Submit your post

Follow Us

सुनील जोशी, जिसने उस दिन साउथ अफ्रीका में खौफ भर दिया था

सुनील जोशी. बिशन सिंह बेदी के बाद आंखों को अच्छा लगने वाला हिन्दुस्तानी लेफ़्ट आर्म ऐक्शन वाला गेंदबाज. टीम इंडिया में पर्मानेंट रहने वाला लेकिन कभी फ्रंट लाइन स्पिनर न बन पाने वाला गेंदबाज. 1995-96 के सीज़न में रणजी ट्रॉफी में 500 रन और 50 विकेट का रिकॉर्ड. बचपन में क्रिकेट कोचिंग के वक़्त 40 मील सफ़र कर के हुबली तक पहुंचते थे. 1996 में अपने बेहतरीन रणजी परफॉरमेंस से सबको इम्प्रेस करने वाले सुनील जोशी को इंग्लैंड का टिकट मिला. इंडिया के लिए पहला टेस्ट मैच खेला. बर्मिंघम में. पहले मैच में ही उंगली में चोट लग गयी. एक भी गेंद नहीं फेंक पाए.

सीरीज़-दर-सीरीज़ निखरते जाने के बावजूद सुनील जोशी को 1999 वर्ल्ड कप टीम में जगह नहीं मिली. वजह वही थी. उन्हें सिर्फ़ अनिल कुंबले का साथ देने को खिलाया जाता था. वर्ल्ड कप में किसी और को साथ देना था. खैर, जोशी ने डोमेस्टिक सर्किट में खेलना जारी रखा. सितंबर में एलजी कप के लिए टीम में चुने गए.

26 सितंबर 1999. जिमखाना क्लब ग्राउंड. नैरोबी. साउथ अफ्रीका ने पहली गलती टॉस जीतते ही कर दी. कप्तान हैन्सी क्रोन्ये ने पहले बैटिंग करने को कहा. एक ऐसे विकेट पर जो स्पिन खेलने के लिए परफेक्ट था. उन्होंने सोचा था कि बॉलर्स के फ़ुटमार्क्स इंडिया को दूसरी इनिंग्स में परेशान करेंगे. लेकिन उस घड़ी का वक़्त ही नहीं आ पाया. वेंकटेश प्रसाद और देबाशीष मोहंती की शुरुआती पेस को साउथ अफ़्रीका ने झेला. पहले 9 ओवर बिना किसी नुकसान के निकले. हालांकि साउथ अफ्रीका का रन रेट काफी धीमा था.

पहला विकेट

फर्स्ट चेंज के तौर पर सुनील जोशी ने गेंद थामी. दसवां ओवर. साउथ अफ्रीका 32-0. ओवर की दूसरी गेंद. लेफ़्ट आर्म राउंड द विकेट. अंपायर और विकेट के बीच एक डायगनल खींचते हुए. गेंद एक लूप में ऑफ स्टंप की लाइन में पड़ी. हर्शेल गिब्स को गेंद टर्न होती हुई दिखी. उन्होंने सोचा कि गेंद को थर्ड मैन की ओर सरका दें. बैक फ़ुट पर पहुंचे भी. लेकिन गेंद की स्पीड और उछाल के चलते गेंद, बैट के किनारे को लेकर हवा में उछल गयी. स्लिप में राहुल द्रविड़ अपने दाहिने कूद गए. बॉडी लेंथ पर. नीचे की ओर. गिब्स का कलेजा मुंह को आ गया होगा. गेंद द्रविड़ के हाथ में चिपक गयी. पहली चोट की जा चुकी थी. साउथ अफ़्रीका 32 पर 1.

दूसरा विकेट

साउथ अफ्रीका का सोलहवां ओवर. 39 पर 2 विकेट. बोएटा डिप्पेनार बैटिंग पर. ओवर की आखिरी गेंद. आराम से हाथ घुमा कर लुप्पे में छोड़ी गेंद. गेंद पैरों के पास पड़ी. डिप्पेनार गेंद की लेंथ के पास पैर टिका के बैठ गए. बल्ले को स्वीप करने के लिए घुमाया. लेकिन गेंद टर्न करते हुए बल्ले को मिस कर गयी. गेंद की लाइन पूरी तरह से मिस कर गए. मिडल और ऑफ़ स्टंप की लाइन में पड़ी गेंद ऑफ़ स्टंप के बीचों-बीच जाकर पड़ी. सुनील जोशी, नयन मोंगिया की ओर दौड़ पड़े. चेहरे पर डेढ़ फ़ीट चौड़ी मुस्कान लिए. तीसरा विकेट 39 रन पर गिर चुका था.

