Submit your post

Follow Us

'बेकार कुत्ते' : बुद्धा, फ़ैज़, नक्सलवाद अौर ट्रैफिक जाम

कहते हैं अच्छा कवि या शायर अपने दौर की कहानी बयां करता है, लेकिन अद्वितीय वो रचनाकार है जिसकी कविता हर नए दौर में खुद को रि-इन्वेंट कर लेती है. अपने भीतर एक नया अर्थ भर लेती है. एक नई पोशाक जिसमें नए अर्थों के सुनहरी पर जड़े होते हैं.फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ इसी पाये के शायर हैं. बीसवीं सदी में हमारे उपमहाद्वीप में हुए शायद सबसे चमकदार अौर अज़ीम शायर. सबसे चुनौतियों से भरे भी.

इन्हीं फैज़ अहमद फैज़ ने जब आधी सदी पहले अपनी किताब ‘नक्श-ए-फ़रियादी’ में चर्चित नज़्म ‘ये गलियों के आवारा बेकार कुत्ते’ दर्ज की होगी तो उनके सामने एक गुलाम देश के नागरिक अौर अत्याचारी अंग्रेज सत्ता थी. लेकिन फ़ैज़ की कविता सत्ता को संबोधित नहीं है. फ़ैज़ यहां उन ‘कुत्तों’ से मुखातिब हैं जो दुत्कारे जा रहे हैं, सताए जा रहे हैं फिर भी चुप हैं. शायद सोये हुए हैं. फ़ैज़ यहां सीधे हमसे संबोधित हैं. इस देश के ‘सोये हुए’ नागरिक से. इस नज़्म की मार इतनी डाइरेक्ट है, इतनी सीधी है कि असहज कर देती है.

“ना आराम शब को, ना राहत सवेरे

गलाज़त में घर नालियों में बसेरे

जो बिगड़ें तो एक दूसरे से लड़ा दो

ज़रा एक रोटी का टुकड़ा दिखा दो”

लेकिन जब 2016 में स्वांग वाले रोहित शर्मा इसे अपने संगीत में दोबारा रच गाते हैं तो यह नज़्म फिर एक नया अर्थ ग्रहण कर लेती है, एक नई पोशाक पहन लेती है. कैसे, जानने के लिए विवेक अग्निहोत्री की आनेवाली फिल्म‘बुद्धा इन ए ट्रैफिक जाम’ का यह गाना सुनिए.

फिल्म इस गीत के साथ छवियों का एक कोलाज सा बनाती है. यह एक्सट्रीम्स का कोलाज है. इसमें एक अोर किसी अंग्रेजीदां बिजनस स्कूल में पढ़ते अौर पार्टी करते नई पीढ़ी के उतने ही अंग्रेजीदां लड़के लड़कियां दिखाई देते हैं, अौर दूसरी अोर छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित इलाकों की छवियां हैं.  देश की गरीबी की तस्वीर है तो साथ उसी फ्रेम में माल्या की अमीरी की तस्वीर है. इस कॉन्ट्रास्ट से दूसरी वाली तस्वीर की अश्लीलता खुलकर सामने आती है.

Screen Shot 2016-05-05 at 12.14.04 AM

गीत के पहले कुछ संवाद हैं. हाथ में अधजली सिगरेट लेकर यहां फिल्म के मुख्य प्रोटेगनिस्ट की भूमिका में अरुणोदय सिंह अपनी ही उमर के चंद अन्य नवयुवकों को धिक्कार रहे हैं. उन्हें समझा रहे हैं कि कैसे इंफोसिस, गूगल अौर ऐसी अन्य मल्टीनेशनल कंपनियों के मोटे ‘पे पैकेज’ दरअसल उन्हें गुलाम बनाने का ज़रिया हैं.‘स्लेव टू दि सिस्टम’. कि कैसे वे चाहें तो दुनिया बदल सकते हैं. अौर फिर आता है फ़ैज़ का ‘बेकार कुत्ते’.

कॉर्पोरेट लैडर चढ़ने की फिकर में दुबले हो रहे, रुटीन वाली ज़िन्दगी में उलझे, वीकेंड पर ज़िन्दगी तलाशते, घर की ईएमआई अौर कार लोन को ज़िन्दगी का असली लक्ष्य समझकर चुकाते हुए जब आप फ़ैज़ की यह नज़्म ‘बेकार कुत्ते’ सुनेंगे, झटका लगेगा. आप सोचेंगे कि यह आदमी आधी सदी पहले हमारे जीवन का सच कैसे लिख गया. अौर वो भी इतनी कड़वी भाषा में, इतनी सच्ची भाषा में.

