Submit your post

Follow Us

इन 10 बातों में जानें कहानी 'बरेली की बर्फी' और उसके बनने की

#1. इस फिल्म की डायरेक्टर हैं अश्विनी अय्यर तिवारी जिन्होंने पिछले साल अपनी डेब्यू फिल्म ‘निल बटे सन्नाटा’ बनाई थी. 2016 की सबसे अच्छी फिल्मों में इसे शामिल किया गया था. ये एक ऐसी औरत की कहानी थी जो लोगों के घरों में काम करती है ताकि अपनी इकलौती बेटी को आगे पढ़ा सके, उसे ऑफिसर बना सके. लेकिन उसकी बेटी को लगता है कि एक कामवाली बाई की बेटी बाई ही बन सकती है और उसकी मां के उच्च शिक्षा दिलाने के ये सपने प्रैक्टिकल नहीं हैं. लेकिन वो अपनी बेटी को प्रेरणा देने के लिए खुद उसकी क्लास तक में दाखिला ले लेती है.

यहां पढ़ें:  2016 का ज़रूर देखा जाने वाला हिंदी सिनेमा!

फिल्म निल बटे सन्नाटा में मां-बेटी के रोल में स्वरा भास्कर और रिया शुक्ला.
फिल्म निल बटे सन्नाटा में मां-बेटी के रोल में स्वरा भास्कर और रिया शुक्ला.

#2. अश्विनी के पति डायरेक्टर नितेश तिवारी हैं जिनकी ‘दंगल’ इंडियन फिल्म इंडस्ट्री के इतिहास की सबसे ज्यादा, करीब 2000 करोड़ रुपए की, कमाई करने वाली फिल्म हो चुकी है. फिल्मों में आने से पहले ये दोनों ही एड वर्ल्ड में हुआ करते थे.

नितेश और अश्विनी अय्यर तिवारी.
नितेश और अश्विनी अय्यर तिवारी.

#3. एक-दूसरे की फिल्मों में भी ये दोनों सहयोग करते हैं. जैसे, ‘बरेली की बर्फी’ को श्रेयस जैन के साथ मिलकर नितेश तिवारी ने ही लिखा है. वे ‘निल बटे सन्नाटा’ के सह-लेखक भी थे. वहीं नितेश के डायरेक्शन वाली ‘भूतनाथ रिटर्न्स’ में अश्विनी क्रिएटिव कंसल्टेंट थीं.

फिल्म में राजकुमार, कृति और आयुष्मान.
फिल्म में राजकुमार, कृति और आयुष्मान.

#4. इस फिल्म की घोषणा पिछले साल हुई थी. इसमें आयुष्मान खुराना, कृति सेनन और राजकुमार राव की कास्टिंग की गई थी. इसमें सीमा पाहवा और पंकज त्रिपाठी जैसे जबरदस्त एक्टर्स भी हैं. अक्टूबर में इसकी शूटिंग शुरू की गई थी. कृति ने ट्विटर पर फिल्म का स्क्रीनप्ले और उस पर लिखा डायरेक्टर अश्विनी का मैसेज शेयर किया था. ये शूट 45 दिन का था जिसकी शुरुआत लखनऊ से हुई थी.

फिल्म के ड्राफ्ट की कॉपी.
फिल्म के ड्राफ्ट की कॉपी.

#5. ‘बरेली की बर्फी’ की कहानी बिट्टी (कृति सेनन) से शुरू होती है जो उत्तर प्रदेश के बरेली में रहती है. दिखाया गया है कि छोटे शहरों की लड़कियों को लेकर जो स्टीरियोटाइप्स हैं उनके उलट वो सिगरेट और शराब पीती है, इंग्लिश फिल्में देखती है और घर से भागने में उसे कोई लोकलाज महसूस नहीं होती. लड़कों के रिश्ते आते हैं लेकिन वो होने नहीं देती. वो मानती है इस दुनिया में कोई तो है जो उसे वैसे ही स्वीकार कर लेगा, जैसी वो है.

बिट्टी के अपने किरदार में कृति.
बिट्टी के अपने किरदार में कृति.

