Submit your post

Follow Us

संतूर को सकल राष्ट्र से वाकिफ कराने वाले शर्मा जी का जन्मदिन है आज

सबसे सुंदर होती है सुबह. सब कुछ शुरू होता है उस वक्त. और सुबह की आवाज अगर इंसान पैदा करना चाहे, तो होता है संतूर. स्टील का बक्से सा बाजा, बाजा जो दो डंडियों से बजता है. जलतरंग सा कुछ. संतूर साबुन भी आता था. उसकी मॉडल सुंदर दिखती थी. संतूर संतूर. मम्मी आपकी त्वचा से उम्र का पता ही नहीं चलता.

उम्र तय होती है जन्म के दिन से. और आज जन्मदिन है पंडित शिवकुमार शर्मा का. वही जो संतूर बजाते हैं. मिले सुर मेरा तुम्हारा में देखा था पहली बार. साजन की आंखों में प्यार. प्यार हो गया उस दिन से संतूर से. छोटे थे, तो सोचते थे. बड़े होकर बजाएंगे. पढ़ाई ने बजा दी.

पर पंडित जी ने बचपन से संगीत की पढ़ाई की. उनके पापा उमादत्त शर्मा जम्मू के नामी सिंगर थे. जम्मू कश्मीर में संतूर का इस्तेमाल लोकगीतों के दौरान खूब होता था. शर्मा जी उसी पर रिसर्च कर रहे थे. तब उन्होंने एक दिन तय किया. मेरा बेटा तबला और गायन के फेर में ढेर नहीं होगा. वो तो संतूर पर क्लासिक मौसिकी पैदा करेगा. नतीजा सामने है.

पंडित जी ने सनीमा में भी संगीत दिया. बांसुरी वाले पंडित हरिप्रसाद चौरसिया जी के साथ मिलकर. शिव-हरि के नाम से जोड़ी थी उनकी. सिलसिला में वही हैं. लम्हे और डर में भी. मगर शिव-हरि की जोड़ी फिल्म ने नहीं बनाई. उसके पहले उन्होंने एक एलबम निकाला था. 1967 में घाटी की पुकार के नाम से. साथ में तबले पर पंडित ब्रजभूषण कालरा भी थे.

सुनिए कॉल ऑफ द वैली

पंडित जी की पत्नी का नाम है मनोरमा. दो बेटे हैं. उनमें से एक राहुल है. संतूर बजाता है. लड़की लोगन को हॉट और क्यूट भी लगता है. 1997 से बाप-बेटा जुगलबंदी कर रहे हैं. नतीजा ये रहा.

रहस्मयी आवाजों की दुनिया

और फिल्मी गाना कोई बुरी चीज तो है नहीं. तो जाते जाते ये गाना भी सुन ही लें. सिलसिला से. यश चोपड़ा की फिल्म. रेखा और अमिताभ.
कविता भी सुंदर है. जावेद अख्तर जादू की लिखी

देखा एक ख्वाब तो ये सिलसिले हुए
दूर तक निगाहों में हैं गुल खिले हुए
ये गिला है आपकी निगाहों से
फूल भी हों तो दरमियां तो फासले हुए

गाना वहां से बजेगा जहां से संतूर की एंट्री होती है.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

YES Bank शुरू करने वाले राणा कपूर कौन हैं, जिन्होंने नोटबंदी को 'मास्टरस्ट्रोक' बताया था

यस बैंक डूब रहा है.

सात साल पहले केजरीवाल ने वो बात कही थी जो आज वो ख़ुद नहीं सुनना चाहते

बरसों पुरानी इस बात की वजह से सोशल मीडिया पर घेर लिए गए हैं.

क्या भारत सरकार से पूछे बिना पाकिस्तान चली गई इंडियन कबड्डी टीम?

अब ढेरों खेल-तमाशा हो रहा है.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.

रिव्यू पिटीशन क्या होता है? कौन, क्यों, कब दाखिल कर सकता है?

अयोध्या पर फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड रिव्यू पिटीशन दायर करने जा रहा है.