Submit your post

Follow Us

Mi ब्राउज़र प्रो बैन से शाओमी को करोड़ों का नुकसान पर इंटरनेट ब्राउज़र पैसा कैसे कमाते हैं?

भारत सरकार ने हाल ही में शाओमी के वेब ब्राउज़र, Mi ब्राउज़र प्रो (Mi Browser Pro) को बैन कर दिया. ये इंटरनेट ब्राउज़र शाओमी फोन में पहले से पड़ा हुआ आता है. जानकारों का मानना है कि इससे कंपनी के रेवेन्यू को बहुत बड़ा झटका लगेगा. कितना बड़ा? “मिलियंस ऑफ़ डॉलर्स” या करोड़ों रुपए का.

मगर एक मिनट, इंटरनेट ब्राउज़र बंद होने से कम्पनी को घाटा कैसे? शाओमी के फोन तो बिक ही रहे हैं ना? वो भी सटासट.

अच्छा पॉइंट है. मगर ये बात दूसरी स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियों पर लागू होती है. शाओमी पर नहीं. शाओमी असल में पैसा फोन बेचकर नहीं, फ़ोन के अंदर पड़े हुए अपने सॉफ़्टवेयर और डिफ़ॉल्ट ऐप्स जैसे की इंटरनेट ब्राउज़र से कमाती है. कैसे? आइए बताते हैं.

शाओमी का बिज़नेस मॉडल

मान लीजिए आपने प्रिंटेड टी-शर्ट बनाने का काम चालू किया. एक पीस की लागत 100 रुपए है. आपके प्रतिद्वंदी फ़ुटकर में 180 में बेचते हैं. मगर मार्केट में पैर जमाना इतना आसान नहीं. आपने दिमाग चलाया और कॉम्पीटिशन की मिट्टी पलीद करने की निंजा टेक्नीक खोज निकाली. आपने अपनी टी-शर्ट को 110 रुपए में बेचकर हर तरफ से वाह-वाही लूटी और पैसा बना लिया स्पॉन्सर डील से. जिसके बदले आपने टी-शर्ट के पीछे उनका छोटा सा ऐड छाप दिया.

कुछ इसी तरह का काम चायनीज स्मार्टफोन कंपनी शाओमी का है. कुछ साल पहले इंडिया टुडे को दिए गए इंटरव्यू  में कंपनी के को-फाउंडर और सीईओ ली जून (Lei Jun) ने बताया कि शाओमी इंटरनेट और सॉफ़्टवेयर कम्पनी पहले है, हार्डवेयर बाद में. उन्होंने कहा,

शाओमी अपने फोन को बहुत ही कम मार्जिन पर बेचती है, जो कि सिर्फ़ 1-2% ही होता है. कंपनी पैसा बनाती है अपनी इंटरनेट स्ट्रीमिंग सर्विस और सॉफ़्टवेयर से.

इसके अलावा ये तो हर कोई जनता है कि शाओमी के फोन में कई ऐड पड़े रहते हैं. हर सिस्टम ऐप्लिकेशन के साथ जुड़े होते हैं “रेकमेंडेशन” जो नोटिफ़िकेशन में आपको अलग-अलग टाइप का कॉन्टेंट दिखाती रहती हैं.

इंटरनेट ब्राउज़र कहां से कमाता है पैसा?

एक इंटरनेट ब्राउज़र बहुत तरीकों से पैसा कमाता है. शाओमी के इंटरनेट ब्राउज़र की होमस्क्रीन पर आपको ढेर सारी वेबसाट्स जैसे कि फेसबुक, यूट्यूब, लिंक्ड-इन वगैरह के शॉर्टकट देखने को मिलते हैं. ये सारी वेबसाइट Mi ब्राउज़र को ऐसा करने के लिए पैसा देती हैं.

Lt Mi2
Mi ब्राउज़र प्रो को गूगल ऐड रॉयल्टी देता है.

इसके अलावा इंटरनेट ब्राउज़र अपने डिफ़ॉल्ट सर्च इंजन से रॉयल्टी कमाते हैं. ये सर्च इंजन का इस्तेमाल करने पर जेनरेट होने वाले रेवेन्यू का हिस्सा होता है. Mi ब्राउज़र प्रो के मामले में डिफ़ॉल्ट सर्च इंजन गूगल है, जो उसे ऐड रेवेन्यू पर रॉयल्टी देता है. इसके अलावा ब्राउज़र के डिजिटल ऐड भी पैसा कमाकर देते हैं.

नुक़सान कितना बड़ा है?

मार्केट में हिस्सेदारी के हिसाब से शाओमी इंडिया में टॉप की स्मार्टफोन कंपनी है. 30 फीसदी मार्केट शेयर के साथ शाओमी के पास इंडिया में 9 करोड़ से ज़्यादा यूज़र हैं. टेकआर्क के फाउंडर फ़ैसल कवूसा ने इकनॉमिक टाइम्स को बताया कि अपनी वैल्यू ऐडेड सर्विस की मदद से कंपनी हर बंदे से महीने के करीब 75 रुपए कमाती है. फ़ैसल ने ये भी कहा कि अगर ये भी मान लिया जाए कि सिर्फ शाओमी के आधे यूजर ही इसका ऐप्लिकेशन चलाते हैं तो शाओमी की महीने की कमाई लगभग 30-35 करोड़ रुपए होगी.

Giphy

Mi ब्राउज़र प्रो के बैन से पहले सरकार ने कम्पनी के ‘Mi कम्यूनिटी’, ‘Mi स्टोर’, और ‘Mi विडियो कॉल’ ऐप को इंडिया में बैन किया था. ये सारे ऐप्स भी शाओमी के फोन में पहले से पड़े होते हैं. और कंपनी को रेवेन्यू जेनरेट करके देते हैं. इन ऐप्स के बैन होने का असर तो शाओमी के मुनाफ़े पर पड़ना ही है. काउंटरपॉइंट के असिस्टेंट डिरेक्टर तरुण पाठक ने पब्लिकेशन को बताया कि अभी इन्हें शाओमी के ऐप्स बैन होने का कोई सीधा असर तो नहीं दिख रहा है, लेकिन ये कम्पनी की ब्राण्ड इमेज के लिए बहुत खराब है. पाठक ने कहा कि शाओमी का लॉयल फैन बेस कंपनी से कट सकता है.

अपने इंटरनेट ब्राउज़र के बैन होने पर शाओमी ने कहा है कि इसने कोई भी कानून या प्राइवेसी नियम नहीं तोड़ा है. इसने कहा है कि ये भारत सरकार से इस बारे में बात कर रही है और जो भी ज़रूरी कदम होगा वो उठाया जाएगा. फ़िलहाल Mi ब्राउज़र प्रो गूगल प्ले स्टोर से गायब है लेकिन शाओमी फोन में अभी भी मौजूद है. चूंकि बैन की गई सारे सिस्टम ऐप हैं इसलिए आप खुद चाहकर भी इनको हटा नहीं सकते. कंपनी के ग्लोबल वीपी और इंडिया एमडी मनु कुमार जैन ने कहा है कि शाओमी एक नई MIUI अपेडट भेजेगी जिससे सारी बैन ऐप हटा दी जाएंगी.

डियो: इंटरनेट एक्सप्लोरर की तरह क्या मोज़िला फ़ायरफ़ॉक्स भी खात्मे की तरफ बढ़ रहा है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़. अपना ज्ञान यहां चेक कल्लो!

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एमएफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद के बारे में तो गूगल करके आपने खूब जान लिया. अब ज़रा यहां कलाकारी दिखाइए.

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 33 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.