद केलकर

फिल्म में विलेन के रोल में शरद केलकर.
फिल्म में विलेन के रोल में शरद केलकर.

फ्रेंच थ्रिलर में विलेन अल्बेनिया मूल के गैंग वाले लोग होते हैं जो लड़कियों की तस्करी करते हैं और रईस ग्राहकों के बीच उनकी बोली लगती है. ऐसी भूमिकाओं में स्ट्रॉन्ग लोग थे. ‘भूमि’ में मुख्य विलेन के रोल में शरद केलकर को लिया गया है. डायरेक्टर ओमंग ने उनकी काफी तारीफ की है और उन्हें खतरनाक प्रेजेंस बताया. शरद का कैरेक्टर धौलपुर का है जो अपने आदमियों के साथ भूमि को उठा लेता है, उसे स्टॉक करता है और उसकी जिंदगी से खुशियां छीन लेता है.

#10. ‘कॉमेडी सर्कस’ के राइटर ने लिखी फिल्म

संजय के साथ राज शांडिल्य; अन्य फोटो में कृष्णा और कपिल शर्मा के साथ.
संजय के साथ राज शांडिल्य; अन्य फोटो में कृष्णा और कपिल शर्मा के साथ.

सूत्र बताते हैं कि डायरेक्टर ओमंग कुमार, प्रोड्यूसर संदीप सिंह और टी-सीरीज के भूषण कुमार को जब संजय दत्त की ओर से (टेकन से प्रेरित) कहानी फाइनल करने की अनुमति मिल गई तो उन्होंने राइटर्स की तलाश की. फिर उन्होंने राज शांडिल्य को फाइनल किया. उन्हें जल्दी से फिल्म लिखवानी थी और राज इसमें माहिर हैं. उन्होंने टाइट डेडलाइन में कॉमेडी सर्कस जैसे शोज़ की करीब 500 स्क्रिप्ट लिखी हैं. ज्यादातर कृष्णा-सुदेश के लिए और काफी सारी कपिल शर्मा के लिए. इसके अलावा वे सोहैल खान की नवाजुद्दीन सिद्दीकी वाली ‘फ्रीकी अली’ और अनीस बज्म़ी की ‘वेलकम बैक’ के स्क्रिप्ट या डायलॉग राइटर रहे हैं. एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि जब ‘भूमि’ की स्क्रिप्ट उन्होंने पढ़कर सुनाई तो संजय दत्त रोए और उन्हें कसकर गले लगा लिया. राज ने इसके अलावा संजय दत्त की एक और आने वाली फिल्म ‘मलंग’ को लिखा है.

#11. बहुत जल्दी पूरी कर ली गई फिल्म (देखें ट्रेलर)


इसी साल फरवरी में आगरा में संजय दत्त ने इस फिल्म की शूटिंग शुरू की थी जिसे करीब पचास दिन के शेड्यूल में खत्म कर लिया गया. मुंबई में भी शूट चला था. करीब सात महीने के प्रोसेस में फिल्म पूरी तरह रेडी कर ली गई. 24 जुलाई को इसका पहला पोस्टर आया था और गुरुवार 10 अगस्त को पहला ट्रेलर लॉन्च किया गया है.

#12. तीन साल बाद उनकी कोई मूवी आएगी

फिल्म पीके में आमिर औऱ संजय दत्त.
फिल्म पीके में आमिर औऱ संजय दत्त.

‘भूमि 22’ सितंबर को रिलीज होने जा रही है. करीब तीन साल बाद संजय दत्त की कोई फिल्म सिनेमाघरों में उतरेगी. उनकी पिछली फिल्म ‘पीके’ थी जो दिसंबर 2014 में रिलीज हुई थी. उसमें उन्होंने भैरों सिंह की जिंदादिल भूमिका की थी. उसी शूटिंग के दौरान उनके जेल जाने का फैसला आया था.