तीसरा विकेट

हैन्सी क्रोन्ये. साउथ अफ़्रीका की बैटिंग की रीढ़. गेंद लेग स्टंप की लाइन में पड़ी. क्रोन्ये उसे लेग साइड में टिकाकर सिंगल चुराना चाहते थे. लेकिन स्पीड को समझ नहीं पाए. बल्ले का अन्दर का किनारा लगा और गेंद पैड पर लगते हुए सीधे सिली मिड ऑफ़ पर खड़े सदगोपन रमेश के हाथ में. साउथ अफ्रीका का चौथा विकेट. 45 रन पर.

चौथा विकेट

जॉन्टी रोड्स. कुछ ज़्यादा ही डिजाइनदार खेलने के चक्कर में मारे गए. 38वें ओवर की पहली गेंद. सुनील जोशी की एक गुड लेंथ की गेंद को रिवर्स स्वीप करना चाहा. गेंद शॉर्ट फाइन लेग पर खड़े निखिल चोपड़ा के हाथ में. निखिल चोपड़ा अपने जीवन का पहला वन डे इंटरनेशनल खेल रहे थे.

पांचवां विकेट

जोशी का नौवां ओवर. तीसरी गेंद. दो गेंद पहले ही रोड्स आउट हुए थे. लूप में फेंकी धीमी गेंद. शॉन पॉलक को पीछे धकेल दिया. गेंद को कट करने गए. बल्ले का किनारा लगा. द्रविड़ के हाथ में. जोशी चीखते हुए टीम-मेट्स के पास पहुंचे. राहुल द्रविड़ हमेशा की तरह भरोसे को कायम रख रहे थे. सुनील जोशी को पांच विकेट मिल चुके थे. साउथ अफ्रीका 85 रन पर 7 विकेट.

इनिंग्स ख़तम होने पर साउथ अफ़्रीका न स्कोर था 117 रन. साउथ अफ़्रीका का उस वक़्त का वन डे मैचों में सबसे कम स्कोर. तीन साल बाद विज्डन 100 ने सुनील जोशी की उस परफॉरमेंस को सातवां सबसे अच्छा वन-डे स्पेल माना था. 10 ओवर, 6 मेडेन, 6 रन और 5 विकेट.


21 जून 2012 को सुनील जोशी ने इंटरनेशनल और फर्स्ट क्लास क्रिकेट से रिटायरमेंट ले लिया. लेकिन आज भी एलजी कप की वो बॉलिंग परफॉरमेंस ज़रूर याद रहेगी. इस इनिंग्स को देखने वाले कहते हैं कि सुनील जोशी ने उस दिन साउथ अफ्रीका के अन्दर स्पिन का खौफ़ भर दिया था.


वीडियो:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

आज जानते हो किसका हैप्पी बड्डे है? माधुरी दीक्षित का. अपन आपका फैन मीटर जांचेंगे. ये क्विज खेलो.

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

कौन सा था वो पहला मीम जो इत्तेफाक से दुनिया में आया?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

चुनावी माहौल में क्विज़ खेलिए और बताइए कितना स्कोर हुआ.

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

राहुल के साथ यहां भी गड़बड़ हो गई.

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

म्हारा आमिर, सारुक-सलमान से कम है के?

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?

अनुपम खेर को ट्विटर और वॉट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो

अनुपम खेर को ट्विटर और वॉट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो

चेक करो अनुपम खेर पर अपना ज्ञान.

कहानी राहुल वैद्य की, जो हमेशा जीत से एक बिलांग पीछे रह जाते हैं

कहानी राहुल वैद्य की, जो हमेशा जीत से एक बिलांग पीछे रह जाते हैं

'इंडियन आइडल' से लेकर 'बिग बॉस' तक सोलह साल हो गए लेकिन किस्मत नहीं बदली.

गायों के बारे में कितना जानते हैं आप? ज़रा देखें तो...

गायों के बारे में कितना जानते हैं आप? ज़रा देखें तो...

कितने नंबर आए बताते जाइएगा.