‘बुद्धा इन ए ट्रैफिक जाम’ फिल्म भले ही कैसी भी होनेवाली हो, इस निश्छल, बेपरवाह अौर सच्चे प्रयोग को फिल्म का हिस्सा बनाने के लिए उन्हें दिल से साधुवाद है.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

सलमान के पड़ोसी का आरोप, उनके फार्महाउस में गड़ी हैं स्टार्स की लाशें

सलमान के पड़ोसी का आरोप, उनके फार्महाउस में गड़ी हैं स्टार्स की लाशें

सलमान खान ने उन्हीं के खिलाफ डिफेमेशन केस किया था, अब जवाब दिया है.

सुशांत सिंह राजपूत की फिल्मों के 16 बेहतरीन डायलॉग्स, जो ज़िंदगी जीने का तरीका समझाते हैं

सुशांत सिंह राजपूत की फिल्मों के 16 बेहतरीन डायलॉग्स, जो ज़िंदगी जीने का तरीका समझाते हैं

कुछ ऐसे हैं, जिन्हें सुनकर आपको लगेगा जैसे ये आपके लिए ही लिखे गए हों.

22 बातों में जानिए 'पुष्पा' वाले सुपरस्टार अल्लू अर्जुन की पूरी कहानी

22 बातों में जानिए 'पुष्पा' वाले सुपरस्टार अल्लू अर्जुन की पूरी कहानी

वो सुपरस्टार, जिसकी फैमिली में पहले ही 12 स्टार्स हैं.

'सर' वाली एक्ट्रेस ने अंडर आर्म के बाल वाली फोटो डाली, लोग हल्ला करने लगे

'सर' वाली एक्ट्रेस ने अंडर आर्म के बाल वाली फोटो डाली, लोग हल्ला करने लगे

कुछ लोग उनका मैसेज समझ रहे हैं, तो कुछ 'महिला के बदन पर बाल कैसे' वाले थॉट से ग्रसित कमेंट्स कर रहे हैं.

परवीन बाबी के किस्से, जिन्हें डर था कि अमिताभ बच्चन उन्हें मरवा देंगे

परवीन बाबी के किस्से, जिन्हें डर था कि अमिताभ बच्चन उन्हें मरवा देंगे

जिन्होंने हिंदुस्तान को बताया कि एक औरत किसी के साथ रह भी सकती है. खुलेआम. बिना शादी के.

CID के ACP प्रद्युम्न ने बताया, काम नहीं मिल रहा, घर बैठकर थक गए

CID के ACP प्रद्युम्न ने बताया, काम नहीं मिल रहा, घर बैठकर थक गए

'मैं ये नहीं कहूंगा कि मुझे बहुत ऑफर्स मिल रहे हैं. नहीं है, तो नहीं है.'

सलमान से भिड़ने के बाद अब उन्हें बड़ा भाई क्यों बता रहे KRK?

सलमान से भिड़ने के बाद अब उन्हें बड़ा भाई क्यों बता रहे KRK?

KRK के इस ह्रदय परिवर्तन का राज़ क्या है?

2022 में आने वाली 14 एक्शन फिल्में, जिन्हें देखकर आपका माइंडइच ब्लो हो जाएगा

2022 में आने वाली 14 एक्शन फिल्में, जिन्हें देखकर आपका माइंडइच ब्लो हो जाएगा

इस तरह का एक्शन आपने इससे पहले इंडियन सिनेमा में नहीं देखा होगा.

कौन है केतन, जिसके खिलाफ सलमान खान ने डिफेमेशन केस कर दिया है?

कौन है केतन, जिसके खिलाफ सलमान खान ने डिफेमेशन केस कर दिया है?

पड़ोसी केतन ने सलमान के पनवेल वाले फार्महाउस के बारे में कुछ ऐसा बोल दिया, जो उन्हें ठीक नहीं लगा.

अल्लू अर्जुन की 'अला वैकुंठपुरमुलो' को टीवी पर आने से रोकने के लिए किसने खर्चे 8 करोड़?

अल्लू अर्जुन की 'अला वैकुंठपुरमुलो' को टीवी पर आने से रोकने के लिए किसने खर्चे 8 करोड़?

'अला वैकुंठपुरमुलो' के हिंदी रीमेक 'शहज़ादा' में कार्तिक आर्यन और कृति सैनन लीड रोल्स कर रहे हैं.