Submit your post

Follow Us

दूरदर्शन चैनल शुरू करने के लिए किसने दिए थे 180 TV सेट्स?

दूरदर्शन (Doordarshan) चैनल 62 साल का हो गया है. आज यानी 15 सितंबर को इसका हैप्पी बड्डे है. इस मौके पर हम दूरदर्शन की ही बात करेंगे. लेकिन लंबे-लंबे किस्सों में नहीं, 10 पॉइंट्स में. बिल्कुल रोचक बातें.

# दूरदर्शन चैनल पहली बार 15 सितंबर 1959 को ब्रॉडकास्ट हुआ था. शुरुआत में ये चैनल हफ्ते में तीन दिन ही ब्रॉडकास्ट होता था. ढाई-ढाई घंटे के लिए. तब 24 घंटे और सातों दिन चलने वाले चैनल्स का कॉन्सेप्ट नहीं था. उस वक्त दूरदर्शन पर एजुकेशनल प्रोग्राम्स आते थे.

चूंकि सरकार ने शिक्षा के उद्देश्य से दूरदर्शन चैनल शुरू किया था, इसलिए संयुक्त राष्ट्र की संस्था UNESCO ने भारत को उस वक्त 20 हज़ार डॉलर की आर्थिक मदद दी थी. साथ में 180 टीवी सेट्स भी दिए गए थे. तब दूरदर्शन इन 180 टीवी सेट्स पर ही ब्रॉडकास्ट होता था. यानी इन्हीं 180 TV सेट्स से दूरदर्शन की शुरुआत हुई. अगले 10 सालों में टीवी सेट्स की संख्या बढ़कर 1250 हो गई. फिर अगले कुछ और सालों में 2200 और फिर तो हज़ारों, लाखों में पहुंच गई.

1965 से दूरदर्शन चैनल रोज आना शुरू हुआ. यानी डेली ब्रॉडकास्ट शुरू हुआ. 1965 में ही दूरदर्शन पर पहली बार न्यूज़ बुलेटिन शुरू हुआ. तब ये 5 मिनट का हुआ करता था और प्रतिमा पुरी पहली न्यूज़ रीडर थीं.

1975 में दूरदर्शन, ऑल इंडिया रेडियो से अलग हो गया. तब इंदिरा गांधी ने ऑन एयर आकर इसका ऐलान किया था. चैनल की लोकप्रियता लगातार बढ़ रही थी. बाद में 1982 में दूरदर्शन रंगीन हो गया.

1982 में ही विक्रम साराभाई के नेतृत्व में इनसैट-1 सैटलाइट लॉन्च किया गया था और इसी के जरिये पहली बार नेशनल लेवल पर ब्रॉडकास्ट किया गया था. इसके बाद से ही नए-नए कार्यक्रम बनने लगे. सबसे पहले शुरू हुआ कृषि दर्शन, चित्रहार और रविवार को रंगोली.

ये है दूरदर्शन चैनल का सबसे पहला लोगो और उसका थीम म्यूज़िक. समय के साथ लोगो में कई परिवर्तन आए. मगर ट्यून यही रही. जिसके बजने पर आज भी दिल में गुदगुदी होने लगती है.

# दूरदर्शन पर आने वाले धारावाहिक रामायण और महाभारत को जो लोकप्रियता मिली, वो तो सब जानते हैं. लेकिन 1985 में आया करमचंद उस वक्त का पहला सुपरहिट फिक्शनल शो था. इसे दूरदर्शन का पहला डिटेक्टिव शो भी कहा जा सकता है. ये इतना हिट हुआ कि उस जमाने में इसका सीज़न-2 आया था. इसके बाद आया जासूसी शो ब्योमकेश बख्शी भी काफी हिट हुआ था.

दूरदर्शन के अब 34 सैटेलाइट चैनल हैं. देशभर में इसके 60 से अधिक स्टूडियो हैं, जिनमें से 17 राज्यों की राजधानियों में हैं और बाकी अलग-अलग शहरों में हैं. दूरदर्शन देश के सबसे बड़े ब्रॉडकास्टर्स में से एक है. दुनिया के 140 देशों में DD इंडिया चैनल देखा जाता है.


मनमोहन सरकार ने क्या वाकई हिंदुओं का हवाला देकर ‘सत्यम शिवम सुंदरम’ को हटा दिया था?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

पहला चुनाव हार गए थे, बीजेपी ने राज्य की जिम्मेदारी सौंपी है.

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

उनके गाए 'पल' गाने के बगैर आज भी किसी कॉलेज का फेयरवेल पूरा नहीं होता.

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

आन्हां, ऐसे नहीं कि योग बस किए, दिखाना पड़ेगा कि बुद्धिबल कित्ता बढ़ा.

तमिल जनता आखिर क्यों कर रही है 'फैमिली मैन-2' का विरोध, क्या है LTTE की पूरी कहानी?

जब ट्रेलर आया था, तबसे लगातार विरोध जारी है.

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

आज जानते हो किसका हैप्पी बड्डे है? माधुरी दीक्षित का. अपन आपका फैन मीटर जांचेंगे. ये क्विज खेलो.