Submit your post

Follow Us

चुनाव आयोग ने एक बार फिर अपनी किरकिरी करवा ली है!

असम में बीजेपी प्रत्याशी की कार में EVM मिलने के बाद से चुनाव आयोग लगातार सवालों के घेरे में है. अबकी असम में फिर ऐसा कुछ हुआ है, जिसके बाद से चुनाव आयोग की छीछालेदर हो रही है. हुआ क्या है?

न्यूज़ एजेंसी पीटीआई की एक रिपोर्ट मुताबिक़ 5 पोलिंग अफसर सस्पेंड कर दिए गए हैं. लेकिन क्यों? असम का एक जिला है दीमा हसाओ. यहां के बूथ 107(A) खोतलिर एलपी स्कूल पर 90 लोग मतदान करने के योग्य थे. लेकिन यहां 171 वोट गिरे. इसी मामले को लेकर केंद्रीय चुनाव ने 5 पोलिंग अफसरों को सस्पेंड किया है. यह बूथ जिले के हाफलॉन्ग निर्वाचन क्षेत्र में पड़ता है, जहां 1 अप्रैल को दूसरे चरण में चुनाव हुए थे.

चुनाव आयोग क्या कह रहा?

दीमा हसाओ के डिस्ट्रिक्ट इलेक्शन अफसर द्वारा निलंबन का आदेश 2 अप्रैल को ही जारी कर दिया गया था, लेकिन मामला 5 अप्रैल को सामने आया है. चुनाव आयोग के एक अधिकारी ने पीटीआई से बात करते हुए कहा है कि काम में कोताही बरतने को लेकर चुनाव आयोग ने खोसिअम लंघुम (सेक्टर ऑफिसर), प्रह्लाद रॉय (प्रीसाइडिंग ऑफिसर), परमेश्वर चरणसा (पोलिंग अफसर 1), स्वराज दास (पोलिंग अफसर 2) और लालजमलो थिएक (पोलिंग अफसर 3) को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है.

अधिकारी ने आगे बताया कि उस गांव के प्रमुख ने चुनाव आयोग की वोटर लिस्ट को मानने से इनकार कर दिया और अपनी लिस्ट ले आए. गांव के लोगों ने अपनी लिस्ट के मुताबिक़ वोटिंग की. पोलिंग अधिकारियों ने ग्राम प्रधान की मांग क्यों मानी? और मौके पर सुरक्षाकर्मियों ने क्या भूमिका निभाई? यह अभी तक पता नहीं चल सका है.

बीजेपी कैंडिडेट के गाड़ी में EVM मिलने का मामला

एक और मामले में 1 अप्रैल को असम में मतदान के बाद करीमगंज जिले की पथरकंडी विधानसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी कृष्णेंदु पॉल की सफेद बोलेरो कार में EVM मिली थी. हालांकि जो ईवीएम बीजेपी पथरकंडी से बीजेपी प्रत्याशी कृष्णेंदु पॉल की गाड़ी में मिली थी, वो राताबारी विधानसभा के पोलिंग 149 की है. आज तक से बातचीत में कृष्णेंदु ने बताया था कि उनके भाई गाड़ी से आ रहे थे और रास्ते में किसी ने लिफ्ट मांगी तो उन्होंने दे दी, गड़बड़ी का मकसद नहीं था.

इलेक्शन कमीशन ने बताया कि भले ही ईवीएम और वीवीपैट जैसी चीजें सील बंद पाई गई हैं, लेकिन फिर भी बूथ नंबर 149 इंदिरा एम.वी. स्कूल पर दोबारा वोटिंग कराई जाएगी. पीठासीन अधिकारी और 3 अन्य अधिकारियों को सस्पेंड भी किया गया है. इस मामले में पीठासीन अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है. पूछा गया है कि उन्होंने ट्रांसपोर्ट प्रोटोकॉल का उल्लंघन क्यों किया. मामले में स्पेशल ऑब्जर्वर से रिपोर्ट भी तलब की गई है.


वीडियो- असम में ईवीएम में क्या गड़बड़ी हुई जो बवाल मच गया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.