और पढ़ें:
राज कुमार के 42 डायलॉगः जिन्हें सुनकर विरोधी बेइज्ज़ती से मर जाते थे!
‘बादशाहो’ की असल कहानीः ख़जाने के लिए इंदिरा गांधी ने गायत्री देवी का किला खुदवा दिया था!
सैफ अली खान की फिल्म ‘कालाकांडी’ की असल कहानी ये है!
राज कपूर का नाती फिल्मों में आ रहा है लेकिन लोग पहले ही उससे चिढ़े हुए हैं
अनुष्का शर्मा की फिल्म ‘परी’ की 5 बातें जो आपको जाननी चाहिए!
इंडिया में राजकुमार राव की फिल्म ‘न्यूटन’ का ट्रेलर नहीं आया है पर यहां देखिए
नवाज की नई फिल्म का ट्रेलर जिसमें वो वासेपुर के ‘फैज़ल खान से ज्यादा हरामी है’
भंसाली ने ‘पद्मावती’ में कुछ ऐसा किया है कि राजपूत उन्हें गले लगा लेंगे
24 बातों में जानें कंगना रनोट की नई फिल्म ‘सिमरन’ की पूरी कहानी

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

मूवी रिव्यू: जगमे थंदीरम

मूवी रिव्यू: जगमे थंदीरम

धनुष की जिस फिल्म को लेकर इतना हाईप था, वो आखिर है कैसी?

मूवी रिव्यू- शेरनी

मूवी रिव्यू- शेरनी

जानिए 'न्यूटन' फेम अमित मसुरकर और विद्या बालन ने साथ मिलकर क्या बनाया है!

मूवी रिव्यू: स्केटर गर्ल

मूवी रिव्यू: स्केटर गर्ल

फिल्म को देखकर दिमाग नहीं घूमेगा, बस बिज़ी लाइफ में ठहराव महसूस होगा.

वेब सीरीज़ रिव्यू- सनफ्लावर

वेब सीरीज़ रिव्यू- सनफ्लावर

अच्छे एक्टर्स की शानदार परफॉरमेंस से लैस ये सीरीज़ एक सुनहरा मौका गंवाती सी लगती है.

तापसी पन्नू की 'हसीन दिलरुबा' का ट्रेलर तो बहुत जबराट है

तापसी पन्नू की 'हसीन दिलरुबा' का ट्रेलर तो बहुत जबराट है

बड़े दिन बाद मार्केट में मर्डर मिस्ट्री आई है.

सत्यजीत रे की कहानियों पर आधारित सीरीज़ 'रे', जिसमें इंडस्ट्री के कमाल एक्टर्स की ज़बरदस्त भीड़ है

सत्यजीत रे की कहानियों पर आधारित सीरीज़ 'रे', जिसमें इंडस्ट्री के कमाल एक्टर्स की ज़बरदस्त भीड़ है

मनोज बाजपेयी, के के मेनन, गजराज राव, अली फ़ज़ल, क्या-क्या नाम गिनाएं!

वेब सीरीज़ रिव्यू: द फैमिली मैन सीज़न 2

वेब सीरीज़ रिव्यू: द फैमिली मैन सीज़न 2

काफी डिले के बाद आया शो का सीज़न 2 आखिर है कैसा?

विद्या बालन की 'शेरनी' के ट्रेलर की ये ख़ास बातें नोट की क्या?

विद्या बालन की 'शेरनी' के ट्रेलर की ये ख़ास बातें नोट की क्या?

'न्यूटन' वाले डायरेक्टर फ़िल्म में ज़बरदस्त कास्ट लेकर आए हैं.

रिव्यू: Friends: The Reunion

रिव्यू: Friends: The Reunion

क्या-क्या मज़ेदार हुआ, जब छह पुराने दोस्त 17 साल बाद फिर मिले?

क्या कोरोना वैक्सीन लगवाने के दो साल के अंदर मौत हो जाएगी? सच जानिए

क्या कोरोना वैक्सीन लगवाने के दो साल के अंदर मौत हो जाएगी? सच जानिए

लुच मोंतानिए के दावे में कितना दम है.