#6. इसी बीच बिट्टी को स्टॉल पर एक हिंदी नॉवेल मिलता है ‘बरेली की बर्फी.’ वो उसे पढ़ती है और उसके लेखक के विचारों से बड़ी प्रभावित हो जाती है. वो उसे वैसा ही वर लगता है जैसा वो चाहती थी. कवर पर पीछे रोनी सूरत बनाए लेखक होता है – प्रीतम विद्रोही (राजकुमार राव).

फिल्म में आयुष्मान, राजकुमार राव और सीमा पाहवा.
फिल्म में आयुष्मान, राजकुमार राव और सीमा पाहवा.

#7. अब पिच्चर में एंट्री होती है चिराग दूबे (आयुष्मान खुराना) की जो टिपिकल यूपी वाला लड़का है. उसके बुक स्टोर पर बिट्टी प्रीतम विद्रोही का पता पूछती है और वो निराश हो जाता है क्योंकि वो बिट्टी को खुद चाहने लगा होता है. अब बिट्टी कहती है कि वो उसे विद्रोही से मिलवा दे. नॉवेल लिखने के अलावा विद्रोही दुकान पर साड़ी बेचने का काम करता है और बहुत भोला आदमी है. चिराग उससे मिलता है और कहता है कि बिट्टी से एक बार मिलकर उसका दिल तोड़ दो ताकि उसका रास्ता खुल जाए. वो विद्रोही को बुरा बनाकर बिट्टी के सामने पेश करता जाता है लेकिन वो हर बार इम्प्रेस करता जाता है. इसी उठा-पटक में ये हल्की-फुल्की कॉमेडी आगे बढ़ती है.

नॉवेल का कवर.
नॉवेल का कवर.

#8. इस कहानी की प्रेरणा डायरेक्टर अश्विनी को फ्रेंच ऑथर निकोलस बैरो के दूसरे नॉवेल ‘द इंग्रीडिएंट्स ऑफ लव’ (2010) से मिली. अपनी फिल्म ‘निल बटे सन्नाटा’ के आखिरी शेड्यूल को खत्म करके जब वे मुंबई के लिए फ्लाइट लेने वाली थीं तब दिल्ली एयरपोर्ट के एक बुकस्टोर से ये नॉवेल खरीदा. फिर उन्होंने कुछ ही दिनों में इसे पढ़ा और नितेश को भी पढ़वाया. उसके बाद तय किया कि इस पर फिल्म बनाएंगी. बाद में बीआर स्टूडियोज़ के प्रोड्यूसर भाइयों अभय और जूनो चोपड़ा (भूतनाथ रिटर्न्स) को उन्होंने ये कहानी सुनाई और वो भी मान गए. निर्माताओं ने किताब के राइट्स खरीदने के लिए फ्रांस में प्रकाशकों से संपर्क किया.

#9. फिल्म का ट्रेलर बुधवार को रिलीज कर दिया गया. कृति पहली बार इसमें छोटे शहर की लड़की के रोल में नजर आ रही हैं. हालांकि आयुष्मान ने ‘दम लगाके हईशा’ में हरिद्वार के लड़के का रोल किया था. राजकुमार राव ने ‘बहन होगी तेरी’ से लेकर ‘काई पो छे’ में ऐसे कई किरदार किए हैं.

#10. ‘बरेली की बर्फी’ 18 अगस्त को रिलीज होने जा रही है. लेकिन उसी दिन डायरेक्टर अपूर्व लखिया की ‘हसीना पारकर’ भी रिलीज होगी जिसमें श्रद्धा कपूर ने दाउद इब्राहीम की बहन और डॉन हसीना का रोल किया है.

श्रद्धा कपूर डॉन हसीना के रोल में.
श्रद्धा कपूर डॉन हसीना के रोल में.

