Submit your post

Follow Us

दुनिया के 7 वंडर्स के वंडर फैक्ट

3.64 K
शेयर्स

दुनिया के साथ आश्चर्यों मतलब सेवेन वंडर्स को तो आप जानते ही होंगे. न भी जानते हों तो पॉकेट में पड़े अपने झुनझुने में एक बार गूगल कर लो. सब इनफॉरमेशन मिलेगी. पर इनके बारे में कुछ ऐसी बातें हैं जिन्हें कम ही लोग जानते हैं. तो जानो सात ‘आश्चर्यों’ के आश्चर्य:

1. क्राइस्ट द रिडीमर

वैसे तो इस स्टेचू को पॉल लैंडोस्की ने बनाया था. पर इसके भी पहले ऑस्वल्ड नाम के एक भाई साहब ने इसका डिजाईन तैयार किया था जिसमें क्राइस्ट के एक हाथ में ग्लोब होना था. पर आईडिया रिजेक्ट हो गया.


 

2. द ग्रेट वॉल ऑफ चाइना

जब इस दीवार को बनाया गया, तो जिस गारे यानी मिक्सचर से पत्थरों को जोड़ा गया वो चावल के आटे से बना था.


 

3. माचू पीछू

माचू पीछू को इस तरह बनाया गया है कि सालों साल ये भूकंप से बच सके. जब भी पेरू में भूकंप आता है, माचू पीछू के पत्थर नाचते हैं, और झटकों के खत्म होते ही अपनी जगह पर वापस आ जाते हैं.


 

4. पेट्रा

जॉर्डन में बना पेट्रा लगभग 500 सालों के लिए खो गया था. लोगों को पता नहीं चला कि ऐसी कोई चीज भी है. फिर 1812 में स्विट्जरलैंड के जोहान लुडविग बर्कहार्ट नाम के एक खोजी आदमी ने इसे फिर से खोज निकाला.


 

5. चिचेन इत्जा

चिचेन इत्जा के पिरामिड्स में ‘एल कास्तिलो’ नाम का एक ऐसा स्ट्रक्चर है, जो इक्विनॉक्स के दिन, यानी साल के उस खास दिन जब दिन और रात बराबर होते हैं, सूरज की रौशनी से उसका एक हिस्सा एक सांप के शेप में जगमगा उठता है.


 

6. रोमन कोलोसियम

कहते हैं रोमन कोलोसियम जब बना था, शुरूआती 100 दिनों में ही इसमें लगभग 2000 तलवारबाजों को मौत के घाट उतारा जा चुका था, और लगभग 5000 जानवर मारे जा चुके थे. मजे की बात ये है कि मौत के इस महल को आज मौत की सजा यानी कैपिटल पनिशमेंट के खिलाफ चलाये जाने वाली एक मुहिम में यूज किया जा रहा है.


 

7. ताज महल

​हमारी शान ताज महल असल में कुतुब मीनार से लंबा है. देखने में नहीं लगता न? कुतुब मीनार की हाइट ताज महल से लगभग 5 फुट कम है.


 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

फिल्म रिव्यू: सेक्शन 375

ये फिल्म एक केस की मदद से ये आज के समय की सबसे प्रासंगिक और कम कही गई बात कहती है.

बॉल ऑफ़ दी सेंचुरी: शेन वॉर्न की वो गेंद जिसने क्रिकेट की दुनिया में तहलका मचा दिया

कहते हैं इससे अच्छी गेंद क्रिकेट में आज तक नहीं फेंकी गई. आज वॉर्न अपना पचासवां बड्डे मना रहे हैं.

फिल्म रिव्यू: ड्रीम गर्ल

जेंडर के फ्यूजन और तगड़े कन्फ्यूजन वाली मज़ेदार फिल्म.

गैंग्स ऑफ वासेपुर की मेकिंग से जुड़ी ये 24 बातें जानते हैं आप?

अनुराग कश्यप के बड्डे के मौके पर जानिए दो हिस्सों वाली इस फिल्म के प्रोडक्शन से जुड़ी बहुत सी बातें हैं. देखें, आप कितनी जानते हैं.

फिल्म रिव्यू: छिछोरे

उम्मीद से ज़्यादा उम्मीद पर खरी उतरने वाली फिल्म.

ट्रेलर रिव्यू झलकीः बाल मजदूरी पर बनी ये फिल्म समय निकालकर देखनी ही चाहिए

शहर लाकर मजदूरी में धकेले गए भाई को ढूंढ़ती बच्ची की कहानी.

जब अपना स्कूल बचाने के लिए बच्चों को पूरे गांव से लड़ना पड़ा

क्या उनका स्कूल बच सका?

फिल्म रिव्यू: साहो

सह सको तो सहो.

संजय दत्त की अगली फिल्म, जो उन्हें सुपरस्टार वाला खोया रुतबा वापस दिला सकती है

'प्रस्थानम' ट्रेलर फिल्म के सफल होने वाली बात पर जोरदार मुहर लगा रही है.

सेक्रेड गेम्स 2: रिव्यू

त्रिवेदी के बाद अब 'साल का सवाल', क्या अगला सीज़न भी आएगा?