और पढ़ें:
राज कुमार के 42 डायलॉगः जिन्हें सुनकर विरोधी बेइज्ज़ती से मर जाते थे!
‘बादशाहो’ की असल कहानीः ख़जाने के लिए इंदिरा गांधी ने गायत्री देवी का किला खुदवा दिया था!
सैफ अली खान की फिल्म ‘कालाकांडी’ की असल कहानी ये है!
राज कपूर का नाती फिल्मों में आ रहा है लेकिन लोग पहले ही उससे चिढ़े हुए हैं
अनुष्का शर्मा की फिल्म ‘परी’ की 5 बातें जो आपको जाननी चाहिए!
इंडिया में राजकुमार राव की फिल्म ‘न्यूटन’ का ट्रेलर नहीं आया है पर यहां देखिए
नवाज की नई फिल्म का ट्रेलर जिसमें वो वासेपुर के ‘फैज़ल खान से ज्यादा हरामी है’
भंसाली ने ‘पद्मावती’ में कुछ ऐसा किया है कि राजपूत उन्हें गले लगा लेंगे
24 बातों में जानें कंगना रनोट की नई फिल्म ‘सिमरन’ की पूरी कहानी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

वेब सीरीज़ रिव्यू- अनपॉज़्ड: नया सफर

वेब सीरीज़ रिव्यू- अनपॉज़्ड: नया सफर

इस सीरीज़ की सभी 5 कहानियों में एक चीज़ कॉमन है- सबकुछ बेहतर हो जाने की उम्मीद.

'रॉकेट बॉयज़' में क्या ख़ास है, जो दो महान वैज्ञानिक विक्रम साराभाई और होमी भाभा की कहानी दिखाएगी?

'रॉकेट बॉयज़' में क्या ख़ास है, जो दो महान वैज्ञानिक विक्रम साराभाई और होमी भाभा की कहानी दिखाएगी?

ट्रेलर आया है, जिसमें एक बड़े वैज्ञानिक का कैमियो भी है.

मूवी रिव्यू: 36 फार्महाउस

मूवी रिव्यू: 36 फार्महाउस

अगर Knives Out को बहुत ही बुरे ढंग से बनाया जाए, तो रिज़ल्ट ’36 फार्महाउस’ जैसी फिल्म होगी.

वेब सीरीज़ रिव्यू- ये काली काली आंखें

वेब सीरीज़ रिव्यू- ये काली काली आंखें

'ये काली काली आंखें' में आपको बहुत सी ऐसी चीज़ें दिखेंगी, जो आप पहले देख चुके हैं. बस उन चीज़ों के मायने, यहां थोड़ा हटके हैं.

वेब सीरीज रिव्यू: ह्यूमन

वेब सीरीज रिव्यू: ह्यूमन

न ही इसे सिरे से खारिज किया जा सकता है, न ही इसे मस्ट वॉच की कैटेगरी में रखा जा सकता है

साउथ इंडिया के 8 कमाल एक्टर्स, जो हिंदी सिनेमा में डेब्यू करने वाले हैं

साउथ इंडिया के 8 कमाल एक्टर्स, जो हिंदी सिनेमा में डेब्यू करने वाले हैं

अब इनकी हिंदी डब फिल्में खोजने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी.

वेब सीरीज़ रिव्यू: हम्बल पॉलिटिशियन नोगराज

वेब सीरीज़ रिव्यू: हम्बल पॉलिटिशियन नोगराज

अगर पॉलिटिकल कॉमेडी से ऑफेंड होते हैं, तो दूर ही रहिए.

वेब सीरीज़ रिव्यू: कौन बनेगी शिखरवटी

वेब सीरीज़ रिव्यू: कौन बनेगी शिखरवटी

नसीरुद्दीन शाह, रघुबीर यादव और लारा दत्ता जैसे एक्टर्स लिए लेकिन....

वेब सीरीज़ रिव्यू- क्यूबिकल्स 2

वेब सीरीज़ रिव्यू- क्यूबिकल्स 2

Cubicles 2 एक सपने के साथ शुरू होती है. और इसका एंड भी बिल्कुल ड्रीमी होता है. एक ऐसा सपना, जिसके पूरे होने की सिर्फ उम्मीद और इंतज़ार किया जा सकता है.

वेब सीरीज़ रिव्यू: कैंपस डायरीज़

वेब सीरीज़ रिव्यू: कैंपस डायरीज़

कैसा है यूट्यूब स्टार्स हर्ष बेनीवाल और सलोनी गौर का ये नया शो?